• search
पटना न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

उद्धव ठाकरे सरकार ने एक दिन के लिए भी राज्य पर शासन करने का नैतिक अधिकार खो दिया है- रविशंकर प्रसाद

|
Google Oneindia News

पटना। केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने महाराष्ट्र से गृह मंत्री अनिल देशमुख पर लगे आरोपों को लेकर महाराष्ट्र सरकार को घेरने की कोशिश की। पटना में उन्होंने मीडिया से कहा कि जब महाराष्ट्र के गृह मंत्री का 100 करोड़ का लक्ष्य था तो बाकी मंत्रियों का क्या लक्ष्य होगा। उन्होंने कहा कि उद्धव ठाकरे सरकार ने एक दिन के लिए भी राज्य पर शासन करने का नैतिक अधिकार खो दिया है।

    Ravi Shankar Prasad ने पूछा- Anil Deshmukh ने Sachin Vaze से करवाए कौन से गंदे काम? | वनइंडिया हिंदी
    Ravi Shankar Prasad

    उन्होंने कहा कि सचिन वाजे जो वर्षों तक सस्पेंड था उसे कोरोना काल में यह कहते हुए बहाल किया गया कि कोरोना में पुलिस वाले बीमार पड़ गए हैं इसलिए ऐसा किया जा रहा है। भाजपा की ओर से पहला सवाल यह है कि सचिन वाजे की नियुक्ति किसके दबाव में हुई।

    यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र: ATS टीम ने 2 लोगों को किया अरेस्ट, अनिल देशमुख के घर के बाहर पुलिस तैनात

    उन्होंने आगे कहा कि यह मामला भ्रष्टाचार का नहीं है यह लूट का मामला है। उन्होंने आगे कहा कि एनसीपी नेता शरद पवार जब सरकार में नहीं हैं तो उन्हें इस मामले को क्यों बताया जा रहा है।

    रविशंकर प्रसाद ने शरद पवार पर सवाल उठाते हुए कहा कि उन्होंने अपने स्तर पर कोई कार्रवाई क्यों नहीं की। शरद पवार की खामोशी सवाल उठाती है। साथ ही उद्धव ठाकरे की शांति और सदन के अंदर और बाहर सचिन वाजे के पक्ष में बोलना। सचिन वाजे की हैसियत एक एएसआई की है और उसे क्राइम सीआईडी का चार्ज दिया गया है, यह आश्चर्य की बात है।

    उन्होंने कहा कि यह काफी गंभीर मामला है और इसकी ई्मानदारी से जांच जरूरी है।

    Comments
    English summary
    Union minister Ravi Shankar Prasad surrounds Maharashtra government on the issue of Anil Deshmukh
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X