• search
जयपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

भारतीय सेना युवाओं को सेना के गौरव से कराएगी अवगत, जानिए क्या है रणभूमि श्रद्धांजलि यात्रा

Google Oneindia News

जयपुर, 5 सितम्बर। आजादी का अमृत महोत्सव के अवसर पर भारतीय सेना नागरिक प्रशासन, रेलवे और विभिन्न अन्य सरकारी विभागों के साथ मिलकर देश की युवा पीढ़ी को राजस्थान के रेगिस्तान में प्रसिद्ध युद्ध मैदानों का दौरा करने और वीरता का गवाह बनने का एक अनूठा अवसर प्रदान करेगी। इसके तहत सीमावर्ती इलाके में 5 से 8 सितंबर रणभूमि श्रद्धांजलि यात्रा के माध्यम से दुश्मन के खिलाफ विजयी होने तथा विभिन्न बाधाओं के खिलाफ लड़ने वाले भारतीय सैनिकों की बहादुरी और अदम्य भावना को इसमें उजागर किया जायेगा। सीमावर्ती क्षेत्रों के पास विभिन्न स्थानों पर युद्ध लड़ने वाले भूतपूर्व सैनिकों ने स्वेच्छा से मेरी कहनी-मेरी जुबानी के माधय्म से युद्ध विवरण सुनाए जाएंगे।

indian army

Rahil Mohammad : गांव के लड़के राहिल मोहम्‍मद के Youngest App Developer बनने की धांसू कहानीRahil Mohammad : गांव के लड़के राहिल मोहम्‍मद के Youngest App Developer बनने की धांसू कहानी

सेना के गौरव से युवाओं को कराएंगे अवगत

भारतीय सेना ने यह पहल नागरिक आबादी विशेष रूप से युवा पीढ़ी को राजस्थान सीमा के पूरे क्षेत्र के साथ इन प्रसिद्ध और ऐतिहासिक स्थानों की यात्रा करने और लड़ाई में वीरगति को प्राप्त हुए जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए की गई है। सेना के अधिकारियों का मानना है कि ऐसा करने से वे सेना गौरवान्वित इतिहास की सराहना करेंगे और भारतीय सेना की कार्य प्रणाली के साथ परिचित होंगे। इसके अलावा यह भारतीय सेना, नागरिक प्रशासन, रेलवे और विभिन्न अन्य सरकारी एजेंसियों के संयुक्त प्रयासों के माध्यम से राष्ट्र को एकजुट करने और पर्यटन के लिए विशाल संभावनाओं का पता लगाने और इन सीमावर्ती क्षेत्रों को विकसित करने के लिए एक अद्वितीय और बहुआयामी दृष्टिकोण है।

indian army

कलेक्टर ने हरी झंडी दिखाकर यात्रा को किया रवाना

इस कार्यक्रम को लेफ्टिनेंट जनरल राकेश कपूर, जनरल ऑफिसर कमांडिंग डेजर्ट कोर ने जोधपुर कलेक्टर हिमांशु गुप्ता मौजूदगी में झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान पर्यटन विभाग की निदेशक सरिता फिरौदा के साथ विभिन्न विभागों के नागरिक, गणमान्य लोगों और 200 एनसीसी कैडेटों भी शमिल रहे। लेफ्टिनेंट जनरल कपूर ने ऐसी पहल के महत्व के बारे में बताया। जहां नागरिकों को 1971 की लड़ाई के दौरान हुई वास्तविक घटनाओं के प्रामाणिक विवरण के बारे में उन लोगों से पता चलेगा जिन्होंने उसमें हिस्सा लिया था। उन्होंने इस पायलट परियोजना को शुरू करने में भारतीय सेना और विभिन्न नागरिक विभागों के बीच उत्कृष्ट समन्वय पर भी प्रकाश डाला। जो इन सीमावर्ती क्षेत्रों में पर्यटन और समग्र विकास को बढ़ावा देने में सहायता करेगा।

indian army

Comments
English summary
Indian Army will make the youth aware of the pride of the army, know what is the Battlefield Tribute Yatra
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X