• search
छत्तीसगढ़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

छत्तीसगढ़: नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने बेरोजगारी के आंकड़ों पर उठाया सवाल, कांग्रेस ने दिया यह जवाब

छत्तीसगढ़ विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने राष्ट्रीय लेबर फोर्स सर्वे की रिपोर्ट के हवाले से छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी बढ़ने की बात कही है। कांग्रेस ने इसका जवाब भी दिया है।
Google Oneindia News

छत्तीसगढ़ में सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच बेरोजगारी के आकंड़ो को लेकर बहस छिड़ गई है। राष्ट्रीय लेबर फोर्स सर्वे की रिपोर्ट के हवाले से छत्तीसगढ़ विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी बढ़ने की बात कही है,तो वही कांग्रेस ने इसे गलत संदर्भ में पेश करने का आरोप लगाया है।

narayan chandel sushil anand shukla
भाजपा के वरिष्ठ नेता और नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार के फर्जी आंकड़ों की पोल खुल गई है। सीएम भूपेश की आंकड़ेबाजी का ढोल फूट गया है। देश के 19 राज्यों में 5 प्रतिशत तक बेरोजगारी घटी है अर्थात रोजगार बढ़ा है लेकिन छत्तीसगढ़ में रोजगार घटे हैं और बेरोजगारी बढ़ी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सार्वजनिक रूप से झूठ बोलते हैं कि 4 साल में 5 लाख नौकरी दे दी किंतु विधानसभा में ऐसा दावा करने की हिम्मत नहीं दिखाते। वहां उनका झूठशास्त्र उनके बैग से बाहर नहीं निकलता।

नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में रोजगार घट रहा है, बेरोजगारी बढ़ रही है और मुख्यमंत्री बेरोजगारी खत्म होने का ढिंढोरा पीटते हैं। एक तरफ देश में रोजगार बढ़ रहे हैं, दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ में रोजगार घट रहे हैं। देश विकास कर रहा है, छत्तीसगढ़ पिछड़ रहा है। देश आर्थिक महाशक्ति बन गया है और कांग्रेस सरकार की कुनीतियों के कारण छत्तीसगढ़ कर्ज के बोझ तले दबे गया है। नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में रोजगार इसलिए घटा है और बेरोजगारी बढ़ी है क्योंकि युवा पीढ़ी को रोजगार नसीब नहीं है। कुछ युवा अवसाद में मृत्यु को गले लगा रहे हैं तो कुछ युवा गलत रास्ते पर जा रहे हैं। यह सरकार छत्तीसगढ़ के लिए एक त्रासदी सिद्ध हुई है।

इधर नेता प्रतिपक्ष के सवाल पर छत्तीसगढ़ कांग्रेस के मीडिया इंचार्ज सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा नेता आवधिक श्रम बल सर्वेक्षण PLFS की ताजा रिपोर्ट को प्रदेश के संदर्भ में गलत प्रस्तुत कर रहे है। छत्तीसगढ़ कांग्रेस संचार विभाग अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि इस रिपोर्ट के अनुसार भी अन्य राज्यों की अपेक्षा आज भी छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी दर सबसे कम है। बल्कि इस रिपोर्ट ने रोजगार के संबंध में मोदी सरकार की नाकामियों को उजागर किया है। आवधिक श्रम बल सर्वेक्षण PLFS के निष्कर्षो के मुताबिक ग्रामीण और शहरी भारत दोनो में 1972 के बाद बेरोजगारी दर सबसे ज्यादा है। इसका सीधा अर्थ है मोदी सरकार देश के लोगों को रोजगार उपलब्ध करा पाने में पूरी तरह असफल साबित हुई है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने आगे कहा कि जब 2018 में बीजेपी की सरकार छत्तीसगढ़ में थी, तब छत्तीसगढ़ की बेरोजगारी दर 22 फीसदी थी। आज छत्तीसगढ़ की बेरोजगारी दर आधा फीसदी से भी कम है, जो देश में सबसे कम है।

यह भी पढ़ें Tiger in Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में फिर दिखा टाइगर, बीजापुर के बाद गरियाबंद में गूंजी बाघ की दहाड़

Comments
English summary
Chhattisgarh: Leader of Opposition Narayan Chandel raised questions on unemployment figures, Congress gave this answer
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X