• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अफगानिस्तान: प्रेज़ेंटर मीना मंगल की हत्या से उठे महिला सुरक्षा पर सवाल

By Bbc Hindi

AFGHANPRESIDENTIAL INOFRMATION COORDINATION CENTER

अफ़गानिस्तान में जानीमानी पूर्व टीवी प्रेज़ेंटर की दिन दहाड़े हत्या के बाद सोशल मीडिया पर अफगानिस्तान के लोग देश में महिलाओं के खिलाफ हो रही हिंसा पर चिंता जता रहे हैं.

मीना मंगल को शनिवार को काबुल में बहुत नज़दीक से गोली मारी गई.

वे अफ़गान संसद के सांस्कृतिक मामलों के आयोग में सलाहकार के तौर पर काम कर रहीं थी. इससे पहले वो टीवी प्रेज़ेंटर थीं.

गृह मंत्रालय के एक बयान के मुताबिक शनिवार को जब वो स्थानीय समयानुसार 7 बजकर 20 मिनट पर अपने दफ्तर जा रही थीं तब उनपर हमला हुआ.

अफ़ग़ानिस्तान के सुप्रीम कोर्ट और सिविल सोसाइटी समूहों ने मीना की हत्या के मामले की गंभीरता से जांच करवाए जाने की मांग की है.

अफ़ग़ानिस्तान के नेताओं और महिला अधिकार कार्यकर्ता मीना मंगल के लिए इंसाफ़ की मांग कर रहे हैं.

हालांकि अबतक मीना के हत्यारे का कुछ पता नहीं चल पाया है, लेकिन जांच का एक पहलू पारिवारिक विवाद की ओर भी इशारा कर रहा है.

मुख्य कार्यकारी अब्दुल्ला अब्दुल्ला ने कहा है कि हत्यारे को जल्द से जल्द पकड़ लिया जाएगा.

मीना ने कहा था, मिल रही हैं धमकियां

मीना मंगल ने कुछ वक्त पहले ही फेसबुक पर एक पोस्ट किया था कि उन्हें धमकियां मिल रही हैं और उनकी जान को खतरा है. एक प्रमुख महिला अधिकार कार्यकर्ता ने ट्वीट कर ये बताया है.

मीना मंगल की मौत ने काबुल को हिलाकर रख दिया है.

कुछ लोगों का कहना है कि अफगानिस्तान में महिलाओं के खिलाफ सबसे हाइ-प्रोफाइल अपराध राजधानी काबुल के सबसे भीड़भाड़ वाले इलाकों और सबसे सुरक्षा वाले इलाकों में होते हैं.

एक महिला अधिकार कार्यकर्ता वज़मा ने लिखा, "एक महिला को दिन दहाड़े मार दिया जाता है, क्योंकि एक मर्द को लगता है कि उसे मर जाना चाहिए."

जहां मानी की हत्या हुई, वो एक भीड़भाड़ वाला इलाका था और घटनास्थल के नज़दीक ही पुलिस भी तैनात थी. फिर भी लगता है कि हमलावर घटनास्थल से बहुत आसानी से निकल गए.

कई कामकाजी महिलाओं ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए ज़रूरी कदम उठाए जाने की मांग की है.

टीवी प्रेज़ेंटर के तौर पर मीना मंगल कई सांस्कृतिक कार्यक्रम होस्ट करती थीं. इसके अलावा उनका एक प्रोग्राम महिलाओं की सुरक्षा से भी जुड़ा हुआ था.

फेसबुक की अपनी आखिरी पोस्ट में मीना ने उन लोगों के खिलाफ नाराज़गी ज़ाहिर की थी, जो "महिलाओं को दबाते हैं और उन्हें मारने की धमकी देते हैं."

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान की ये गायिकाएं अपने ही घरों में क्यों नहीं हैं सुरक्षित?

अफगानिस्तान में प्रेसेंटर की हत्या
Getty Images
अफगानिस्तान में प्रेसेंटर की हत्या

अफ़ग़ान अटॉर्नी जनरल के ऑफिस के एक प्रवक्ता जमशीद रसूली ने बीबीसी को बताया कि मीना दो साल पहले अपने पति से अलग हो गई थीं. उनके परिवार ने घरेलू हिंसा की शिकायत भी दर्ज कराई थी.

उन्होंने कहा कि मामले को पारिवारिक हिंसा से जुड़ी अदालत में रेफ़र कर दिया गया था, जिसे बाद में वापस ले लिया गया था.

पुलिस मामले की जांच कर रही है. फिलहाल पुलिस ने किसी संदिग्ध को नहीं पकड़ा है.

मीना मंगल के पिता ने बीबीसी से कहा, "एक पारिवारिक विवाद की वजह से मैंने एक होशियार बेटी को खो दिया. मैं सरकार से पूछना चाहता हूं कि वो मेरी कामकाजी बेटी को क्यों नहीं बचा पाए. मेरी उनसे अपील है कि वो मेरी बाकी बेटियों और दूसरी महिलाओं की रक्षा करें, जो अपने घर से निकलती हैं और समाज के लिए काम करती हैं."

ये भी पढ़ें: 'तीन में से एक महिला होती है यौन हिंसा का शिकार'

fb bbc

इस हत्या ने अफगानिस्तान में महिलाओं के खिलाफ होने वाली हिंसा की ओर ध्यान आकर्षित किया है.

पांच बच्चों की मां ब्रेसना ने कहा कि वो "काबुल में पढ़ने और काम करने वाली अपनी बेटियों के लिए बहुत डरती हैं."

उन्होंने कहा, "रोज़ अपने घर से निकलने वाली कामकाजी महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं."

ये हत्या ऐसे वक्त में हुई है जब अफगानिस्तान की महिलाओं को डर है कि तालिबान चरमपंथियों से किसी भी तरह का शांति समझौता मुश्किल से हासिल हुए उनके अधिकारों और आज़ादी को खतरे में डाल सकता है.

तालिबान चरमपंथी शांति समझौते के लिए अमरीका से बातचीत कर रहे हैं.

अधिकार समूहों ने लिंग-आधारित हिंसा के मामलों की फेहरिस्त तैयार की है. इनमें से कई मामले तालिबान के प्रभाव वाले इलाकों के हैं.

अंतरराष्ट्रीय एनजीओ रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर ने अफगानिस्तान को 2018 में पत्रकारों के लिए सबसे ख़तरनाक देश के तौर पर सूचीबद्ध किया है.

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Afghanistan: The question of women security raised by the murder of the Presender Meena Mangal
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X