हिंदी दिवस विशेष: 5 शख्सियतें, जिन्‍होंने हिंदी के बूते जीत ली पूरी दुनिया

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। आज देशभर में हिंदी दिवस की धूम है। तरह-तरह के सरकारी और गैर सरकारी कार्यक्रम इस मौके पर आयोजित किए जा रहे हैं।

हिंदी दिवस पर देशभर में खास कार्यक्रम 

इस खास मौके पर हमने भी अलग-अलग क्षेत्रों की पांच शख्सियतों को चुना है, जिन्होंने हिंदी भाषा के जरिए खास मुकाम बनाया और लोगों के दिलों में जगह बनाने में कामयाब हुए।

PICS: धोनी की पत्नी साक्षी संग यह रोमांटिक तस्वीर तेजी से हो रही है वायरल, जानिए वजह

14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने हिन्दी को भारत की राजभाषा घोषित किया। जिसके बाद 1953 में 14 सितंबर को हिन्दी दिवस के तौर पर मनाने का फैसला लिया गया।

हिंदी से बनाया खास मुकाम

हिंदी से बनाया खास मुकाम

हिंदी हमारी बोलचाल की भाषा है, लेकिन हम शायद ये नहीं जानते के लिए देश की कुछ शख्सियतें ऐसी हैं जिन्होंने हिंदी भाषा के दम पर देश ही दुनिया में अपनी पहचान बनाई। उन्होंने हिंदी बोलने के अपने अंदाज से लोगों को अपना प्रशंसक बना लिया।

jio का धमाका करने वाले ने रिलायंस से दिया इस्तीफा, क्यों?

ये पांच शख्सियत हैं...पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन, जाने-माने पत्रकार स्वर्गीय राजेंद्र माथुर, गीतकार प्रसून जोशी और कॉमेडियन कपिल शर्मा।

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने यूएन में पहली बार दिया हिंदी में भाषण

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने यूएन में पहली बार दिया हिंदी में भाषण

इस लिस्ट में सबसे पहला नाम पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का है। उन्होंने हिंदी भाषा को प्रचारित प्रसारित करने के लिए प्रधानमंत्री रहने के दौरान यूएन में भाषण के दौरान हिंदी भाषा को ही चुना। इसी के जरिए उन्होंने अपनी बात देश ही नहीं दुनिया के सामने पहुंचाई।

पीएम मोदी की जन धन योजना पर आरटीआई से हुआ बड़ा खुलासा

अपनी बात रखने के अटल बिहारी वाजपेयी के अंदाज को लोगों ने सराहा। उनके विरोधी भी उनकी भाषा को गौर सुनते। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को कवि के तौर पर भी पहचाना जाता है। उन्होंने हमेशा हिंदी के प्रचार-प्रसार पर जोर दिया। उन्होंने अपने कॉलेज में हिंदी भाषा में टॉप किया था।

अमिताभ के हिंदी बोलने का अंदाज है बेहद खास

अमिताभ के हिंदी बोलने का अंदाज है बेहद खास

बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन भी हिंदी भाषा के प्रशंसकों में शुमार हैं। हिंदी सिनेमा जगत में अमिताभ बच्चन के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने हिंदी भाषा के दम पर ही बॉलीवुड में अपनी खास पहचान बनाई। चाहे हिंदी बोलने का उनका अंदाज हो या फिर उसे परदे पर उतारने की कला...अमिताभ बच्चन उसे बखूबी जानते और समझते हैं। अकसर उन्होंने अपनी बातों को लोगों के सामने बयां करने के लिए हिंदी भाषा से बेहतर किसी और भाषा को नहीं समझा।

सरकारी टीचरों की छप्पर फाड़ के भर्ती, 2 हजार पद खाली

चाहे बड़ा पर्दा हो या फिर छोटा पर्दा (टीवी)। अमिताभ ने दोनों ही वर्गों में अपने शानदार अंदाज से पैठ बनाने की कोशिश की। शायद इसीलिए फिल्मों के साथ-साथ जब उन्होंने क्विज शो 'कौन बनेगा करोड़' लेकर आए तो यहां भी उन्होंने 'देवियों और सज्जनों...' का संबोधन करके फैंस के दिलों में खास जगह बना ली।

हिंदी पत्रकारिता में राजेंद्र माथुर ने बनाया खास मुकाम

हिंदी पत्रकारिता में राजेंद्र माथुर ने बनाया खास मुकाम

हिंदी के जरिए खास मुकाम हासिल करने वाली शख्सियतों में राजेंद्र माथुर का नाम भी अहम है। उन्होंने हिंदी पत्रकारिता में अपनी लेखनी बेहद ऊंचा स्थान हासिल किया। हिंदी पत्रकारों में उन्हें अमिट हस्ताक्षर के समान माना गया है। उन्होंने हिंदी भाषा को खास दर्जा दिलाने के लिए पत्रकारिता इसे लेकर आए।

शहाबुद्दीन के साथ खड़ा था वांटेड शूटर, तस्वीर आई सामने

भले ही राजेंद्र माथुर आज इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन हिंदी पत्रकारिता में उनके योगदान को शायद ही कोई भुला सकेगा।

हिंदी में अपने गीतों से गीतकार प्रसून जोशी ने बनाया खास मुकाम

हिंदी में अपने गीतों से गीतकार प्रसून जोशी ने बनाया खास मुकाम

हिंदी भाषा के प्रचार प्रसार में गीतकार प्रसून जोशी का नाम भी अहम है। उन्होंने अपने गीत के जरिए हिंदी को बढ़ाने और लोगों तक पहुंचाने की खास कोशिश की। उनके गीतों के बोल पर गौर करें तो चाहे 'ओ री चिरैया, नन्हीं सी चिड़िया...अंगना में फिर आ जा रे...' हो या फिर फिल्म तारे जमीं का 'मां' वाला गीत हो।

इस जन्मदिन पर गुजरात जाएंगे पीएम मोदी, मां का लेंगे आशीर्वाद

प्रसून जोशी ने अपने गीतों को इतनी खूबसूरती से पेश किया कि लोगों के दिलों को छू जाए। उन्होंने युवाओं को अपने गीतों से खास जोड़ने का प्रयास किया।

कपिल शर्मा ने हंसी-ठिठोली से खास जगह बनाई

कपिल शर्मा ने हंसी-ठिठोली से खास जगह बनाई

आज के समय में हिंदी के जरिए लोगों के बीच अपनी खास पहचान बनाने वालों में कॉमेडियन कपिल शर्मा का नाम भी अहम है। कपिल ने हिंदी बोलने के अपने खास अंदाज के जरिए लोगों में अपनी पैठ बनाई।

एक बार फिर सोना हुआ सस्‍ता, ग्राहकों को मिलेगा फायदा

कपिल शर्मा ने चुटीले और मस्ती भरे में अंदाज में अपनी बातों को सबके सामने रखा। इसके लिए उन्होंने टीवी का रास्ता चुना। अपने इसी अंदाज से आज कपिल 60 करोड़ की सालाना कमाई कर रहे हैं।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Hindi divas Special: On the strength of these five personalities who made Hindi the status.
Please Wait while comments are loading...