• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

स्वामी ने लगाया अडानी पर 72000 करोड़ के NPA का आरोप, कंपनी ने बयान जारी करके दी सफाई

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। गौतम अडानी की तमाम ग्रुप ऑफ कंपनियों के मुनाफे को लेकर अडानी ग्रुप ने एक बयान जारी किया है जिसमे कहा गया है कि हमने विश्व स्तरीय उत्पाद का निर्माण किया है। भारत में अडानी ग्रुप के ऑपरेशंस का कुल कीमत 110000 करोड़ रुपए हैं। अडानी ग्रुप की ओर से यह बयान भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी के उस आरोप के बाद जारी किया गया है जिसमे उन्होंने आरोप लगाया है कि अडानी की कंपनियों की वजह से सरकारी बैंकों में सबसे ज्यादा एनपीए हैं।

स्वामी के बयान के बाद जारी बयान

स्वामी के बयान के बाद जारी बयान

अडानी ग्रुप की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि हमारी कंपनी को अंतर्राष्ट्रीय संस्था ने इंवेस्टमेंट ग्रेड में बेहतर क्रेडिट रेटिंग दी है। बयान में कहा गया है कि हमारी तकरीबन सभी कंपनियों की रेटिंग बेहतर हैं, इसे घरेलू एजेंसियों ने बेहतर रेटिंग दी है। यह इस बात की पुष्टि करता है कि हमारी कंपनियों मानकों का पालन करती हैं और काफी अनुशासन में काम करती हैं। हमारी कंपनियां ग्रुप की ओर से निर्धारित मानकों का सख्ती से पालन करती हैं।

बैंक से उधार की दी जानकारी

बैंक से उधार की दी जानकारी

बयान में कहा गया है कि अडानी ग्रुप पीएसयू बैंक पर लंबे समय से निर्भर है और 50 फीसदी उधार बैंकों द्वारा लंबी अवधि के लिए लिया गया है। यह कुल राशि 34000 करोड़ रुपए की है और इसका समय पर भुगतान किया जाता है। अडानी ग्रुप ने विश्व स्तर का निवेश और पूंजी तैयार की है। भारत में अडानी ग्रुप की कुल पुंजी 110000 करोड़ रुपए हैं। इसमे तमाम लिस्टेड कंपनियों का औसत पूंजी 40000 करोड़ रुपए हैं, जबकि इबिद्ता की राशि 24000 करोड़ रुपए हैं। बयान में अडानी ग्रुप द्वारा देश की अर्थव्यवस्था में पिछले दो दशक से जो योगदान दिया गया है उसका भी जिक्र किया गया है।

देश की अर्थव्यस्था में योगदान

देश की अर्थव्यस्था में योगदान

देश की अर्थव्यवस्था में अडानी ग्रुप द्वारा किए गए योगदान के बारे में कहा गया है कि अडानी ग्रुप ने पिछले 20 वर्षों में विश्व स्तरीय प्रोजेक्ट शुरु किए हैं, जिसमे पोर्ट, उर्जा, अग्री बिजनेस, खनन से लेकर कई अहम क्षेत्र हैं। हर क्षेत्र में अडानी ग्रुप काफी बड़ी कंपनी के तौर पर उभरी है और यह सबसे बड़ी प्राइवेट सेक्टर की कंपनी है। हमे गर्व है कि हम देश के निर्माण में अपना योगदान दे रहे हैं, हमने सीधे तौर पर 11000 लोगों को रोजगार मुहैया कराया है।

स्वामी ने लगाया था आरोप

स्वामी ने लगाया था आरोप

आपको बता दें कि सुब्रमण्यम स्वामी मंगलवार को कहा था कि अडानी ग्रुप के खिलाफ जांच होनी चाहिए, क्योंकि उनकी कंपनियों पर 72000 करोड़ रुपए का एनपीए है। स्वामी ने कहा कि मेरे पास इस बात की जानकारी आई है कि अडानी पर 72000 करोड़ रुपए का एनपीए है। हालांकि इसकी सही जानकारी जांच के बाद सामने आएगी, इसीलिए मैंने यह मुद्दा उठाया है। ब्लूमबर्ग के आंकड़े के अनुसार सितंबर 2017 तक अडानी पॉवर पर कुल 47609.43 करोड़ रुपए का कर्ज है। अडानी ट्रांसमिशन पर कुल 8356.07 करोड़ रुपए का, अडानी इंटरप्राइजेज लिमिटेड पर 22424.44 करोड़ रुपए का और अडानी पोर्ट्स पर 20791.15 करोड़ रुपए का कर्ज है।

इसे भी पढ़ें- पीएम मोदी ने बीजेपी सांसदों से कहा, कुछ वक्त नए बीजेपी ऑफिस में बिताए, भविष्य की चुनौतियों पर भी हो नजर

English summary
After the allegation of Subramaninan Swamy Adani groups rejects the NPA charges. Adani group issued a statement regarding this.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X