• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अमेरिका में खतरे की चेतावनी, कैपिटल हिंसा के बाद कट्टरपंथियों के हौसले बुलंद, फिर से हिंसा की तैयारी

|

Security Advisory in America: वाशिंगटन डीसी। अमेरिका के डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी (DHS) ने अमेरिका में राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण के बाद देश में हिंसा की आशंका को लेकर खतरे की एडवाइजरी जारी की है। बुधवार को जारी एडवाइजरी में ये कहा गया है कि कैपिटल हमले के बाद कट्टरपंथियों के हौसले बढ़े हुए हैं और वह दूसरी घटनाओं को अंजाम दे सकते हैं।

US Capitol

कार्यवाहक डीएचएस सेक्रेटरी डेविड पेकोस्के ने अमेरिका में एडवाइजरी में कहा कि अमेरिका में आतंकी खतरे को लेकर एक माहौल बना हुआ है। डीएचएस का मानना है कि 20 जनवरी के राष्ट्रपति शपथ ग्रहण समारोह के बाद के हफ्तों में यह स्थिति बनी रहेगी।

इरान को लेकर जारी हुई थी एडवाइजरी

इस एडवाइजरी में कहा गया है कि जानकारी के मुताबिक चरमपंथी विचारधारा से लैस कुछ अतिवादी तत्व राष्ट्रपति के सत्ता हस्तांतरण और दूसरे झूठी कहानियों के आधार पर हिंसा करने के लिए सक्रिय हो सकते हैं। इसी महीने सीएनएन ने अपनी एक रिपोर्ट में ये जानकारी दी थी कि देश में आतंकी खतरे के संभावित स्तर को बढ़ाने को लेकर डीएचएस में चर्चा हो रही है।

डिपार्टमेंट ऑफ होम सिक्योरिटी देश में संभावित खतरे को लेकर एडवाइजरी जारी करता है। आखिरी बार ये एडवाइजरी पिछली जनवरी में इरान के खतरे को लेकर जारी की गई थी जो कि अब खत्म हो चुकी है। वहीं इस बार बुधवार को जारी की गई एडवाइजरी अप्रैल में समाप्त हो रही है।

ट्रंप समर्थक हो गए थे हिंसक

6 जनवरी को जब अमेरिकी कांग्रेस राष्ट्रपति जो बाइडेन की चुनावी जीत के नतीजों पर मुहर लगाने के लिए बैठक कर रही थी इसी दौरान तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थक कैपिटल बिल्डिंग के बाहर जमा थे। बैठक के दौरान ही नतीजों को बदलने की मांग करते हुए ट्रंप समर्थकों ने हिंसा शुरू कर दी और कैपिटल बिल्डिंग के अंदर घुस गए। उस दौरान सांसदों को जान बचाकर भागना पड़ा था।

हालांकि अमेरिका की परम्परा और नियम के मुताबिक जो बाइडेन ने 20 जनवरी को ही राष्ट्रपति पद की शपथ ली थी लेकिन इस दौरान राजधानी में सुरक्षा के लिए 25 हजार नेशनल गार्ड्स को तैनात करना पड़ा था। पहले भी सुरक्षा एजेंसियों ने इनपुट दिए थे कि ट्रंप समर्थक और कुछ अतिवादी तत्व देश में हिंसा फैला सकते हैं।

अमेरिका में भेदभाव: Covid Vaccine पाने में काले और लैटिन अमेरिकी पीछे, फाउची बोले- गोरों पर ही न हो फोकस

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
homeland security issued security advisory in america
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X