• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कभी स्टेट लेवल पर जीता था गोल्ड मेडल, अब Zomato के लिये बना डिलिवरी ब्वॉय

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। भारतीय खेल जगत की बात करें तो इसमें कई ऐसे एथलीट भरे पड़े हैं जिन्होंने एक मुश्किल सफर तय किया है और लाख परेशानियों के बावजूद हार नहीं मानी और अपनी अलग पहचान बनायी। हालांकि यहां पर कई ऐसे एथलीट भी हैं जिन्होंने शुरुआत में कई सारे कीर्तिमान हासिल किये लेकिन आर्थिक हालात के चलते वो अपने सपनो को उड़ान नहीं दे सके। फूड डिलीवरी कंपनी ZOMATO ने भी अपने आधिकारिक यूट्यूब चैनल से एक ऐसी ही इमोशनल वीडियो को शेयर किया है जिसमे राज्य स्तर पर चैम्पियन रह चुके एथलीट ने फूड डिलिवरी ब्वॉय का काम शुरू किया है।

Mukesh kumar

बिहार के वैशाली जिले से आने वाले मुकेश कुमार ने इस वीडियो में बताया है कि कैसे वो फूड डिलिवरी ब्वॉय का काम करते हुए अपनी बहन और अपने सपने को पूरा करने की कोशिश में लगे हुए हैं। मुकेश कुमार ने इस वीडियो में बताया है कि कैसे स्कूल के दिनों में उन्होंने एथलेटिक्स के फील्ड में 4 गोल्ड मेडेल जीते थे और इससे प्रभावित होकर उनके शिक्षकों ने हौंसला बढ़ाते हुए कहा था कि वो भविष्य में अच्छा करेंगे।

और पढ़ें: Watch Video: धमाकेदार अंदाज में टी नटराजन ने किया वापसी का ऐलान, प्रैक्टिस सेशन में तोड़ डाला विकेट

वीडियो में मुकेश ने कहा,'मैं 400 मीटर रेस का एथलीट हूं जिसने राज्य स्तर की चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडेल हासिल किया है। मैंने विशाखापट्टनम में आयोजित राष्ट्रीय स्तर की एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में हिस्सा लिया था लेकिन मैं अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाया और चौथे पायदान पर रह गया। इसके चलते मैं डिप्रेशन का शिकार हो गया था और मुझे ऐसा लगने लगा कि मैं अब कभी जीत नहीं पाउंगा।'

मुकेश ने आगे जानकारी देते हुए बताया कि मुश्किल के इस दौर में उनके शिक्षकों ने भरपूर साथ दिया और समझाया कि भले ही आज तुम्हें हार का सामना करना पड़ा हो लेकिन एक दिन तुम्हे जीत जरूर हासिल होगी। शिक्षकों के हौसला बढ़ाने के चलते मुकेश ने दोबारा से ट्रेनिंग शुरू की और कोविड के समय में गंगा घाट पर अभ्यास को जारी रखा।

और पढ़ें: जब हरभजन सिंह को गलत समझ बैठे थे शेन वॉर्न, टर्बनेटर ने सुनाया 22 साल पुराना किस्सा

इस दौरान मुकेश कुमार ने अपनी आर्थिक हालात की भी जानकारी दी और बताया कि उनके पिता छोटे किसान हैं जिनकी कमाई बहुत कम है। वो उनकी मदद तो करते हैं लेकिन वो काफी नहीं होता। ऐसे में मुकेश के एक दोस्त ने उन्हें डिलिवरी ब्वॉय बनकर पैसे कमाने का तरीका सुझाया तो उन्होंने जोमैटो को ज्वाइन कर लिया। मुकेश ने बताया कि जब जोमैटो से उन्हें पहली बार पैसे मिले तो उन्होंने अपनी बहन के लिये जूते खरीदे थे।

गौरतलब है कि मुकेश की बहन भी स्टेट लेवल चैम्पियन है और वो चाहते हैं कि अपना अभ्यास जारी रख देश के लिये राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर गोल्ड मेडेल जीतने का सपना पूरा कर सकें। मुकेश ने अपने सपने को भी यही बताया और कहा कि जोमैटो के साथ वो इसे सच करने पर काम कर रहे हैं।

Comments
English summary
Indian Athlete Mukesh Who Won Gold Medal now becomes Delivery boy for Zomato-watch-video
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X