भारत का अब तक का सबसे बड़ा राजनीतिक पोल. क्या आपने भाग लिया?
  • search

शराब छोड़ने पर आपके शरीर में क्या होता है

Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
    शराब
    Getty Images
    शराब

    नए साल में बहुत सारे लोग अपनी सेहत का ख़्याल रखने की ठानते हैं. बहुत से ऐसे भी हैं जो सोचते हैं कि 'अब बस, शराब छोड़ देंगे.'

    इसका सीधा फायदा जेब के साथ साथ सेहत को भी होता है.

    ब्रिटेन की सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा एनएचएस के मुताबिक़, शराब घटाने पर आपको अपने शरीर में ये बदलाव दिखने लगेंगे:

    • सुबह उठने पर बेहतर महसूस होगा
    • दिन में कम थकान होगी
    • ज़्यादा फ़िट महसूस करेंगे
    • वज़न कम होने लगेगा या बढ़ना बंद हो जाएगा

    ये बदलाव आपको तुरंत ही महसूस होने शुरू हो जाएंगे. अगर आप लगातार शराब घटाते रहें या छोड़ दें तो आपको शरीर में लंबे समय तक रहने वाले ये चार बदलाव नज़र आएंगे.

    नींद
    Spencer Platt/Getty Images
    नींद

    नींद बेहतर आने लगेगी

    हालांकि शराब पीने के बाद बड़ी जल्दी नींद आ जाती है लेकिन यह गहरी नींद नहीं होती.

    2013 में विज्ञान के एक जर्नल 'अल्कोहोलिज़्म' में नींद पर शराब के असर से जुड़ी एक रिपोर्ट छपी जिसमें बताया गया कि किसी भी मात्रा में शराब पीने से नींद तो तुरंत आ जाती है, नींद के पहले चरण में गहरी नींद भी आती है लेकिन दूसरे चरण में नींद बार-बार टूटती है.

    एनएचएस के मुताबिक, शराब का सेवन घटाने पर आप सुबह ज़्यादा तरोताज़ा महसूस करते हुए उठेंगे.

    शराब
    Getty Images
    शराब

    बीमारियों से लड़ने की बेहतर क्षमता

    बहुत ज़्यादा शराब पीने से रोग प्रतिरोधक क्षमता घट जाती है जिससे कई तरह की बीमारियां होने का ख़तरा बढ़ जाता है.

    एनएचएस के मुताबिक़ जो लोग बहुत शराब पीते हैं उन्हें संक्रामक बीमारियां जल्दी पकड़ लेती हैं.

    ऐसा होता है क्योंकि ज़्यादा शराब साइटोकिन बनने में रुकावट डालती है. साइटोकिन वे तत्व हैं जो शरीर की इंफ़ेक्शन से लड़ने की ताक़त में अहम भूमिका निभाते हैं.

    अमरीका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ अल्कोहल एब्यूज़ एंड एल्कोहोलिज़्म की एक रिपोर्ट कहती है कि शराब पीने के 24 घंटे बाद तक शरीर में साइटोकिन का निर्माण धीमा रहता है.

    शराब
    Getty Images
    शराब

    बेहतर मूड

    एनएचएस के मुताबिक़ शराब और अवसाद में गहरा रिश्ता है. हैंगओवर से भी लोगों का मूड अक़सर ख़राब हो जाता है और उन्हें बेचैनी महसूस होती है.

    अगर आप पहले से ही निराश या दुखी हैं तो शराब इन भावनाओं को और बढ़ा सकती है. एनएचएस के मुताबिक़ शराब की मात्रा घटाने से आपका मूड बेहतर हो सकता है.

    त्वचा बेहतर हो जाएगी

    बहुत से लोगों को शराब छोड़ते ही अपनी त्वचा में बदलाव नज़र आने लगता है. अमरीका के एसोसिएशन ऑफ़ डर्माटॉलॉजी के मुताबिक़ शराब त्वचा के लिए बुरी है. यह त्वचा को सुखाती है और धीरे-धीरे बर्बाद कर देती है जिससे शराब पीने वाला व्यक्ति अपनी उम्र से बड़ा नज़र आने लगता है.

    शराब
    Jeff J Mitchell/Getty Images
    शराब

    कितनी शराब यानी बहुत ज़्यादा शराब?

    ब्रिटेन की सार्वजनिक स्वास्थ्य एजेंसी का कहना है कि एक हफ़्ते में किसी भी महिला या पुरुष को 14 'यूनिट' से ज़्यादा शराब नहीं पीनी चाहिए.

    वहां की सरकार दस मिलीमीटर अमिश्रित शराब को एक 'यूनिट' मानती है.

    इसका मतलब है कि ब्रिटेन के लोगों को एक हफ़्ते में ज़्यादा से ज़्यादा दस छोटे गिलास वाइन पीने की सलाह दी जाती है.

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    BBC Hindi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    What happens to your body when you quit alcohol

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X