• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भारत को अपनी सैन्य जरूरतों के लिए किसी देश पर निर्भरता को खत्म करने की जरूरत: CDS

|

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन के साथ जारी तनातनी के बीच भारत में हाई कमान की बैठकों का दौर जारी है। शुक्रवार को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और तीनों सेना प्रमुखों के साथ केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एक सुरक्षा समीक्षा की बैठक की। इससे पहले रक्षा मंत्रालय के प्रमुख (CDS) बिपिन रावत ने इस बात पर जोर देते हुआ कहा था कि भारत को अपनी सैन्य जरूरतों के लिए किसी खास देश पर निर्भरता से बाहर निकलना होगा।

CDS General Bipin Rawat appears before parliamentary panel amid Indo-China tension

सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने ये बयान रक्षा निर्यात पर एक सेमिनार को संबोधित करते हुए दिया था। इस दौरान उन्होंने कहा, रक्षा व्यय के वितरण को भविष्य में बेहतर करने के लिए व्यय का यथार्थवादी विश्लेषण अवश्य किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, भारत को 'प्रतिबंधो की धमकी' और दूसरे देश पर सैन्य जरूरतों की निर्भरता से बचने के लिए इस दिशा में देश को आत्मनिर्भर बनाने पर जोर दिया। उन्होंने प्रतिबंधो का सामना करने वाले देशों से उपकरणों की खरीद में आने वाले मुश्किलों की ओर इशारा करते हुए यह बात कही।

संसदीय पैनल के समक्ष पेश हुए सीडीएस

भारत-चीन सीमा विवाद के बीच शुक्रवार को आयोजित की गई संसदीय पैनल की बैठक के सामने जनरल बिपिन रावत पेश हुए, इस बैठक का मेन एजेंडा विशेषकर सीमावर्ती क्षेत्रों में रक्षा बलों को राशन और सामान की गुणवत्ता की निगरानी को सूचीबद्ध करना था। इस दौरान कई सदस्यों ने कहा कि वह संसद के मानसून सत्र में लद्दाख स्थिति का मुद्दा उठाएंगे। बता दें कि रक्षा संबंधी संसदीय स्थायी समिति की अध्यक्षता भाजपा नेता जुएल ओराम करते हैं।

भारत-चीन तनाव के बीच संसदीय समिति के सामने पेश हुए CDS बिपिन रावत, बैठक में राहुल गांधी ने भी लिया हिस्सा

विदेश मंत्री ने की चीनी समकक्ष से मुलाकात

LAC पर जारी तनाव के बीच भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मॉस्को में चीन के विदेश मंत्री मंत्री वांग यी से मुलाकात की। इस दौरान एस जयशंकर ने चीन को दो टूट जवाब देते हुए कहा कि भारत एलएसी पर जारी तनाव को और नहीं बढ़ाना चाहता है। चीन के प्रति भारत की नीति यशास्थिति बनी हुई है। उन्होंने कहा कि भारत का यह भी मानना है कि भारत के प्रति चीन की नीति में भी किसी तरह का बदलाव नहीं हुआ है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
CDS General Bipin Rawat appears before parliamentary panel amid Indo-China tension
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X