• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

यूपी: साक्षी महाराज के जामा मस्जिद वाले बयान पर उलेमाओं ने जताई आपत्ति, कहा- इसके पीछे है बड़ी साजिश

|

सहारनपुर। उन्नाव से भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने बीते दिनों जामा मस्जिद को लेकर विवादित बयान दिया था, जिसपर देवबंद उलेमाओं ने नाराजगी जताई है। उलेमाओं का कहना है कि यह मुसलमानों को भड़काने के लिए इस प्रकार की बयानबाजी की जा रही है जो ठीक नहीं है। इस तरह की बयानबाजी के पिछे भाजपा की बड़ी साजिश छिपी हुई है।

जामा मस्जिद तोड़ो वाले बयान पर आज भी हूं कायम

जामा मस्जिद तोड़ो वाले बयान पर आज भी हूं कायम

उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज आए दिन किसी ना किसी विवाद को लेकर चर्चा में बने रहते हैं। भाजपा सांसद ने इस बार देश की राजधानी दिल्ली स्थित जामा मस्जिद को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्नाव में ही एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए साक्षी महाराज ने कहा है कि वह जब राजनीति में आए थे तब उन्होंने कहा था कि काशी, मथुरा, अयोध्या छोड़ो दिल्ली की जामा मस्जिद तोड़ो। उसकी सीढ़ियों के नीचे से अगर भगवान की मूर्तियां न निकली तो उन्हें फांसी पर लटका देना। उन्होंने कहा कि वह अपने इस बयान पर आज भी कायम हैं। साक्षी महाराज के इस बयान पर तंजीम-उलेमा-ए-हिंद के प्रदेश अध्यक्ष मौलाना नदीमुल वाजदी ने कहा कि बाबरी मस्जिद की तरह दिल्ली की जामा मस्जिद को विवादास्पद बनाने के लिए यह बयान दिया गया है।

साक्षी महाराज के बयान के पीछे छिपी है बड़ी साजिश: उलेमा

साक्षी महाराज के बयान के पीछे छिपी है बड़ी साजिश: उलेमा

भाजपा मंदिर-मस्जिद, हिंदू-मुस्लिम की राजनीति करती है, यह बयान इसका साफ उदाहरण है। उन्होंने साक्षी महाराज के बयान के पीछे बड़ी साजिश होने की बात कहते हुए सरकार से इसका जवाब मांगा है। तंजीम-अब्नाएृ-दारुल-उलूम-देवबंद के अध्यक्ष मुफ्ती यादे इलाही कासमी ने भी साक्षी महाराज के बयान पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि यह बयान देश का माहौल खराब करने वाला है। इस प्रकार के बयान देश के हिंदू-मुस्लिम को बांटकर लोकसभा चुनाव में लाभ पाने के लिए दिए जा रहे हैं। हिंदू और मुसलमानों को भाईचारा बनाकर रखना होगा ताकि मुल्क के माहौल को सही रखा जाए, क्योंकि कुछ लोग मुल्क को बांटने की ओर ले जा रहे हैं, जो कि बेहद घातक है।

मुसलमानों को भड़काने का हो रहा है प्रयास

मुसलमानों को भड़काने का हो रहा है प्रयास

मदरसा जामिया हुसैनिया के वरिष्ठ उस्ताद मुफ्ती तारिक कासमी ने कहा कि पहले ताजमहल और अब दिल्ली जामा मस्जिद के संबंध में विवादास्पद बयान देकर मुसलमानों के जज्बातों को भड़काने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंन कहा कि एक सोची समझी साजिश के तहत भाजपा के सांसद-विधायक बयानबाजी कर रहे हैं। अयोध्या मुद्दे पर भाजपा लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारी कर रही है। यदि चुनाव से पहले अयोध्या मुद्दे का हल हो जाता है, तो आगे राजनीति करने के लिए ताजमहल व जामा मस्जिद जैसी देश की पहचान कही जाने वाली इमारतों को विवादास्पद बनाया जा रहा है, जो कि बेहद निंदनीय है।

ये भी पढ़ें:- यूपी: इंजेक्शन लगाने के बाद 11 स्कूली बच्चों की हालत हुई खराब, सिर चकराने और उल्टी की थी शिकायत

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
muslim scholars remarks on sakshi maharaj speech abou jama masjid saharanpur
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X