• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

नायकू की मौत के बाद हिजबुल को एक और झटका, डोडा में मारा गया ताहिर भट, जानिए उसके खात्मे की कहानी

|

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले में रविवार सुबह सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में सेना का एक जवान शहीद हो गया है और दो आतंकवादी मारे गए हैं। दोनों आतंकवादी प्रतिबंधित आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के हैं। इनमें से एक की पहचान कश्मीर के पुलवामा के रहने वाले हिजबुल आतंकी ताहिर अहमद भट के रूप में हुई है। वह डोडा जिले के मारे गए हिजबुल कमांडर हारून अब्बास वानी का सहयोगी था। इस ऑपरेशन के बारे में जम्मू पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह ने विस्तार से मीडिया को बताया है।

जनवरी, 2020 से थी आतंकी की तलाश

जनवरी, 2020 से थी आतंकी की तलाश

जम्मू आईजीपी मुकेश सिंह ने बताया कि शनिवार रात हमें डोडा के खोत्र गांव में आतंकवादी ताहिर अहमद भट की उपस्थिति के बारे में जानकारी मिली। हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी हारून के खात्मे के बाद से हम जनवरी, 2020 ताहिर की तलाश में थे। हारून के बाद ताहिर ने डोडा में आतंकी गतिविधियों को नियंत्रित कर रहा था। मुकेश सिंह ने बताया कि हमने एक संयुक्त ऑपरेशन शुरू किया था। गांव में शांति फैली हुई थी।

तकनीकी इनपुट से मिली थी आंतिकयों की जानकारी

शनिवार आधी रात को कश्मीर जोन पुलिस में पुलिस ने डोरा जिले के एक घर में दो आतंकवादियों की उपस्थिति का 'तकनीकी इनपुट' मिला था। सुरक्षाबलों द्वारा क्षेत्र में मौजूद कई घरों के आसपास सुरक्षा घेरा बनाये जाने के बाद आतंकवादियों की सटीक स्थिति का पता लगाया गया। मुकेश सिंह ने बताया कि आतंकवादियों ने एक घर से अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। 5 घंटे तक मुठभेड़ जारी रही और मुठभेड़ के दौरान ताहिर अहमद भट मारा गया। हथियार और गोला-बारूद बरामद किए गए हैं।

स्थानीय लोगों के बीच घुल-मिल गए थे आतंकी

स्थानीय लोगों के बीच घुल-मिल गए थे आतंकी

पुलिस महानिरीक्षक ने कहा, सुरक्षा बलों को पहले कठिनाई का सामना करना पड़ा क्योंकि स्थानीय निवासी अपने घरों से बाहर आ गए। ताहिर और उसके सहयोगी ने अपने हथियार छिपाए और अन्य लोगों की तरह बाहर आए। सेना ने बाद में सभी को अंदर जाने को कहा और घर-घर जाकर तलाशी लेने लगे। इसी बीच एक आर्मी जवान संदिग्ध घर में घुसा जहां दोनों आतंकी छिपे हुए थे। आतंकवादियों ने जवान पर फायरिंग कर दी जिसमें वह शहीद हो गया।

दक्षिणपंथी नेताओं की हत्या में था शामिल

दक्षिणपंथी नेताओं की हत्या में था शामिल

बाद में आतंकवादियों को सुरक्षा बलों ने मार दिया। हिजबुल मुजाहिदीन (एचएम) के आतंकवादी ताहिर अहमद भट की हत्या सुरक्षा बलों के लिए एक बड़ी सफलता है और डोडा को अब वहां किसी भी आतंकवादी की उपस्थिति से मुक्त करार दिया जा सकता है। महानिदेशक (डीजी) दिलबाग सिंह ने ऑपरेशन में शामिल टीम की सराहना की है। बता दें कि मारे गए हिजबुल आतंकवादी में से एक ताहिर अहमद भट उस मॉड्यूल का हिस्सा था जिसने इस क्षेत्र में दक्षिणपंथी नेताओं की हत्या की थी।

कश्मीर घाटी में सुरक्षाबलों पर फिर आतंकी हमला, जवान शहीद

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
After Nayaku death another blow to Hizbul Tahir Bhat killed in Doda
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X