इस स्कूल में दलित लड़कियों से साफ करवाते हैं टॉयलेट, फेंककर देते है रोटियां

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

छतरपुर। देश में जहां बुलेट ट्रेन को चलाने की तैयारी हो रही है। वहीं दूसरी ओर अभी देश अभी भी जात-पात और छुआछूत की जंजीरों में जकड़ा हुआ है। मध्यप्रदेश के छतरपुर से छुआछूत से जुड़ा एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। इस घटना से जुड़ा एक वीडियो वायरल हुआ है। दावा किया गया है कि कदारी गांव के माध्यमिक एवं प्राइमरी स्कूल में पढ़ने वाली अनुसूचित जाति की लड़कियों से झाड़ू लगवाई जाती है एवं शौचालय साफ करवाया जाता है। जाति के आधार पर उनकी ड्यूटी लगाई गई है। इतना ही नहीं मिड-डे मील में भी रोटियां फेंककर दी जाती हैं।

brooming

हालांकि अभी तक खबर की पुष्टि नहीं हुई है परंतु बताया जा रहा है कि डीईओ छतरपुर ने इस मामले में नोटिस जारी किए हैं। वीडियो वायरल होने के बाद छतरपुर के भाजपा नेताओं ने चुप्पी साध ली है लेकिन बहुजन समाज पार्टी के उपाध्यक्ष अब्दुल समीर ने बताया कि पार्टी के लोग जल्द ही स्कूल जाकर बच्चियों से मिलेंगे और जिला प्रशासन दोषियों पर कार्रवाई नहीं करता, तो पार्टी आंदोलन करेगी।

बता दें कि मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उज्जैन में आयोजित हुए महाकुंभ मेले के दौरान समरसता के नाम पर विशेष स्नान का आयोजन करवाया था। लेकिन उनकी कोशिशों का असर होते नहीं दिख रहा है। आए दिन प्रदेश के किसी ना किसी हिस्से ऐसी दुखद घटनाएं सामने आ जाती हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Dalit girls brooming school at Chhatrapur district

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.