• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

दो दिनों तक उत्तराखंड में चुनाव की समीक्षा करेगी BJP प्रभारियों की टीम, निष्कासितों की होगी घर वापसी

|
Google Oneindia News

देहरादून 15 सितंबर। उत्तराखंड में सत्ता में वापसी के लिए बीजेपी के केन्द्रीय नेतृत्व ने अपनी पूरी ताकत झौंक दी है। इसके लिए बीजेपी ने चुनाव प्रभारियों की टीम बनाकर शंखनाद कर दिया है। अब चुनाव प्रभारियों ने उत्तराखंड में चुनावी साल में संगठन स्तर पर चुनावी तैयारियों की समीक्षा करने जा रही है। इसके लिए बीजेपी के चुनाव प्रभारी केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी, सह प्रभारी चुनाव सरदार आरपी सिंह व सांसद लॉकेट चटर्जी अपने दो दिवसीय प्रवास पर उत्तराखंड आ रहे हैं। इस दौरान प्रभारियों की टीम 10 कार्यक्रमो में भाग लेंगे। इनमें 4 संग़ठन की बैठकों सहित 6 अन्य प्रकार के सार्वजनिक कार्यक्रम है। पार्टी चुनाव प्रभारियों के उत्तराखंड दौरे के दौरान अपना शक्ति प्रदर्शन भी करने जा रहा है। जिसमें 200 से ज्यादा निष्कासितों को वापस पार्टी ज्वाइन करा रही है। इनमें अधिकतर 2017 विधानसभा में बीजेपी के खिलाफ बगावत करने वाले कुछ बड़े चेहरे भी शामिल हैं।

The team of BJP in-charge will review the preparations for the elections in Uttarakhand for two days, the expelled will return home

10.30 जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचेंगे प्रभारी
चुनाव प्रभारियों की टीम के पहली बार उत्तराखंड आगमन को लेकर प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक व प्रदेश महामंत्री संग़ठन अजेय द्वारा तीनो प्रभारियों के प्रवास कार्यक्रम मूर्त रूप दे दिया गया है। प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि तीनो चुनाव प्रभारी व सह प्रभारी प्रातः 10.30 जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर पहुचेंगे। यंहा से लेकर दिलाराम चौक तक करीब 10 स्थानों पर कार्यकर्ताओं द्वारा उनका भव्य स्वागत किया जाएगा। स्वागत कार्यक्रम के पश्चात सबसे पहले घंटाघर स्थित बाबा भीमराव अंबेडकर की मूर्ति पर जाकर माल्यापर्ण करेंगे। इसके बाद दीन दयाल उपाध्याय पार्क में दीन दयाल की मूर्ति पर माल्यार्पण का कार्यक्रम सुनिश्चित किया गया है। इसके बाद भाजपा चुनाव प्रभारी उत्तराखंड आन्दोलन में शहीद हुए शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पण करने के लिए शहीद स्मारक में जाएंगे। बाद में प्रह्लाद जोशी अपराह्न 3 बजे भाजपा मुख्यालय में प्रदेश पदाधिकारियों, जिलाध्यक्षों व जिला प्रभारियों की बैठक लेंगे। सांय 4 बजे सिक्ख समाज के लोगों के साथ बैठक में भाग लेंगे। उसके बाद 5 बजे से मीडिया व सोशल मीडिया के प्रदेश पदाधिकारियों के साथ बैठक निश्चित है और रात्रि 8 बजे प्रदेश टोली बैठक आयोजित होगी जिसमे मुख्यमंत्री, प्रदेश अध्यक्ष व महामंत्री उपस्थित रहेंगे और आगामी कार्यक्रमो के बारे में विचार विमर्श करेंगे। दूसरे दिन 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन के अवसर पर आयोजित सेवा समर्पण दिवस के तहत स्वछता अभियान में भाग लेंगे। स्वछता कार्यक्रम गोविंदगढ़ के गोविंद गढ़ सेवा बस्ती में प्रातः 9 बजे रखा गया है। इसके बाद कोरोनेशन हॉस्पिटल में फल वितरण के कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। बाद में कोरोनेशन हॉस्पिटल से भाजपा मुख्यालय में विधानसभाओं में नियुक्त चुनाव प्रभारियों की बैठक में शिरकत करेंगे । बैठक के बाद 11.50 बजे भाजपा मुख्यालय पत्रकार वार्ता को संबोधित करेंगे। अपराह्न 1 बजे भाजपा मुख्यालय में प्रदेश कोर ग्रुप की बैठक में हिस्सा लेंगे। इस तरह से चुनाव प्रभारियों की टीम 2 दिन में उत्तराखंड में हर चुनावी समीकरण पर फोकस कर हाईकमान को रिपोर्ट सौंपेंगे।

चुनाव प्रभारियों के सामने निष्कासितों की वापसी
इसके साथ ही उत्तराखंड में बीजेपी ने अपने पुराने चेहरों को भी वापसी के रास्ते खोल दिए हैं। दूसरे दलों के दिग्गजों को अपने पाले में लाने के साथ ही पार्टी ने अपने ही पुराने कार्यकर्ताओं जो निष्कासित किए गए थे, वापस ले रहे हैं।
पिछले वर्षों में विभिन्न कारणों निष्कासित हुए करीब 200 नेताओं को पार्टी बिना सशर्त वापस लेगी। पार्टी सूत्रों का दावा है चुनाव प्रभारियों के उत्तराखंड दौरे के दौरान ही बीजेपी मुख्यालय में ऐसे कार्यकर्ताओं और नेताओं को वापस लिया जा रहा है। जिन्होंने 2017 में बीजेपी के खिलाफ बगावत की थी। राज्यसभा सांसद नरेश बंसल की अध्यक्षता में गठित कमेटी ने वापसी करने के इच्छुक नेताओं की समीक्षा के बाद 200 कार्यकर्ताओं को वापसी के लिए तैयार कर दिया है।
इसमें पार्टी के सभी पुराने चेहरे शामिल हैं। जो स्थानीय निकायों, पंचायती राज संस्थाओं, विधानसभा व लोकसभा चुनाव में निष्कासित किए गए थे। पार्टी सूत्रों का दावा है कि निष्कासितों को बिना शर्त शामिल किया जाएगा। उन्हें एक से दो साल तक संगठन में कोई पद भी नहीं दिया जाएगा। इसके अलावा ऐसे नेताओं को पार्टी में शामिल नहीं किया जाएगा, जिन पर गंभीर आपराधिक आरोप हों।

ये भी पढ़ें-उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में गढ़वाल,कुमाऊं के बाद अब तराई फेक्टर क्यों है जरूरी, पढ़िए पूरी खबरये भी पढ़ें-उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में गढ़वाल,कुमाऊं के बाद अब तराई फेक्टर क्यों है जरूरी, पढ़िए पूरी खबर

<strong><br/></strong>

English summary
The team of BJP in-charge will review the preparations for the elections in Uttarakhand for two days, the expelled will return home
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X