• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

"विकास पागल हो गया" वाली एजेंसी ने कांग्रेस को बीच चुनाव में बनाया "मामू"

|

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने जिस विज्ञापन एजेंसी को प्रचार का जिम्मा सौंपा, उसने कथित तौर पर पार्टी के साथ करोड़ों का फ्रॉड कर दिया है। मामला सामने आने के बाद कंपनी से प्रचार का जिम्मा वापस लेकर दूसरी कंपनी को ये काम सौंपा गया है। बताया गया है कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस को करीब 20 करोड़ का नुकसान इस कंपनी ने पहुंचाया है।

पार्टी कर रही जांच

पार्टी कर रही जांच

मध्य प्रदेश में कांग्रेस के प्रचार का ठेका गुजरात की कंपनी निक्सन लिमिटेड को दिया गया था। प्रचार एजेंसी के कामकाज में गड़बड़ी सामने आने के बाद हाइकमान ने चुनावों के बीच उस एजेंसी को बदलना है और इस पूरे मामले की जांच कराने का फैसला भी किया गया है। पार्टी का मानना है कि 20 करोड़ का घपला हुआ है। पार्टी एजेंसी के साथ-साथ अपने दल के नेताओं से भी पूछताछ कर रही है। खासकर पार्टी पता लगा रही है कि किन नेताओं की सिफारिश से इस एजेंसी को काम दिया गया।

कमलनाथ के गढ़ में भी सीट चाहती थीं मायावती, कांग्रेस अध्यक्ष ने अब बताई बात ना बन पाने की वजह

100 करोड़ का मिला ठेका, ऐसे किया फ्रॉड

100 करोड़ का मिला ठेका, ऐसे किया फ्रॉड

कांग्रेस ने निक्सन लिमिटेड को प्रचार का 100 करोड़ का ठेका दिया था। ठेके में अखबारों, रेडियो और न्यूज चैनलों में विज्ञापन चलवाना था। साथ ही पूरे राज्य में होर्डिंग्स भी लगवाने थे। एजेंसी ने पूरे प्रदेशभर में कांग्रेस के होर्डिंग लगाने की जिम्मेदारी ली, लेकिन सिर्फ बड़े-बड़े शहरों और प्रमुख इलाकों में ही होर्डिंग लगाए जबकि बिल सबके लिए भेजा गया। जब एजेंसी ने प्रिंट मीडिया में विज्ञापन देने के लिए पार्टी से और पैसे की मांग की। तब पार्टी नेताओं को मामले पर संदेह हुआ। प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने दिल्ली में पार्टी आलाकमान को इसकी जानकारी दी तो पार्टी ने कंपनी को हटा दिया।

गुजरात में चला था 'विकास पागल हो गया'

गुजरात में चला था 'विकास पागल हो गया'

प्रचार एजेंसी निक्सन लिमिटेड ने गुजरात चुनाव में कांग्रेस के लिए प्रचार किया था। कंपनी कका 'विकास पागल हो गया' एड काफी मशहूर हुआ और ये भाजपा के प्रचार पर भारी पड़ता दिखा था। गुजरात में कंपनी के प्रचार से कांग्रेस खुश थी और इसके चलते उसने इस एजेंसी को मध्य प्रदेश की जिम्मेदारी सौंपी।

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव: आखिरी दौर के प्रचार के लिए सिद्धू की डिमांड बढ़ी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
congress ad agency fraud crores in madhya pradesh assembly elections
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X