• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कर्क राशि से मिथुन में राहु का गोचर फल

By पं. अनुज के शुक्ल
|

नई दिल्ली। ग्रहों की चाल सीधी होती है किन्तु राहु और उल्टा गति से चलते है। इस राहु कर्क राशि में गोचर कर रहा है और केतु मकर राशि में लेकिन दिनाॅक 7 मार्च सन् 2019 को 7 घण्टा 15 मि0 प राहु मिथुन राशि में संक्रमण करेगा और केतु धनु राशि में गोचर करने लगेगा। ध्यान दे यह राहु का अपनी उच्च राशि में संचार काल है। दिसम्बर 2019 ई0 के तीसरे सप्ताह में राहु अपने परम उच्च अंश प्राप्त करेगा। दिनाॅक 12 सितम्बर सन् 2019 ई0 को रात्रि 12 बजकर 44 मि0 पर राहु आद्र्रा नक्षत्र नक्षत्र में प्रवेश करेगा और संवत् के अन्त तक आद्र्रा में ही संक्रमण करता रहेगा। आईये जानते है राहु-केतु के राशि परिवर्तन से आपकी राशि पर क्या असर पड़ेगा।

वृष के दूसरे भाव में गोचर करेगा राहु

वृष के दूसरे भाव में गोचर करेगा राहु

मेष- इस राशि वाले तृतीय भाव में राहु गोचर करेगा। अतः कुछ लोगों को यात्रा करने का अवसर प्राप्त होगा, मित्रों से सहयोग मिलेगा एवं आर्थिक स्थिति में मजबूती आयेगा। कारोबार में वृद्धि होगी।

वृष- आपके दूसरे भाव में राहु गोचर करेगा, जिससे कुछ लोगों के परिवार में कलह का माहौल रह सकता है। वाहन चलाने में सावधानी बरतें। जीवन साथी से तनातनी बनी रह सकती है। कुल मिलाकर यह राहु आपके लिए शुभ फलदायक नहीं है।

मिथुन- इस राशि वालों के राहु में लग्न में गोचर करेगा। यह राहु आपको मानसिक पीड़ा देगा। जिन लोगों का प्रेम प्रसंग चल रहा है, वो या तो छूट जायेगा अथवा झगड़े बहुत होंगे। राजनीति से जुड़े लोगों को भी मानसिक कष्ट हो सकता है।

कर्क-आपके 12वें भाव में राहु भ्रमण करेगा। कुछ लोगों की अचानक हानि हो सकती है। यात्रा के दौरान अपने सामान की स्वयं सुरक्षा करें अन्यथा हानि हो सकती है। कुछ शादी-शुदा लोगों के अनैतिक सम्बन्ध भी बन सकते है।

सिंह को आर्थिक स्थिति में बेहतरी देगा राहु

सिंह को आर्थिक स्थिति में बेहतरी देगा राहु

सिंह-लाभ भाव का राहु आर्थिक स्थिति में बेहतरी करायेगा, प्रेमी जोड़ो को रोमांस करने के अवसर प्राप्त होंगे। रोजी-रोजगार में लाभ होगा व मित्रों के साथ घूमने-फिरने का अवसर प्राप्त होगा।

कन्या-दशम भाव का राहु जीविका के क्षेत्र अड़चने डालता है। छात्रों को इस मानसिक तनाव के दौर से गुजरने पड़ेगा। किसी कार्य में किये गये निवेश हानि हो सकती है। परिवार में कलह का वातावरण बना रहेगा। प्रेमी जोड़ों में लम्बी बहस के दौरान तकरार होगी और कुछ लोगों के रिश्ते टूट भी सकते है।

तृला-भाग्य भाव का राहु धार्मिक कार्यो में अड़चने डालता है। इस दौरान काफी परिश्रम के बाद ही कार्य बनेगा। नई योजनाओं को इस वक्त शुरू करना बेहतर नहीं होगा। किसी प्रिय के दूर होने से मन दुःखी होगा।

वृश्चिक-अष्टम भाव का राहु अचानक सफलतायें दिलाता है। कुछ लोगों गूढ़ विषयों को जानने का प्रयास करेेंगे। आर्थिक स्थिति में पहले की अपेक्षा मजबूती आयेगी। महिलाओं को घूमने-फिरने का अवसर प्राप्त होगा।

मकर के शत्रुओं का नाश करेगा राहु

मकर के शत्रुओं का नाश करेगा राहु

धनु-आपके सप्तम भाव में राहु गोचर करेगा और केतु लग्ग में रहेगा। वैवाहिक जीवन के लिए यह राहु शुभ नहीं कहा जा सकता है। आपसी तनातनी से घर का माहौल खराब हो सकता है। बेवजह के विवादों से दूर रहना ही उचित है।

मकर-आपके छठें भाव में राहु गोचर करेगा। छठें भाव का राहु आपके शत्रुओं का नाश करेगा। नयें कार्य में सफलता मिलेगी व परिवार में सुखद माहौल बना रहेगा। धार्मिक कार्यो में मन लगेगा।

कुम्भ-पंचम भाव का राहु अचानक धन की हानि करा सकता है। कुछ लोगों को पेट में गैस की शिकायत बनी रह सकती है। प्रेमी जोड़ों को इस समय ज्यादा बहस नहीं करनी चाहिए वरना तकरार बढ़ सकती है। छात्रों को मानसिक कष्ट बना रह सकता है।

मीन-इस राशि वालों के राहु चैथे भाव में गोचर करेेगा। अतः कुछ लोगों को अपमान का सामना करना पड़ सकता है। भौतिक वस्तुओं की खरीद्दरी होगी। मित्रों का सुख≶ोग मिलेगा जिससे मन प्रसन्न होगा। उच्च शिक्षा में सफलता मिलेगी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Because of cancer rahu results in gemini
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X