• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कोरोना: न्यूयॉर्क में हज़ार बेड वाला शिप हॉस्पिटल

By BBC News हिन्दी

कोरोना वायरस
Getty Images
कोरोना वायरस

12 अगस्‍त को रूस से आ रही है पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन, जानिए इसके बारे में सबकुछ

कोरोना वायरस से अमरीका में मरने वालों की संख्या बढ़कर तीन हज़ार के पार पहुंच गई है.

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के ताजा आँकड़ों के मुताबिक़ अमरीका में अब तक कुल तीन हज़ार आठ (3008) लोगों की मौत की पुष्टि हुई है.

इसमें सबसे अधिक मौत न्यूयॉर्क सिटी में हुई हैं. यहां 914 लोगों की मौत हुई है. न्यूयॉर्क सिटी के मेयर बिल डे ब्लासियो कई बार केंद्रीय सरकार के प्रयासों को लेकर सवाल उठा चुके हैं. 23 मार्च को दिए अपने एक बयान में उन्होंने कहा था कि न्यूयॉर्क में कोरोना वायरस का संक्रमण ख़तरनाक होता जा रहा और आने वाले दस दिनों के भीतर मेडिकल सप्लाई की कमी हो सकती है.

जानिए, कितनी होगी उस वैक्सीन की कीमत, जिसे कोरोना के खिलाफ तैयार कर रहा सीरम इंस्टीट्यूट

कोरोना वायरस
Getty Images
कोरोना वायरस

न्यूयॉर्क में कोरोना वायरस के ख़तरे को देखते हुए अमरीकी नौ सेना का एक हॉस्पिटल शिप 'द कंफ़र्ट' न्यूयॉर्क भेजा गया है.

यह शिप वर्जिनिया के नॉरफॉल्क नेवी बेस से न्यूयॉर्क के लिए रवाना हुआ. इस शिप को न्यूयॉर्क तक पहुंचने में आठ दिन का समय लगेगा.

इस शिप में 12 कमरे ऐसे हैं जो आधुनिक स्वास्थ्य उपकरणों से पूरी तरह लैस हैं. इसके साथ ही इस शिप में एक हज़ार से अधिक बिस्तरों की व्यवस्था है.

न्यूयॉर्क के मेयर ने बताया, "इसका मतलब ये है कि बहुत जल्दी ही मदद आने वाली है और उसके बाद हम लोगों की ज़िंदगियों को बचाने का काम कर सकेंगे."

कोरोना वायरस
Getty Images
कोरोना वायरस

सीएनएन की ख़बर के मुताबिक़, ऐसा माना जा रहा है कि यह शिप कोरोना वायरस संक्रमित मरीज़ों का इलाज नहीं करेगा. बल्कि इसका इस्तेमाल उन लोगों के इलाज के लिए किया जाएगा जो कोरोना वायरस से नहीं लेकिन किसी और बीमारी के जूझ रहे हैं.

न्यूयॉर्क सिटी अमरीका में सबसे अधिक प्रभावित इलाक़ों में से है. ऐसी आशंका है कि अगर कोरोना वायरस संक्रमण यूं ही बना रहा तो न्यूयॉर्क को मई तक अपनी मौजूदा क्षमता से तीन गुना हॉस्पिटल बेड की ज़रूरत होगी.

कोरोना वायरस
Getty Images
कोरोना वायरस

क्यों ख़ास है ये शिप

  • शिप में एक हज़ार से ज़्यादा हॉस्पिटल बेड की व्यवस्था
  • इस शिप में 12 ऑपरेटिंग रूम हैं
  • 80 इंटेसिव केयर यूनिट्स हैं
  • एक फ़ार्मसी की व्यवस्था है
  • एक मेडिकल लेबोरेटरी है
  • इसके जैसी ही एक दूसरी शिप यूएसएनएस मर्सी को लॉस एंजिलिस भेजा गया है
  • इस शिप पर किसी भी कोरोना वायरस मरीज़ का इलाज नहीं होगा
  • इस शिप पर क़रीब 11 सौ मेडिकल स्टाफ़ मौजूद होंगे
  • यहां 24 घंटे लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं मिलती रहेंगी

कोरोना वायरस
Getty Images
कोरोना वायरस

कैसे हैं अमरीका के हालात ?

अमरीकी सरकार में संक्रामक बीमारी के विशेषज्ञ डॉ एंथोनी फाउची पहले ही चेतावनी दी है कि अमरीका में कोरोना वायरस एक से दो लाख लोगों की जान ले सकता है.

वहीं अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग गाइडलाइंस की समय सीमा को 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया है.

अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप ने यहां तक कह दिया है कि अगर अमरीका कोरोना वायरस से होने वाली मौतों को एक लाख तक भी रोक लिया तो बड़ी उपलब्धि होगी.

अमरीका में फ़िलहाल दुनिया के सबसे अधिक कोरोना वायरस संक्रमित लोग हैं, जिनकी संख्या एक लाख 63 हज़ार से भी अधिक है.

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Coronavirus: A thousand-bed ship hospital in New York
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X