• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Mann Ki Baat में मोदी ने किया पटेल का गुणगान, नेहरू-इंदिरा को भी किया याद

|

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने रविवार को मन की बात की। ये मोदी के रेडियो प्रोग्राम का 37th एपिसोड था। मोदी ने कहा कि इस बार दिवाली पर खादी की रिकॉर्ड बिक्री हुई। पहले खादी फैशन फिर खादी फॉर नेशन था, अब खादी फॉर ट्रांसफॉर्मेशन का दौर आ रहा है। पिछली बार मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति के साथ देश का हर शख्स स्वच्छता मुहिम से जुड़ चुका है। अब पब्लिक प्लेस पर गंदगी न फैलाने का दबाव बढ़ा है। मन की बात से मुझे देशवासियों को जानने का मौका मिला। बता दें कि पीएम ने अक्टूबर, 2014 से देश की जनता से अपने विचार साझा करने के लिए मन की बात की शुरुआत की थी।

Live: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 37वीं 'मन की बात' आज

बड़ी बातें...

  • मैं देश वासियों को शुभकामनएं देता हूं कि उनके सभी सपने साकार होंः पीएम मोदी
  • पटेल जी ने एक उद्देश्य निश्चित कर लिया और उसपर वह बढ़ते ही गए। उन्होंने कहा था कि जाति और पंथ का कोई भेद हमें रोक नहीं सकेगा। हम सभी को अपने देश को प्रेम करना चाहिएः पीएम मोदी
  • 31 अक्टूबर को श्रीमती इंदिरा गांधी जी इस दुनिया को छोड़कर चली गईं। सरदार पटेल जी ने भारत को एक सूत्र में पिरोने की बागडोर संभालीः पीएम मोदी
  • 2019 में हम गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व मनाएंगेः पीएम मोदी
  • नानक जी ने पैदल ही 28 हजार किलोमीटर की यात्रा की और लोगों को बराबरी का संदेश दियाः पीएम मोदी
  • किले और धरोहरों की साफ सफाई और देखभाल की जिम्मेदारी हम सबकी है। आने वाले 4 नवंबर को गुरुनानक जयंती है। हम उन्हें याद करते हैंः पीएम मोदी
  • मैं शटलर किदांबी श्रीकांत को भी डेनमार्क ओपन जीतने और देश को गौरवान्वित करने के लिए बधाई देता हूंः पीएम मोदी
  • 10 साल बाद भारत ने एशिया कप जीता। मैं पूरी हॉकी टीम को बधाई देता हूंः पीएम मोदी
  • परिवार जन जागरूकता पूर्वक बच्चों को शिक्षा दें। उन्हें स्वस्थ्य रहने के तरीके सिखाएंः पीएम मोदी
  • समाज और परिवार को खानपान और दिनचर्या पर ध्यान देने की जरूरत हैः पीएम मोदी
  • सभी को जवाहरलाल नेहरू जी के जन्मदिन पर मनाए जाने वाले बालदिवस की बधाईः पीएम मोदी
  • वह चाहतीं तो आरमदायक जीवन जी सकती थीं लेकिन लोगों की सेवा में उन्होंने जीवन समर्पित कर दियाः पीएम मोदी
  • भगिनी निवेदिता और वैज्ञानिक जगदीश चंद्र बसु संवेदना के बड़े उदाहरण हैंः पीएम मोदी
  • उन्होंने नाम के अनुरूप खुद को सिद्ध करके दिखाया। कल उनकी 150वीं जयंती थी। वह स्वामी विवेकानंद से प्रभावित थींः पीएम मोदी
  • भारत शांति दूत के रूप में हमेशा से एकता का संदेश देता रहा है। हमारी पुण्यभूमि ऐसे महान लोगों से सुशोभित रही है जिन्होंने निस्वार्ण भाव से लोगों की सेवा की है। भगिनी निवेदिता भी उनमें से एक थीः पीएम मोदी
  • हमें कैप्टेन गुरुवचन सिंह सलारिया को कौन भूल सकता है। उन्होंने कॉन्गो में खुद को कुर्बान कर दियाः पीएम मोदी
  • महिला सुरक्षाबलों ने भी पूरी दुनिया में शांति स्थापित करने में मदद की है। आपको गर्व होगा कि भारत की भूमिका 85 देशों को प्रशिक्षण देने का भी काम में भी हैः पीएम मोदी
  • 18000 से अधिक सुरक्षाबलों ने दुनियाभर में शांति स्थापित करने में अपनी सेवाएं दी हैं। यह पूरे विश्व में तीसरी सबसे बड़ी संख्या हैः पीएम मोदी
