• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Makar Sankranti: 2021: मकर संक्रान्ति पर क्यों उड़ाते हैं 'पतंग', क्या है इसका 'गुड्डी' से कनेक्शन?

|

Why We fly kites during 'Makar Sankranti': देशभर में मकर संक्राति की धूम है, आज सुबह से ही श्रद्धालुगण गंगा घाटों पर पुण्य की डुबकी लगा रहे हैं। इलाहाबाद हो या काशी, हर जगह के गंगा घाटों पर लाखों श्रद्धालुओं का हुजूम दिखाई पड़ रहा है। घने कोहरे और हाड़ कंपा देने वाली सर्दी के बावजूद भक्तों ने सूरज की पहली किरण से साथ ही गंगा में स्नान किया है। बाजारों में तिल-गुड़, चूड़े, गजक-मूंगफली की भरमार है तो वहीं दूसरी ओर गुड्डी यानी पतंगों की दुकानें भी सजी हुई हैं। लाल-पीली, हरी-गुलाबी पतंगों से सजी दुकानें इस वक्त हर किसी का मन मोह रही है लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि मकर संक्रांति पर पतंग क्यों उड़ाते हैं और इसका इस त्योहार से क्या रिलेशन है?

    Makar Sankranti: जानें Sankranti पर पतंग उड़ाने के Religious और Scientific Reasons । वनइंडिया हिंदी

    चलिए इसी के बारे में विस्तार से बात करते हैं?

    पतंग उमंग, खुशी, उल्लास, आजादी की वाहक

    पतंग उमंग, खुशी, उल्लास, आजादी की वाहक

    दरअसल ऐसा माना जाता है कि पतंग उमंग, खुशी, उल्लास, आजादी, मस्ती और शुभ संदेश की वाहक है, संक्रांति के दिन से घर में सारे शुभ काम शुरू हो जाते हैं और वो शुभ काम पतंग की तरह ही सुंदर, निर्मल और उच्च कोटि के हों इसलिए पतंग उड़ाई जाती है। इंसान पंतग की ही तरह ऊंचाई पाए, इसलिए संक्रान्ति के दिन पतंग उड़ाने की परंपरा है। आपको बता दें कि यूपी-बिहार के जिलो में पतंग को 'गुड्डी' कहकर संबोधित करते हैं।

    यह पढ़ें: Makar Sankranti 2021: मकर संक्रांति आज, श्रद्धालुओं ने लगाई गंगा में आस्था की डुबकी

    दिल खुश और दिमाग संतुलित

    दिल खुश और दिमाग संतुलित

    पतंग उड़ाने से दिल खुश और दिमाग संतुलित रहता है, उसे ऊंचाई तक उड़ाना और कटने से बचाने के लिए हर पल सोचना इंसान को नयी सोच और शक्ति देता है इस कारण पुराने जमाने से लोग पतंग उड़ा रहे हैं, दूसरे शब्दों में अगर कहा जाए तो पतंग विचारों , संयम और सोच का घोतक है इसलिए पंतग उड़ाई जाती है, जिसनें एक परंपरा का रूप धारण कर लिया।

    मोहब्बत और एकता का पाठ

    मोहब्बत और एकता का पाठ

    पतंग अकेले उड़ाई नहीं जा सकती है, एक इंसान माझा पकड़ता है तो डोर किसी और के हाथ में होती है, एक छोटी सी पतंग लोगों को प्रेम और एकता का पाठ पढ़ाती है, यही नहीं पतंग के जरिए लोग हार-जीत का अंतर भी समझते हैं और एक-दूसरे के करीब आते हैं, लोगों के अंदर शेयरिंग और सामजस्य की भावना का विकास होता है, जो शायद और किसी भी खेल में संभव नहीं है।

    स्वास्थ्य के लिए अच्छा है पतंग उड़ाना

    स्वास्थ्य के लिए अच्छा है पतंग उड़ाना

    दरअसल इसका एक बहुत बड़ा कारण स्वास्थ्य से भी जुड़ा हुआ है। पतंग उड़ाने के लिए इंसान सुबह-सुबह उठता है और सूरज की पहली किरण का आनंद लेता है, इसी बहाने इंसान को विटामिन डी मिलता है, जो कि इंसान की हड्डियों के लिए बहुत ज्यादा जरूरी होता है।

    यह पढ़ें: Makar Sankranti 2021 : मकर संक्रांति पर क्यों खाते हैं खिचड़ी और क्यों होता है तिल दान?

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    The tradition of kite flying is for a healthy exposure in the early morning Sun.Why We fly kites during 'Makar Sankranti', Read Unknown Facts
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X