दोस्ती ऐसी कि बचपन से साथ में जिए, फ्रेंडशिप डे के दिन साथ में मरे

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

शाहजहांपुर। कल फ्रैंडशिप डे था। ये दिन दोस्ती के लिए बेहद खास होता है। लेकिन यूपी के शाहजहांपुर में दो दोस्त ऐसे थे जो दोस्ती के इस खास दिन पर एक साथ दुनिया को अलविदा कहे गए। दोनों बचपन के दोस्त थे एक साथ स्कूल मेx पढ़ने जाते थे एक साथ शादियों मे खाना बनाने का आर्डर लेते थे और एक साथ ही शादियों मे जाकर खाना बनाते थे। क्या पता था कि दोस्ती के त्यौहार पर दोनों दुनिया से एक साथ रूखसत हो जाएंगे। एक्सीडेंट मे मौत की खबर घर पहुची तो दोनों के घरों मे मातम छा गया।

दोस्ती ऐसी कि बचपन से साथ जिए, फ्रेंडशिप डे के दिन साथ मरे

यह घटना जलालाबाद के कोलापुल की है। यहां बीते रविवार की शाम को दो दोस्त 25 वर्षीय राजीव सक्सेना और 27 वर्षीय अर्जुन, एक बाईक पर मिर्जापुर से अपने घर जलालाबाद लौट रहे थे। दोनों किसी काम से मिर्जापुर गए थे। वहां से लौटते वक्त कोलापुल पर आने के बाद ट्रक से टक्कर हो गई। जिसमें दोनों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। मृतक अर्जुन के भाई निममों ने बताया कि उसका भाई अर्जुन राजीव का बचपन का दोस्त था। वह बचपन से ही एक साथ रहते थे। अगर एक दोस्त को कहीं जाना होता था तो दूसरा दोस्त उसके साथ जरूर जाता था। जब दोनों बड़े हुए तो दोनों ने एक ही साथ काम सीखा खाना बनाने का। दोनो एक साथ शादियों का आर्डर लाते थे और दोनों दोस्त एक साथ शादियों मे खाना बनाने जाते थे। दोनों की दोस्ती एक मिसाल थी।

जब इस हादसे की खबर दोनो मृतकों के घर पहुची तो कोई भी यकीन नही कर पा रहा था कि दोनो दोस्त अब इस दुनिया मे नही रहे। वहीं जब हादसे की खबर मोहल्ले मे रहने वाले लोगों को मिली तो लोग अपने आंसू नही रोक पा रहे थे। हर किसी की जुबान पर बस एक ही बात थी कि बचपन की दोस्ती मरते दम तक निभाई और एक साथ एक्सिडेंट में मरने के बाद बाद दुनिया से अलविदा कहे गए।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Two childhood friends died in a road accident on friendship day in Shahjahanpur
Please Wait while comments are loading...