• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

क्रिसमस पर क्यों मना रहे हैं तुलसी पूजन दिवस

By Bbc Hindi

आज जब पूरी दुनिया क्रिसमस का त्यौहार मना रही है तब भारत के एक वर्ग में आज तुलसी पूजन दिवस मनाया जा रहा है.

हिंदू धर्म में तुलसी की पूजा होती है और बहुत से लोग इसे अपने घर में भी लगाते हैं. हिंदू धर्म में आस्था रखने वाले कई लोग हर दिन भी तुलसी के पौधे की पूजा करते हैं.

तो फिर क्रिसमस के दिन ये तुलसी पूजन दिवस क्यों मनाया जा रहा है?

दरअसल तुलसी पूजन दिवस की शुरुआत साल 2014 में धर्मगुरू आसाराम ने की थी. आसाराम इस समय बलात्कार के एक मामले में जेल में बंद हैं.

आसाराम की संस्था की वेबसाइट आश्रम डॉट ओआरजी पर बताया गया है, "25 दिसम्बर से 1 जनवरी के दौरान शराब आदि नशीले पदार्थों का सेवन, आत्महत्या जैसी घटनाएँ, युवाधन की तबाही एवं अवांछनीय कृत्य खूब होते हैं. इसलिए प्राणिमात्र का मंगल एवं भला चाहने और करने वाले पूज्य बापूजी ने वर्ष 2014 में आह्वान किया था कि 25 दिसंबर से एक जनवरी तक तुलसी-पूजन, जप-माला पूजन, गौ-पूजन, हवन, गौ-गीता-गंगा जागृति यात्रा, सत्संग आदि कार्यक्रम आयोजित हों."

भारत के संस्कृति मंत्री महेश चंद्र शर्मा ने ट्वीट किया, "तुलसी के महत्व का वर्णन हमारे शास्त्रों में भी है और विज्ञान में भी. स्कंद पुराण में कहा गया है कि जिस घर में तुलसी का बगीचा होता है एवं पूजन होता है उसमें यमदूत प्रवेश नहीं करते."

https://twitter.com/dr_maheshsharma/status/945157687385276416

केंद्रीय राज्य मंत्री गिरीराज सिंह ने फ़ेसबुक पर लिखा, "आप सभी को तुलसी पूजा की बधाई. तुलसी का पौधा एक अभियान के तहत हर घर में लगाएँ."

तुलसी पूजन दिवस सोमवार को ट्विटर के ट्रेंड्स में भी शामिल रहा और कट्टर हिेंदुत्व की बात करने वाले कई लोगों ने इस बारे में फ़ेसबुक पर भी पोस्ट किए हैं.

ज्योति शेखावत ने ट्विटर पर लिखा, "मैं हिंदू हूं ईसाई नहीं जो में क्रिसमस मनाऊं...ये देश सैंटा का नहीं है ये देश संतों का है, ऋषि मुनियों का है. यहां कोई सैंटा नहीं आएगा, यहां तो विवेकानंद, दयानंद, दधीचि, शंकराचार्य आएंगे. यहां कोई जीसस नहीं आएगा बल्कि यहां राम, कृष्ण, माँ भवानी आएंगी."

https://twitter.com/jyotyshekhawat1/status/945183199445037056

फ़ेसबुक पर कई लोग 25 दिसंबर को क्रिसमस के बजाए तुलसी पूजन दिवस मनाने का आह्वान कर रहे हैं.

क्रिसमस का विरोध

हाल के दिनों में भारत में क्रिसमस पर्व का विरोध बढ़ा है. उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में एक हिंदूवादी समूह ने पत्र जारी कर स्कूलों को क्रिसमस न मनाने की धमकी दी है.

वहीं मध्यप्रदेश के सतना ज़िले में क्रिसमस कैरोल गा रहे ईसाई पादरियों को गिरफ़्तार कर लिया गया था.

भारत में कैथोलिक ईसाइयों के संगठन ने भी कहा है कि देश धार्मिक आधार पर बंट रहा है और लोगों का सरकार पर भरोसा कम हो रहा है.

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Why are Tulsi Puja Day celebrating on Christmas
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X