• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

क्या रोहित की मौत वाले दिन कोई बाहर का शख्स घर में आया, पुलिस का बड़ा खुलासा

|

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की मौत का रहस्य गहराता जा रहा है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद दिल्ली पुलिस रोहित शेखर की मौत की गुत्थी को सुलझाने में जुट गई है। इस केस को क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया है। इस केस की जांच कर रही क्राइम ब्रांच की टीम ने घर के सदस्यों को क्लीन चिट नहीं दी है और रोहित की पत्नी से भी पूछताछ की जा रही है। फिलहाल, पुलिस रोहित की हत्या के पीछे कारणों को तलाशने में जुटी है। जांच कर रही टीम को कुछ बातें अजीब लगी हैं जिनके कारण घरवालों पर शक गहराता जा रहा है।

घटना की रात घर पर कोई बाहरी व्यक्ति नहीं आया था- पुलिस

घटना की रात घर पर कोई बाहरी व्यक्ति नहीं आया था- पुलिस

मामले की जांच कर रही पुलिस के अनुसार, घटना की रात घर पर कोई बाहरी व्यक्ति नहीं आया था और घर में केवल पांच व्यक्ति ही थे। किसी ने भी रोहित शेखर तिवारी को करीब 16 घंटे तक नहीं जगाया। मंगलवार शाम 4 बजे जब नौकर कमरे में गया तो उसने देखा कि रोहित की नाक से खून निकला हुआ था, उसने घरवालों को ये बात बताई तो इसके बाद रोहित को आनन-फानन में अस्पताल ले जाया गया। इसके अलावा कुछ अन्य बातों पर गौर करने के बाद क्राइम ब्रांच इसे हत्या का मामला मान रही है।

ये भी पढ़ें: रोहित शेखर की मौत पर गहराया रहस्य, पत्नी से पूछताछ कर रही है पुलिस

तौलिया, सफेद चादरें और कुछ कपड़े मिले जो धोए गए थे

तौलिया, सफेद चादरें और कुछ कपड़े मिले जो धोए गए थे

डॉक्टरों की एक टीम द्वारा पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में मौत का कारण दम घुटना बताया गया था। वहीं, दिल्ली पुलिस की तरफ से दावा किया गया कि रोहित शेखर की हत्या संभवत: तकिए से मुंह दबाकर की गई है। पुलिस का कहना है कि एक तौलिया, सफेद चादरें और कुछ कपड़े मिले जो धोए गए थे। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के सामने आने के बाद दिल्ली पुलिस ने कहा था कि रोहित की स्वभाविक मौत नहीं हुई है। इस मामले में अज्ञात के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत केस भी दर्ज कर लिया गया है।

ये भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश लोकसभा चुनाव 2019 की विस्तृत कवरेज

'16 घंटे तक किसी ने रोहित को क्यों नहीं जगाया ?'

'16 घंटे तक किसी ने रोहित को क्यों नहीं जगाया ?'

हत्या की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा के अधिकारियों का कहना है कि रोहित के घर में दो सीसीटीवी कैमरे काम नहीं कर रहे थे। उन्होंने यह भी कहा कि उत्तराखंड और दिल्ली में परिवार के पास करोड़ों की संपत्ति है। ऐसे में हत्या के पीछे संपत्ति विवाद तो नहीं, इसकी भी जांच की जाएगी। जांच कर रही पुलिस को कुछ बातें अजीब लगी हैं जैसे- रोहित के इतनी देर सोते रहने के बाद भी किसी ने उनको क्यों नहीं जगाया।

घर पहुंचने के कुछ घंटों के भीतर रोहित की हत्या कर दी गई ?

घर पहुंचने के कुछ घंटों के भीतर रोहित की हत्या कर दी गई ?

अधिकारियों का कहना है कि रोहित सोमवार की रात को सोने के लिए कमरे में गए थे। अगले दिन शाम 4 बजे तक किसी ने उसे जगाने की कोशिश नहीं की, यह अजीब है। एक अफसर का ये भी कहना है कि डॉक्टरों के अनुसार, शेखर को अस्पताल लाने से करीब 15 घंटे से पहले ही उनकी मौत हो गई थी। यह इशारा करता है कि घर पहुंचने के कुछ घंटों के भीतर रोहित की हत्या कर दी गई होगी, यानी घटना वाली रात लगभग 11 बजे के करीब।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
rohit shekhar death case: police look for motive behind murder, questioning family members
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X