• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

4 महीने के अंतराल के बाद भारत में फिर से शुरू हुई मलेशियाई पाम ऑयल की खरीदारी

|

मुम्बई। भारतीय खरीदारों ने चार महीने के अंतराल के बाद मलेशियाई पाम तेल की खरीद फिर से शुरू कर दी है। व्यापारिक सूत्रों के मुताबिक भारतीय खरीदारों ने कूटनीतिक कारणों, घरेलू इन्वेंटरीज में गिरावट और कीमतों में रियायत के चलते मलेशिया से पाम ऑयल खरीद में दिलचस्पी दिखाई है।

palm

दरअसल, कुआलालंपुर में एक नई सरकार के गठन के बाद दोनों देशों के बीच व्यापार संबंधों में सुधार के बीच नए सिरे से शुरू हुई खरीदारी के साथ मलेशिया ने पिछले सप्ताह रिकॉर्ड 100,000 टन भारतीय चावल खरीदने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

palm

भारत और मलेशिया के बीच क्यों अहम बना पाम ऑयल

सूत्रों ने कहा कि इंडोनेशिया के बाद दुनिया में दूसरे नंबर का पाम ऑयल उत्पादक मलेशिया में पिछले हफ्ते भारतीय आयातकों ने 200,000 टन कच्चे पाम ऑयल (सीपीओ) का आयात किया है, जो जून और जुलाई में भारत में भेजा जाना है।

palm

Lockdown 4.0: भारतीय जीडीपी में 45 % गिरावट का अनुमान, भीषण मंदी में फंस सकता है भारत

सिंगापुर में मलेशियाई और इंडोनेशियाई पाम ऑयल का कारोबारी ने बताया कि कम आयात के कारण भारत में पोर्ट स्टॉक तेजी से नीचे गिरा है। रिफाइनिटिव द्वारा संकलित शिप-ट्रैकिंग डेटा से पता चला है कि 2020 के पहले चार महीनों के लिए भारत की कुल पाम ऑयल का आयात 50 फीसदी से अधिक गिरा है जबकि इसी अवधि में 2019 भारत में कुल 11.1 लाख टन पाम ऑयल आयात किया था।

सदमे में मलेशियाः अनुच्छेद 370 और CAA को लेकर मलेशियाई PM ने दिया था भारत विरोधी बयान!

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Malaysian and Indonesian palm oil traders in Singapore said that port stocks in India have fallen sharply due to low imports. Ship-tracking data compiled by Refinitive showed that India's total palm oil imports fell by more than 50 per cent for the first four months of 2020 as compared to a total of 11.1 lakh tonnes of palm oil imported in 2019 over the same period.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more