• search
छत्तीसगढ़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

फिर बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले, बचाव के लिए छत्तीसगढ़ में नई गाइडलाइन जारी

कोरोना ने एक बार फिर छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य महकमे की चिंता बढ़ा दी हैं। गुरुवार को रायपुर में समेत प्रदेश में 23 कोरोना संक्रमण के मामले प्रकाश में आये थे,जबकि फ़िलहाल में प्रदेशभर में 89 कोरोना के मरीज सक्रिय हैं।
Google Oneindia News

रायपुर, 10 जून। कोरोना ने एक बार फिर छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य महकमे की चिंता बढ़ा दी हैं। गुरुवार को रायपुर में समेत प्रदेश में 23 कोरोना संक्रमण के मामले प्रकाश में आये थे,जबकि फ़िलहाल में प्रदेशभर में 89 कोरोना के मरीज सक्रिय हैं। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक छत्तीसगढ़ में एक दिन में 3,165 कोरोना सैंपल की जांच हुई थी ,जिसमे पाजिटिविटी दर 0.73 प्रतिशत दर्ज की गई थी । ताजा हालातों को देखते हुए छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य विभाग कोविड 19 के संबंध में एक नई गाइडलाइन जारी कर दी है।

j
छत्तीसगढ़ सरकार की तरफ से कोविड-19 को लेकर जारी की गई नई गाइडलाइन में फिर से सतर्कता बरतने की हिदायत दी गई है। रायपुर के कलेक्टर, मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी और सिविल सर्जन जैसे अधिकारियों को नई गाइडलाइन जारी की गई है और उसे अमल में लाने के निर्देश दिए गए हैं। विशेष बात यह है कि गाइडलाइन में यह स्पष्ट तौर पर कहा गया है कि कुछ दिनों में कोरोना संक्रमण के पॉजिटिव मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है जो की चिंता का विषय है। गौरतलब है कि आठ जून को बलौदाबाजार के ग्राम जुनवानी में 32 वर्षीय युवक राजेश की कोरोना से मृत्यु हो गई थी। जानकारी के मुताबिक राजेश किराने का व्यवसाय करते थे। पांच जून की दोपहर पेट में दर्द की शिकायत उसे राजधानी रायपुर के निजी अस्पताल भर्ती कराया था ।जांच के कोरोना पोज़िटिव पाया गया था.जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई थी।
यह भी पढ़ें छत्तीसगढ़ के दौरे पर केंद्रीय मंत्री भानुप्रताप सिंह वर्मा , कहा- केंद्र से नहीं मिल रही राशि तो बताइये

नई गाइडलाइन में क्या है?

संक्रमण से बचने के लिए मास्क के उपयोग को प्रोत्साहित किया जाए। भीड़भाड़ वाले स्थानों , सार्वजनिक सभागृह, जहां हवा कम हो ,ऐसी स्थानों पर मास्क पहनने के लिए प्रेरित किया जाए।

कोविड-19 टीकाकरण की प्रिकॉशन डोज के संबंध में जनता को विशेष तौर पर प्रोत्साहित करने प्रयास किया जाए।

अस्पतालों में प्राथमिक जांच और आईपीडी में आने वाले मरीजों में भी लक्षण के मुताबिक कोविड-19 जांच अवश्य की जाए। डायरिया इत्यादि के साथ भर्ती होने वाले मरीजों की भी कोविड-19 जांच की जानी है।

कोविड-19 संक्रमण से बचने के लिए फिजिकल डिस्टेंसिंग के महत्व को समझाया जाये।

यह भी पढ़ें छत्तीसगढ़: नक्सली कमांडर पहुंचा इलाज करवाने, बेमेतरा पुलिस ने किया अस्पताल सील

Comments
English summary
Corona cases are increasing again, new guidelines issued in Chhattisgarh for rescue
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X