• search
हिमाचल प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

हिमाचल प्रदेश में बारिश ने मचाया कहर, भूस्खलन से 8 लोगों के मलबे में दबने की आशंका

Google Oneindia News

शिमला, 20 अगस्त: हिमाचल प्रदेश के कई इलाके लगातार हो रही बारिश के चलते बदहाल हैं। सामान्य जनजीवन बुरी तरह प्रभावित है। नदी नाले उफान पर हैं। सड़कें मलबे में तब्दील हो चुकी हैं। खराब मौसम के चलते मंडी और चंबा जिले के तीन तहसील क्षेत्रों में स्कूलों में छुट्टी कर दी गई है। धर्मशाला में कोतवाली बाजार से दलाई लामा मंदिर का रास्ता बंद है। वहीं कुल्लू मनाली नेशनल हाईवे पर भी जगह जगह भारी भूस्खलन के चलते यातायात को वैकल्पिक मार्गों से भेजा जा रहा हैं। सड़कों को बहाल करने में लगे लोक निर्माण विभाग के कर्मियों को बारिश के चलते परेशानी हो रही है।

Recommended Video

    हिमाचल के कांगड़ा में भारी बारिश के बीच टूटा रेलवे पुल, सामने आया वीडियो
    himachal pradesh

    मंडी जिले के नाचन इलाके की काशन पंचायत में प्रधान समेत परिवार के आठ लोगों के मलबे में दबने के समाचार आ रहे हैं। बताया जा रहा है। कि मंडी जिला के गोहर विकास खंड के अन्तर्गत काशन पंचायत में भयंकर भूस्खलन से पंचायत प्रधान खेम सिंह का घर जमींदोज़ हो गया है। मकान के अंदर खेम सिंह सहित परिवार के सात लोग दबे हुए बताए जा रहे हैं, इस समय स्थानीय लोग स्वयं जमींदोज हुए मकान के लेन्टर को तोड़कर अंदर फंसे लोगो को निकालने का प्रयास कर रहे हैं, प्रशासन भी मौजूद है। मकान के पहली मंजिल में लेन्टर तथा दूसरी मंजिल में चादरें डाली गई थी।

    खराब मौसम को देखते हुए लाहौल जिला प्रशासन ने मनाली लेह सडक मार्ग पर यात्रा ना करने की एडवाइजरी जारी की है। जिला पुलिस के अनुसार लाहौल घाटी में मौसम खराब है। स्थानीय लोगों और पर्यटकों को हिदायत दी गई है कि वे खराब मौसम में नदी-नालों की तरफ ना जाएं और अनावश्यक यात्रा से बचें।

    वहीं, उपायुक्त डीसी राणा ने बताया कि लगातार बारिश और अवरुद्ध सड़क मार्गों को देखते हुए डलहौजी, सिहुंता व चुवाड़ी तहसील के सभी शैक्षणिक संस्थानों को शनिवार को बंद रखने के निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने बताया कि यह निर्णय लगातार बारिश व अवरुद्ध सड़क मार्गो के चलते विद्यार्थियों की सुरक्षा के लिए एहतियातन लिया गयाहै । वहीं प्रशासन ने मणिमहेश यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं को चंबा से आगे खराब मौसम के चलते यात्रा ना करने की सलाह दी है।

    मणिमहेश यात्रा फिलहाल रोकी गई
    डीसी राणा ने बताया कि लगातार हो रही भारी बारिश की वज़ह से फ़िलहाल भरमौर की तरफ यात्रा करना अभी सुरक्षित नहीं है। मणिमहेश यात्रा के श्रद्धालुओं से अनुरोध है कि चंबा या मैहला से आगे अभी यात्रा न करें। उन्होंने चंबा पहुंच चुके श्रद्धालुओं से कहा है कि वे चंबा या मैहला में विश्राम करें और प्रशासन के आगामी आदेश का इंतजार करें। बिना पंजीकरण किसी को भी आगे जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है।

    भारी भूस्खलन के कारण मंडी कुल्लू वाया कटौला सड़क मार्ग कमांद के पास बंद हो गया है, जिससे वाहनों की आवाजाही रोक दी गई है। मंडी जिला में भारी बरसात के चलते सामान्य जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ हे। कई गांवों का संपर्क टूट गया है। सडकें मलबे में तबदील हो चुकी है, जिसके चलते प्रशासन ने आज सभी स्कूल बंद रखने का निर्णय लिया है।

    हेल्पलाइन नंबर जारी
    प्रशासन की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि जिले में पिछले दो दिन से लगातार बारिश जारी है और अगले 24 घंटे भारी बारिश के अलर्ट को देखते हुए शनिवार को जिले के सभी स्कूलों में अवकाश रखा गया है। किसी भी प्रकार की आपात स्थिति में तत्काल जिला आपदा प्रबंधन परिचालन केंद्र मंडी के दूरभाष नम्बर 01905-226201,202,203,204 अथवा टोल फ्री 1077 नम्बर पर सूचित करने की अपील की गई है।

    ये भी पढे़ं- Chhattisgarh Weather : प्रदेश में भारी बारिश को लेकर फिर अलर्ट जारी, बाढ़ का खतरा टला नहीं हैये भी पढे़ं- Chhattisgarh Weather : प्रदेश में भारी बारिश को लेकर फिर अलर्ट जारी, बाढ़ का खतरा टला नहीं है

    Comments
    English summary
    Heavy Rains In Himachal Pradesh, Schools In Mandi And Chamba To Remain Closed
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X