• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

Exclusive: 2013 के बाद उत्तराखंड में दूसरी 'प्रलय', Video में देखिए तबाही का पूरा मंजर

|
Google Oneindia News

रामनगर, 20 अक्टूबर: उत्तराखंड में हुई लगातार और भारी बारिश ने जमकर कहर मचाया है। रविवार दोपहर से शुरू हुई बारिश के बाद बिगड़े हालात में उत्तराखंड के अलग-अलग इलाकों में अभी तक 40 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है, जबकि कई लोग अभी भी लापता बताए जा रहे हैं। बारिश की वजह से जहां चारधाम यात्रा प्रभावित हुई, वहीं नैनीताल और रामनगर के जिम कॉर्बेट पार्क इलाके में हिल स्टेशनों का भी बुरा हाल है। बारिश का पानी कई लग्जरी रिजॉर्ट के भीतर घुस गया और पर्यटकों को छतों पर चढ़कर अपनी जान बचाने के लिए मजबूर होना पड़ा। इस बीच हम आपको एक ऐसा वीडियो दिखाने जा रहे हैं, जिसमें महज 24 घंटों के भीतर एक लग्जरी रिजॉर्ट पूरी तरह पानी-पानी हो गया। (वीडियो: खबर के अंत में)

बादलों के बीच बेहद खूबसूरत था घाटी का नजारा

बादलों के बीच बेहद खूबसूरत था घाटी का नजारा

दशहरे के बाद बड़ी संख्या में लोग उत्तराखंड के जिम कॉर्बेट पार्क इलाके में बने लग्जरी रिजॉर्ट और होटलों में छुट्टियां बिताने के लिए पहुंचे थे। रविवार को मौसम विभाग ने अलर्ट देते हुए पूरे उत्तराखंड में भारी बारिश की चेतावनी जारी की और सोमवार तक बारिश ने रफ्तार पकड़ ली। जिम कॉर्बेट पार्क के बीच से बहने वाली कोसी नदी के किनारे घाटी में बना हुआ ये खूबसूरत रिजॉर्ट भी पर्यटकों से भरा हुआ था और सोमवार को पहाड़ों के बीच से गुजरते बादल एक बेहद खूबसूरत नजारा बना रहे थे। रिजॉर्ट के ठीक सामने बह रही नदी में भी पानी बहुत कम था और कुछ लोग किनारे पर खड़े होकर फोटो ले रहे थे।

मंगलवार सुबह पूरे वेग पर कोसी, रिजॉर्ट मे घुसा पानी

मंगलवार सुबह पूरे वेग पर कोसी, रिजॉर्ट मे घुसा पानी

हालांकि सोमवार रात को हुई मूसलाधार बारिश ने इस खूबसूरत मंजर को बेहद भयावह बना दिया। मंगलवार की सुबह जब लोग सोकर उठे तो बारिश की रफ्तार काफी तेज थी और कोसी नदी में बाढ़ आ चुकी थी। कोसी का पानी अपने पूरे वेग से बह रहा था। आसपास के लोगों ने बताया कि रिजॉर्ट के कमरों में बाढ़ का पानी घुस चुका है और लोगों को ऊपर वाले हॉल में शिफ्ट किया गया है। बाढ़ की वजह से रिजॉर्ट और आसपास के इलाकों में बिजली भी नहीं थी।

2013 के बाद दूसरी प्रलय!

2013 के बाद दूसरी प्रलय!

रिजॉर्ट के आसपास स्थानीय लोगों से जब पूछा गया कि कोसी नदी में इससे पहले पानी का इतना वेग कब दिखा था, तो उन्होंने बताया कि कोसी नदी में पानी कम ही रहता है और 2013 में जब केदारनाथ घाटी में प्रलय आई थी, तो उस वक्त इस नदी में पानी का ऐसा वेग दिखा था। हालांकि उस समय पानी का स्तर इससे भी ज्यादा था और आसपास के कुछ गांव पूरी तरह कोसी के बहाव में डूब गए थे।


बरसाती नालों ने डराया, पर्यटकों की सांसें अटकीं

बरसाती नालों ने डराया, पर्यटकों की सांसें अटकीं

वीडियो लेने के बाद जब हम रानीखेत रोड से नीचे की तरफ आए, तो कई बरसाती नाले अपने पूरे उफान पर थे और जगह-जगह पर्यटकों की गाड़ियां खड़ीं थी। कुछ और नीचे की तरफ आने पर पता चला कि मोहान चौकी के पास एक और लग्जरी रिजॉर्ट पानी में डूब गया है। इस रिजॉर्ट के लोगों ने छत पर चढ़कर अपने आपको बचाया और करीब दर्जनभर गाड़िया पानी में तैरती हुईं नजर आई। बाद में छत पर चढ़े पर्यटकों को ट्रैक्टर की मदद से बाहर निकालकर सुरक्षित जगहों पर ले जाया गया। स्थानीय लोगों ने बताया कि कोसी नदी का पानी गई गांवों को भी अपनी चपेट में ले चुका है।

देखिए वीडियो:-

कोसी की चपेट में आए कई गांव

कुछ और नीचे की तरफ आने पर पता चला कि मोहान चौकी के पास एक और लग्जरी रिजॉर्ट पानी में डूब गया है। इस रिजॉर्ट के लोगों ने छत पर चढ़कर अपने आपको बचाया और करीब दर्जनभर गाड़िया पानी में तैरती हुईं नजर आई। बाद में छत पर चढ़े पर्यटकों को ट्रैक्टर की मदद से बाहर निकालकर सुरक्षित जगहों पर ले जाया गया। स्थानीय लोगों ने बताया कि कोसी नदी का पानी गई गांवों को भी अपनी चपेट में ले चुका है। इस बीच आपदा से अंजान कुछ लोग ऐसे भी थे, जो पहाड़ों पर जाना चाहते थे और जिन्हें पुलिस-प्रशासन की टीमें समझाने में जुटीं थी।

ये भी पढ़ें-उत्तराखंड में चारधाम यात्रा फिर से शुरू, बद्रीनाथ जाने वाले हाईवे को दुरुस्त कर रहीं टीमें

Comments
English summary
Uttarakhand Rain Exclusive, Second Disaster After 2013 Watch Video Of Kosi River
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X