  • भारत शुरू से ही यूएन के साथ काम करता रहा है। भारत में नारी समानता में हमेशा जोर दिया है और यूएन डिक्लेरेशन ऑफ ह्यूमन राइट भी इसका प्रमाण हैः पीएम मोदी
  • हमारे सुरक्षाबल के जवान न सिर्फ सीमा पर बल्कि दुनियाभर में शांति के लिए काम कर रहे हैं। 24 अक्टूबर को संयुक्त राष्ट्र दिवस मनाया गयाः पीएम मोदी
  • मुझे दिवाली पर एक बार फिर सुरक्षाबलों के साथ त्योहार मनाने का मौका मिला। यह अविस्मरणीय रहा। जवानों के संघर्ष और समर्पण के लिए मैं उनका आदर करता हूंः पीएम मोदी
  • खादी ग्रामीण विकास का साधन बनकर उभर रहा है। यह खादी फॉर नेशन और खादी फॉर फैशन के बाद खादी फॉर ट्रांसफॉर्मेशन बन रहा हैः पीएम मोदी
  • खादी और हैंडलूम में बिक्री में बढ़ोतरी हुई है। दिल्ली के एक खादी के स्टोर में बहुत बढ़ोतरी हुई है। खादी की बिक्री में करीब 90 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली हैः पीएम मोदी
  • मन की बात की सराहना भी होती है और आलोचना भी होती है। लेकिन इसके प्रभाव से पता चलता है कि मन की बात लोगों से बंध चुकी हैः पीएम मोदी
  • मोदी ने कहा, मेरे प्यारे देशवासियों नमस्कर। दीपावली के छह दिन बाद मनाया जाने वाला पर्व छठ पर्व देश में सबसे ज्यादा नियम से मनाया जाने वाला पर्व है।"
  • छठ का अनुपम पर्व प्रकृति की उपासना से पूरी तरह जुड़ा है। सूर्य और जल इसके केंद्र में है। बांस मिट्टी से बने पात्र और कंदमूल इसकी सामग्री हैं। उगते और डूबते सूर्य की पूजा का संदेश है। यह पूजा डूबने वाले की भी पूजा का संदेश देती है। नदियों और घाटों की सफाई सब मिलकर करते हैं।
  • इसमें प्रसाद मांगकर खाने की परंपरा। कहा जाता है, इससे अहंकार नष्ट होता है।"
  • भारत की इस परंपरा पर सबको गर्व होना स्वाभाविक है। मन की बात की सराहना भी होती रही है आलोचना भी।
  • लेकिन मैं इसके बारे में सोचता हूं तो पता चलता है कि देश के मानस से यह जुड़ चुकी है।"
  • खादी की रिकॉर्ड बिक्री
  • मोदी ने कहा, "दिवाली पर दिल्ली के एक खादी हैंडलूम स्टोर पर एक करोड़ बीस लाख की रिकॉर्ड वृद्धि की बात बताई गई है। ये सभी के लिए खुशी की बात है। खादी की बिक्री में एक साल में 90 फीसदी का इजाफा हुआ।"
  • पहले खादी फैशन फिर खादी फॉर नेशन था, अब खादी फॉर ट्रांसफॉर्मेशन का दौर आ रहा है।"
  • राजन भट्ट ने नरेंद्र मोदी एप पर लिखा। सुरक्षाबल कैसे दिवाली मिलाते हैं। क्या सुरक्षाबलों तक हमारे घर की मिठाई पहुंचाई जा सकती है।
  • इस बार गुरेज सेक्टर में दिवाली मनाना मेरे लिए अविस्मरणीय रहा।
  • आपके बता दें कि पिछली बार मन की बात को 3 साल पूरे हुए थे।
  • इस मौके पर पीएम ने स्वच्छता को लेकर उठाए जाने वाले गंभीर कदमों का जिक्र किया। उन्होंने लोगों को अपील करते हुए जागरुक किया और कहा कि वे आगे बढ़कर स्वच्छता अभियान में हिस्सा लें। उम्मीद की जा रही है कि आज प्रधानमंत्री देश की अर्थव्यवस्था पर कर सकते हैं चर्चा, साथ ही दिल्ली में फैल रहे प्रदूषण पर भी वो अपनी बात रख सकते हैं।

Read Also: राज्यों को जीएसटी से हुआ तगड़ा नुकसान, भरपाई के लिए केन्द्र सरकार ने दिए 8698 करोड़ रुपए

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Prime Minister Narendra Modi will share his thoughts on a number of themes and issues in his 37th edition of 'Mann Ki Baat' today at 11 a.m.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more