मोदी के मंत्री बोले- ईवीएम भविष्य में भी कांग्रेस के लिए बनी रहेगी परेशानी

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा है कि भविष्य में भी ईवीएम कांग्रेस को परेशान करती रहेंगी। जितेंद्र सिंह ने ये बात कांग्रेस पार्टी के हाल ही में उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव में ईवीएम में गड़बड़ी के आरोपों पर कही। जितेंद्र सिंह ने कहा, ये देखना निराशाजनक है कि कांग्रेस और दूसरी विपक्षी पार्टियां चुनाव हार रही हैं तो इसका दोष ईवीएम पर मढ़ दे रही हैं। जितेंद्र सिंह ने कहा कि ईवीएम को दोष देने वाले समझ लें कि भाजपा की जीत जारी रहेगी। 

अखिलेश ने बताया ईवीएम और बैलेट का अंतर

अखिलेश ने बताया ईवीएम और बैलेट का अंतर

उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव के परिणाम आने के बाद समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने टिप्पणी की है। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में एक कार्यक्रम के दौरान अखिलेश ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन और बैलेट पेपर से हुए चुनाव के अंतर के जरिए हार जीत के समीकरण पर टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि 'भारतीय जनता पार्टी बता रही है कि उत्तर प्रदेश में कुल 16 चुनाव हुए हैं, जिनमें से 14 सीट भाजपा, 2 बहुजन समाज पार्टी को मिली। कांग्रेस-समाजवादी पार्टी गायब हो गए। हम कहते हैं कि भाजपा की जीत का प्रतिशत 46% है जहां चुनाव प्रचार ईवीएम के माध्यम से किया गया था और जहां बैलेट पेपर से चुनाव हुए वहां 15% जीत का प्रतिशत है।'

मायावती ने भी उठाए सवाल

मायावती ने भी उठाए सवाल

बसपा सुप्रीमो मायावती ने भाजपा पर ईवीएम में धांधली कर मेयर की 14 सीटें जीतने का आरोप भी लगाया है। मायावती का कहना है कि अगर भाजपा ईमानदार पार्टी है तो वो 2019 के लोकसभा चुनाव ईवीएम के बजाय बैलेट पेपर से कराए।

ईवीएम को लेकर आंकड़े हो रहे वायरल

ईवीएम को लेकर आंकड़े हो रहे वायरल

मेयर की 16 में से 14 सीटों पर भाजपा ईवीएम में धांधली के मायावती के आरोपों में कितनी सच्चाई है, यह जांच का विषय है लेकिन जो आंकड़े वायरल हो रहे हैं उनमें एक अलग ही तस्वीर उभरकर सामने आ रही है। यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भी अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है, 'बैलेट पेपर वाले चुनावी इलाकों में भाजपा को केवल 15 फीसदी सीटें मिली हैं और ईवीएम वाले इलाकों में 46 फीसदी सीटें मिली हैं।' दरअसल यूपी के 16 नगर निगमों में मेयर पद के लिए ईवीएम से वोट डाले गए, जिनमें भाजपा ने 14 पर जीत हासिल की। 2 सीटों पर बसपा को जीत मिली। पार्षदों के लिए हुए चुनाव में भी भाजपा को अच्छी सीटें मिली हैं, लेकिन बैलेट पेपर वाले आंकड़े अलग हैं।

यूपी में नगर पंचायत अध्यक्ष के कुल 438 पदों के लिए चुनाव हुए। सभी जगह बैलेट पेपर से वोटिंग हुई। नगर पंचायत अध्यक्ष के इन चुनावों में भाजपा को केवल 100 सीटें मिली हैं, जबकि 338 सीटों पर गैर-भाजपाई दलों और निर्दलीयों ने जीत हासिल की है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे आंकड़ों का मिलान जब चुनाव आयोग की वेबसाइट से किया गया, तो ये आंकड़े सही मिले।

EVM पर क्या मायावती-अखिलेश के आरोपों में है दम? देखिए ये आंकड़े जो वायरल हो रहे हैं

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Jitendra Singh says For Congress EVMs will remain faulty in future too
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.