'मौत' के 2 साल बाद जिंदा लौट आया बेटा, रोकर बताई 'मायानगरी' में मिले दर्द की दास्तां

Subscribe to Oneindia Hindi

सुलतानपुर। पिता ने जिस बेटे की हत्या का आरोप लगाकर रिश्तेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया था। सवा दो साल बाद वह बेटा वापस आ गया तो सब चौंक उठे। युवक ने ढाई वर्षों तक मुंबई में इतनी परेशानियां झेलीं कि वह अभी तक सदमे में है। वह ठीक ढंग से अपनी परेशानी बता भी नहीं कर पा रहा है। फिलहाल पुलिस युवक से पूछताछ कर रही है।

कादीपुर कोतवाली के कसियांवा गांव का मामला

कादीपुर कोतवाली के कसियांवा गांव का मामला

कादीपुर कोतवाली के कसियांवा निवासी राजेन्द्र निषाद का पुत्र संदीप मुंबई से आने के बाद अभी भी दहशत में है। ढाई साल यह कहां और किस हाल में रहा, ठीक से बता नहीं पा रहा है। दरअसल संदीप 29 दिसंबर 2015 को काम की तलाश में मुंबई गया था। संदीप को नौकरी दिलाने की बात कहकर लम्भुआ कोतवाली के जियनपुर निवासी उसका रिश्तेदार बिल्ले उसे मुंबई ले गया था। काफी दिनों तक जब संदीप की कोई खबर नहीं मिली, तो उसके परिजन परेशान हो गए।

रिश्तेदार ले गया था अपने साथ

रिश्तेदार ले गया था अपने साथ

रिश्तेदार से पूछा तो उसने भी ठीक से बात नहीं की और न ही संदीप का कोई ठिकाना बताया। कई बार पूछने पर जब बिल्ले ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया तो परिजनों को संदीप के साथ किसी अनहोनी का संदेह हुआ। परिजनों को रिश्तेदार पर शक हुआ। पिता राजेन्दर ने लम्भुआ कोतवाली में बेटे की हत्या कर शव गायब करने का आरोप लगाते हुए बिल्ले के खिलाफ तहरीर दी, लेकिन पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया। इसके बाद पिता ने अदालत की शरण ली। मामले की गम्भीरता देखते हुए कोर्ट के आदेश पर 21 अगस्त 2017 को पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर तफ्तीश शुरू की।

'मायानगरी' मुंबई से लौटा बेटा

'मायानगरी' मुंबई से लौटा बेटा

पिछले कुछ दिनों से पुलिस आरोपी बिल्ले की गिरफ्तारी के लिए भी प्रयास कर रही थी। गुरुवार को संदीप अपने घर कादीपुर पहुंचा। पिता राजेन्द्र ने संदीप के घर पहुंचने की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने शनिवार को संदीप को पूछताछ के लिए कोतवाली बुलवाया। एसएचओ लम्भुआ धर्मराज उपाध्याय ने बताया कि हत्या के इस मामले में अभियुक्त गुड्डू निषाद की संलिप्तता प्रथम दृष्या संदिग्ध नहीं प्रतीत हुई थी। लिहाजा, इस केस मे पुलिस को खासी मशक्कत करनी पड़ी। संदीप की सकुशल बरामदगी से न केवल पुलिस को राहत मिली, बल्कि गुड्डू निषाद पर दर्ज मुकदमे के खत्म होने का भी मार्ग प्रशस्त हो गया है।

ये भी पढ़ें- सिंगर परमीश वर्मा को गोली मारने वाले गैंग के गुर्गे को किया गिरफ्तार

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
son came after 2 years as his father lodge his murder complain against his relative

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.