• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

2021 में बंगाल में जीत सुनिश्चित करने के लिए बीजेपी ने मैदान में शीर्ष पदाधिकारियों को उतारा

|

नई दिल्ली। 2021 में होने वाले पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों में सत्तारूढ़ ममता बनर्जी सरकार से सत्ता छीनने के लिए भाजपा केंद्रीय नेतृत्व जोरशोर से तैयारी में जुटी है। इसी तैयारी के मद्देजर आवश्यक रणनीति के तहत भाजपा ने अपने शीर्ष पदाधिकारियों को काम पर लगा दिया है। शीर्ष अधिकारियों को प्रदेश में जमीनी रिपोर्ट पेश करने के लिए पश्चिम बंगाल का दौरा करने के लिए भेजा गया है। अभी हाल में केद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी दो दिवसीय बंगाल दौरे से लौटे हैं।

BJP

बीजेपी नेता ने कहा, 'हम पश्चिम बंगाल को गुजरात में बदल देंगे', टीएमसी ने किया करारा प्रहार

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह लेंगे तैयारियां का जायजा

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह लेंगे तैयारियां का जायजा

रिपोर्ट के मुताबिक पार्टी ने शीर्ष पदाधिकारियों को राज्य के दौरों पर भेजने के फैसले को भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा राज्य इकाई की तैयारियों का जायजा लेने पर अंतिम मुहर लगने के बाद किया है, जो विधानसभा चुनाव होने तक नियमित रूप से राज्य का दौरा करेंगे। अभी हाल में केंद्रीय गृह मंत्री पश्चिम बंगाल के दो दिवसीय दौरे से लौटे हैं।

शीर्ष नेताओं को राज्य इकाई के भीतर के मुद्दों को समझने काम दिया गया

शीर्ष नेताओं को राज्य इकाई के भीतर के मुद्दों को समझने काम दिया गया

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) बीएल संतोष द्वारा शीर्ष नेताओं को राज्य इकाई के भीतर के मुद्दों को समझने और विभिन्न गुटों के साथ बातचीत करने का काम दिया है। माना जा रहा है कि पार्टी इसके जरिए एक संदेश भेजने की कोशिश कर रही है कि केंद्रीय नेतृत्व उनकी शिकायतों को सुन रहा है और उनके मनोबल भी को बढ़ाना चाह रहा है। नेताओं को अपने दौरे के दौरान राज्य के विभिन्न इलाकों की क्षेत्रवार एक विस्तृत रिपोर्ट संकलित करने के लिए भी कहा गया है।

उत्तर बंग का पर्यवेक्षण राष्ट्रीय सचिव हरीश द्विवेदी और शिव प्रकाश करेंगे

उत्तर बंग का पर्यवेक्षण राष्ट्रीय सचिव हरीश द्विवेदी और शिव प्रकाश करेंगे

उत्तर बंग का पर्यवेक्षण राष्ट्रीय सचिव हरीश द्विवेदी और शिव प्रकाश, राष्ट्रीय संयुक्त महासचिव (संगठन) द्वारा किया जाएगा, जबकि नबादिप की जिम्मेदारी राष्ट्रीय सचिव विनोद तावड़े और संयुक्त महासचिव (संगठन) किशोर बर्मन को दिया गया है। वहीं, कोलकाता क्षेत्र की समीक्षा का काम दुष्यंत गौतम, राष्ट्रीय महासचिव और राज्य महासचिव (संगठन) अमिताव चक्रवर्ती को दी गई है।

कैलाश विजयवर्गीय और राष्ट्रीय सचिव सुनील देवधर को हुगली में करेंगे दौरा

कैलाश विजयवर्गीय और राष्ट्रीय सचिव सुनील देवधर को हुगली में करेंगे दौरा

राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और राष्ट्रीय सचिव सुनील देवधर को हुगली और मेदिनीपुर में राज्य सरकार का मुकाबला करने के लिए उन मुद्दों, ताकत और कमजोरियों और क्षेत्रों पर एक विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत देने के लिए कहा गया है और रारह बंग की जिम्मेदारी दो राष्ट्रीय सचिवों विनोद सोनकर और अरविंद मेनन द्वारा की जा रही है। भाजपा के एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक पार्टी के पदाधिकारियों और प्रतिनिधियों के साथ संवाद करने के अलावा, जिला इकाइयों और संभावित नेताओं का विश्लेषण पर काम किया जा रहा है, जो टीएमसी पर प्रभाव डाल सकते हैं।

रिपोर्ट नवंबर के अंत तक पार्टी प्रमुख जेपी नड्डा को सौंपे जाने की संभावना

रिपोर्ट नवंबर के अंत तक पार्टी प्रमुख जेपी नड्डा को सौंपे जाने की संभावना

गौरतलब है यूनिट ने राज्य के शीर्ष नेताओं को एक-दूसरे के साथ लड़ते हुए देखा है। दरअसल, टीएमसी के नेताओं के आने से पार्टी में कुछ परेशानी पैदा हुी थी, जिससे उनमें मतभेद पैदा हो गए थे। इसे हल करने के लिए दिल्ली में बैठकें हुई हैं। अब केंद्रीय प्रतिनिधि दौरा कर रहे हैं और बंगाल में भाजपा की जीत सुनिश्चित करने के लिए बातचीत कर मामले को सुलझा रही हैं। रिपोर्ट नवंबर के अंत तक पार्टी प्रमुख जेपी नड्डा को सौंपे जाने की संभावना है।

2021 की पहली छमाही में होना है पश्चिम बंगाल के 294 सीट के लिए मतदान

2021 की पहली छमाही में होना है पश्चिम बंगाल के 294 सीट के लिए मतदान

पश्चिम बंगाल विधानसभा की 294 सीटों के लिए अगले साल की पहली छमाही में मतदान होना है। भाजपा पश्चिम बंगाल में अपने लोकसभा प्रदर्शन को बेहतर करना चाहती है। 2019 के आम चुनावों में भाजपा ने कुल 42 लोकसभा सीटों में से 18 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The BJP central leadership is preparing vigorously to wrest power from the ruling Mamata Banerjee government in the West Bengal assembly elections due in 2021. In view of this preparation, the BJP has engaged its top functionaries under the necessary strategy. Top officials have been sent to visit West Bengal to present the ground report in the state. Recently, Union Home Minister Amit Shah has also returned from a two-day visit to Bengal.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X