India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

टूटा हैरी का सपना! लिंग बदलवाकर ली पायलट बनने की ट्रेनिंग, लेकिन DGCA ने नहीं दिया लाइसेंस

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली: भारत सरकार और कई राज्यों ने पिछले कुछ सालों में ट्रांसजेंडर्स के लिए कई बड़े कदम उठाए हैं, लेकिन सोशल मीडिया पर इन दिनों एक ट्रांसजेंडर एडम हैरी की दुखभरी कहानी वायरल हो रही है। वो बचपन से पायलट बनना चाहते थे, उन्होंने इसके लिए काफी मेहनत भी की, लेकिन सिर्फ जेंडर की वजह से उनका सारा सपना टूट गया।

केरल सरकार ने दी स्कॉलरशिप

केरल सरकार ने दी स्कॉलरशिप

द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक हैरी ने प्राइवेट पायलट लाइसेंस के लिए परीक्षा दी थी। इसके बाद उन्हें 2017 में जोहानसबर्ग में प्राइवेट पायलट का लाइसेंस भी मिला। उन्होंने अपनी बात केरल सरकार तक पहुंचाई, जिस वजह से उनको राज्य की ओर से 22 लाख रुपये की स्कॉलरशिप भी मिल गई। इसके बाद हैरी को लगा कि वो अपने सपने के बहुत पास पहुंच गए हैं, लेकिन आगे का रास्ता और ज्यादा कठिन था।

साइकोमेट्रिक टेस्ट में अनफिट

साइकोमेट्रिक टेस्ट में अनफिट

रिपोर्ट में आगे बताया गया कि जन्म के वक्त हैरी लड़की थे, लेकिन बाद में वो पुरूष बन गए। जोहानसबर्ग के बाद उन्होंने एशियन एकेडमी ज्वाइन किया और क्लास 2 के लिए मेडिकल एग्जाम दिया। जब उन्होंने फॉर्म भरा था, तो उन्होंने जेंडर में महिला का ऑप्शन चुना, जबकि एग्जाम के वक्त उन्होंने खुद को ट्रांसजेंडर बताया। DGCA ने अभी तक ट्रांसजेंडर का ऑप्शन मेडिकल एग्जाम में नहीं दे रखा है। ऐसे में वो फेल हो गए। इसके बाद साइकोमेट्रिक टेस्ट में उन्हें अनफिट घोषित कर दिया गया।

DGCA ने कही ये बात

DGCA ने कही ये बात

अब हैरी का सपना टूट गया है, जिस वजह से वो पायलट की ट्रेनिंग पूरी करने के बाद भी एक फूड कंपनी में बतौर डिलीवरी ब्वॉय काम कर रहे हैं। मामले में DGCA के एक अधिकारी ने कहा कि उम्मीदवार को जेंडर डिस्फोरिया था यानी जन्म के वक्त उनका जेंडर दूसरा था, जबकि अब वो कुछ और हैं। इसके अलावा उनकी हार्मोन थेरेपी की वजह से उड़ान की इजाजत नहीं दी जा सकती है। फिलहाल हैरी ने हार नहीं मानी है। उन्होंने कहा कि मैंने बचपन से बहुत कुछ सहा है, ऐसे में वो आगे भी लड़ने को तैयार हैं।

DRDO की बड़ी सफलता, ऑटोनॉमस फ्लाइंग विंग टेक्नोलॉजी डेमोंस्ट्रेटर का सफल परीक्षण, बिना पायलट के भरी पहली उड़ानDRDO की बड़ी सफलता, ऑटोनॉमस फ्लाइंग विंग टेक्नोलॉजी डेमोंस्ट्रेटर का सफल परीक्षण, बिना पायलट के भरी पहली उड़ान

Comments
English summary
India first trans pilot Adam Harry licence rejected by DGCA
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X