राम की नगरी चित्रकूट में भाजपा के विधायक, सांसद लेकिन निकाय चुनाव में नहीं खुला खाता

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

इलाहाबाद। यूपी नगर निकाय चुनाव में राम की नगरी कही जाने वाली चित्रकूट में भाजपा को हार का सामना करना पड़ा है। यहां की तीनों सीटों पर भाजपा का खाता नहीं खुला है। 1 सीट पर सपा ने अपना परचम लहराया है तो 2 सीटों पर निर्दलीयों ने जीत हासिल की है। खास बात यह है कि यहां बीजेपी के जिला अध्यक्ष खुद चुनाव लड़ रहे थे लेकिन वह नगर निकाय चुनाव नहीं जीत सके। बता दें कि चित्रकूट में तीन नगर निकाय है, पहला कर्वी नगर पालिका है और दूसरा नगर पंचायत मानिकपुर और तीसरा राजापुर नगर पंचायत है। इन तीनों में भाजपा को टक्कर में माना जा रहा था, लेकिन जब परिणाम घोषित हुए तो भाजपा अपना खाता तक नहीं खोल सकी।

यहां सांसद, विधायक सब भाजपा के

यहां सांसद, विधायक सब भाजपा के

वैसे चित्रकूट में सांसद और विधायक भाजपा के हैं और इन लोगों ने चुनाव प्रचार प्रसार में कोई कमी नहीं छोड़ी थी। घर घर जाकर खूब जनसंपर्क किया गया था उसके बावजूद भी यहां भाजपा प्रत्याशियों की किस्मत का ताला नहीं खुला। चुनाव से कुछ दिन पहले यहां सीएम योगी आदित्यनाथ भी आए थे लेकिन उसका भी असर नगर निकाय चुनाव के मतदान रिजल्ट पर होता नहीं दिखा। एक और बात जो सामने निकल कर आई है वो यह है कि चाहे भाजपा रही हो सपा या बसपा सबके बागियों ने ही इनकी लुटिया डुबोई है। हर दल से बागी चुनाव लड़े। बागी नेता चुनाव तो नहीं जीते लेकिन अपनी पार्टी के कैंडिडेट को हराने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। इसी का नतीजा था कि सपा को मात्र एक सीट मिली जबकि बसपा भाजपा, कांग्रेस का तो यहां खाता नहीं खुला

कर्वी नगर पालिका परिषद

कर्वी नगर पालिका परिषद

चित्रकूट की कर्वी नगर पालिका परिषद पर अध्यक्ष पद की जोरदार लड़ाई का अनुमान था। यहां 19 प्रत्याशियों ने नामांकन भरा था पर सपा के उम्मीदवार नरेंद्र गुप्ता ने बडे अंतर से जीत हासिल की। नरेंद्र गुप्ता को 6499 वोट मिले जबकि भाजपा के जगदीश गुप्ता 4115 वोट के साथ दूसरे स्थान पर रहे। यहां एक तथ्य और देखने वाला था कि बसपा के जिला अध्यक्ष राम लखन निषाद भी यहां से चुनाव लड़े थे। बसपा के चुनाव चिन्ह पर वह 3199 वोट ही हासिल कर सके। निवर्तमान अध्यक्ष नीलम को 1460 मत मिले।

नगर पंचायत मानिकपुर

नगर पंचायत मानिकपुर

नगर पंचायत मानिकपुर पर किसी दल का कोई जादू नहीं देखने को नहीं मिला। यहां निर्दलीय प्रत्याशी विनोद द्विवेदी ने अपना कब्जा जमाया ।सबसे आश्चर्यजनक तथ्य है कि मानिकपुर नगर पंचायत से निर्दलीय उम्मीदवार विनोद द्विवेदी सिर्फ 1002 वोट हासिल कर चेयरमैन बने गये। जो कि कुल मतो का 11 प्रतिशत रहा। यहां भाजपा प्रत्याशी महेश केसरवानी को मात्र 773 वोट ही मिले। सपा के संग्राम सिंह 721 वोटों के साथ तीसरे स्थान पर और कांग्रेस के रामेश्वर प्रसाद 330 वोटो के साथ चौथे स्थान पर खिसक गए ।

नगर पंचायत राजापुर

नगर पंचायत राजापुर

नगर पंचायत राजापुर में सभी राजनैतिक दल बौने साबित हुये और उसका कारण थे बागी। बागियों की वजह से पार्टी के वोट तो बंट गये और इसका सबसे अधिक फायदा निर्दलीय को हुआ। निर्दलीय महिला उम्मीदवार आदर्श द्विवेदी को सबसे अधिक 2047 वोट मिले और यह चेयरमैन चुने गए। इन्होंने भाजपा के जिला अध्यक्ष व प्रत्याशी अशोक जाटव को भारी अंतर से हराया। अशोक जाटव को 1437 मत मिले और यह दूसरे स्थान पर रहे। तीसरे स्थान पर निर्दलीय उम्मीदवार संजीव मिश्रा (1184 ) वोट रहे। यहां निवर्तमान अध्यक्ष व सपा प्रत्याशी लक्ष्मी प्रसाद को 175 मत व कांग्रेस के सुभाष को 156 वोट मिले।

ये भी पढ़ें- एयरटेल का अब तक सबसे सस्ता 4G प्लान, सिर्फ 49 रुपये में किया लॉन्च

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
up civic polls 2017: bjp lost all three seats of chitrakoot districts
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.