• search
भोपाल न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

मुस्लिम दंपति ने करवाई अनाथ बच्ची की शादी, धर्म नहीं जानते थे तो अपनाया ये तरीका

|

भोपाल। देश की राजधानी दिल्ली भले ही दंगों की आग में जली हो, मगर मध्य प्रदेश के उज्जैन में एक मुस्लिम दंपति ने भाईचारे और सौहार्द की मिसाल पेश की है। निर्भया आश्रय गृह चलाने वाले इस दंपति ने एक अनाथ लड़की को अपनी बेटी मानकर उसकी शादी करवाई है।

 Muslim couple got married to orphaned girl

निर्भया आश्रय गृह का संचालन समर खान ने बताया कि आश्रम में रहने वाली चंचल के सिर से पांच साल की उम्र में माता-पिता का साया उठ गया। उसकी देखभाल करने को कोई रिश्तेदार तैयार नहीं हुआ और उसे उज्जैन स्थित एक आश्रम में भेज दिया। फिर वह भोपाल के आश्रम में रही और 18 साल की होने के बाद हमारे आश्रम में शिफ्ट हुई।

उदयपुर : 25 साल की मनाली ने 20 साल से बढ़ाए 4 फीट लंबे बाल कैंसर पीड़ितों के लिए किए दान

हम तो उसका धर्म तक नहीं जानते। वह आश्रम में पली-बढ़ी। यहां पर फैशन डिजाइनिंग कोर्स करवाया। जब शादी लायक हुई तो विज्ञापन दिया, जिसके आधार पर कई प्रस्ताव आए। इससे पहले उसने कुछ साल पहले एक गुरुद्वारे में पंजाबी शादी देखी और हमें बताया कि वह भी सिख परंपराओं के अनुसार शादी करना चाहती थी।

इसलिए हमने दूल्हे विवेक के परिवार से बात की और वे सहमत हो गए। शादी बुधवार सुबह ईदगाह हिल्स गुरुद्वारा में कराई गई। सिख समुदाय में विवाह को आनंद कारज कहा जाता है। कन्यादान मनु व्यास और उनकी पत्नी रश्मि व्यास ने कन्यादान किया। उन्होंने लड़की के माता-पिता की जिम्मेदारी पूरी की।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Muslim couple got married to orphaned girl
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X