World Ozone Layer Day 2017: खतरे में पड़ जाएगा धरती का अस्तित्व!

Written By: Mohit
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्लीः आज यानि 16 सितंबर को पूरी दुनिया में विश्व ओजोन दिवस मनाया जा रहा है। इस दिन को पूरी दुनिया में ओजोन परत के बारे में जागरूक करने के लिए मनाया जाता है। इस दिन ओजोन परत के फायदों के अलावा इसके महत्वों के बारे में भी बताया जाता है। इस साल विश्व ओजोन दिवस का थीम 'सूर्य के नीचे सभी की रक्षा करना' रखा गया है। यह भी पढ़ें- बीच बाजार सिनेमा हॉल के मालिक की गोली मारकर हत्या, अब जल रहा है शहर..

World Ozone Day 16 September 2017: खतरे में पड़ जाएगा धरती का अस्तित्व!

हाल ही के कुछ वर्षों में देखा गया है कि मानवीय कारणोें की वजह से ओजोन परत पर कई तरह के दुष्प्रभाव पड़ते हैं, अगर ओजन परत पर क्षरण जारी रहा तो आने वाले समय में मनुष्य, जीव-जंतु, वनस्पति का अस्तित्व खतरे में पड़ सकता है।

साल 1995 में 23 जनवरी के दिन संयुक्त राष्ट्र की आम सभा में पूरे विश्व में ओजोन परत के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए 16 सितंबर को विश्व ओजोन दिवस के रूप में मनाने का प्रस्ताव पारित किया गया। प्रस्ताव पारित करते समय यह लक्ष्य रखा गया था कि साल 2010 तक पूरे दुनिया में ओजोन फ्रेंडली वातावरण बनाया जागा। लेकिन ये लक्ष्य अभी भी पूरा नहीं हुआ है।

हर साल 16 सितंबर के दिन को विश्व ओजोन परत के रूप में मनाया जा सकता है। मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल पर हस्ताक्षर करने के बाद दुनिया के 190 से अधिक देशों ने कई खतरनाक पदार्थों के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया। ओजोन परत पृथ्वी की सतह से लगभग 15 से 35 किमी ऊपर स्थित है, जो सूर्य से पृथ्वी पर आने वाली खतरनाक किरणों को रोकती है। हमारे जीवन के लिए ओजोन परत बहुत ही महत्वपूर्ण है।

मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल के तहत कई ऐसा रासायनिक पदार्थों के इस्तेमाल पर रोक लगी जो ओजोन के लिए काफी खतरनाक थे। ऐसे 100 से ज्यादा पदार्थ थे जिनका इस्तेमाल वातारण के लिए खतरनाक था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
international world ozone layer day 2017 celebrations
Please Wait while comments are loading...