• search
लखनऊ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

सदन में हंगामे पर मायावती ने किया ट्वीट, कहा- संविधान की गरिमा व लोकतंत्र को शर्मसार करने वाला

|

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (BSP) की अध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने किसान बिल पर संसद में हुए केंद्र सरकार और विपक्ष के व्यवहार पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। बुधवार को मायावती ने सोशल मीडिया पर ट्वीट करते हुए राज्यसभा में विपक्षी नेताओं के व्यवहार पर कड़ी नाराजगी जताते हुए निशाना साधा है। मायावती ने कहा है कि सदन में विपक्ष का जो व्यवहार देखने को मिला वह संविधान और संसद की मर्यादा को तार-तार करने वाला है।

Mayawati tweeted on uproar in house said the dignity of the Constitution and shaming democracy

बसपा की अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बुधवार को ट्वीट करते हुए लिखा, 'वैसे तो संसद लोकतंत्र का मन्दिर ही कहलाता है फिर भी इसकी मर्यादा कई बार तार-तार हुई है। वर्तमान संसद सत्र के दौरान भी सदन में सरकार की कार्यशैली और विपक्ष का जो व्यवहार देखने को मिला है वह संसद की मर्यादा, संविधान की गरिमा और लोकतंत्र को शर्मसार करने वाला...अति-दुःखद।'

दरअसल, रविवार (20 सितंबर) को सदन में हंगामा करने और उपसभापति हरिवंश से बदसलूकी के लिए आठ सांसदों को सस्पेंड कर दिया गया था। जिसके बाद सांसदों ने रातभर गांधी प्रतिमा के सामने बैठकर धरना दिया। इसको लेकर राज्सभा में मंगलवार (22 सितंबर) को भी हंगामा जारी है। सभापति नायडू ने हंगामे पर नाराजगी जताते हुए कहा, मैं भी सांसदों के निलंबन को लेकर खुश नहीं हूं। लेकिन उनके आचरण को लेकर कार्रवाई की गई है। हमारे मन में किसी भी सदस्य के खिलाफ कुछ भी गलत नहीं है।

ये भी पढ़ें:- प्रियंका गांधी ने कृषि बिल के मुद्दे पर भाजपा से पूछा सवाल, अखिलेश ने कहा- 'ए मेरे भोले किसान, दुश्मन को पहचान'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mayawati tweeted on uproar in house said the dignity of the Constitution and shaming democracy
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X