• search
सूरत न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

कौन है मनीषा गोस्वामी, जिसे पुलिस ने बनाया भाजपा नेता जयंती भानुशाली हत्या का आरोपी

|

Gujarat police, सूरत। भाजपा के पूर्व विधायक जयंती भानुशाली की सोमवार रात करीब 2 बजे चलती ट्रेन में गोली मारकर हत्या कर दी गई। वे सयाजी नगरी ट्रेन से अहमदाबाद से भुज जा रहे थे। पुलिस ने इस मामले में मनीषा गोस्वामी नाम की महिला को नामजद किया है। मनीषा वापी की रहने वाली है, वह पति गजु गोस्वामी और अपनी दो संतानों साथ के रहती है।

अज्ञात बदमाशों ने कटारिया-सुरजबारी में मारी गोली

अज्ञात बदमाशों ने कटारिया-सुरजबारी में मारी गोली

जानकारी के अनुसार, जयंती भानुशाली को कुछ बदमाशों ने एसी कोच में निशाना बनाया। यह वारदात कटारिया-सुरजबारी स्टेशन के बीच हुई। हमलावरों ने एक गोली जयंती की आंख में और दूसरी छाती पर मारी। उनके खिलाफ पिछले साल सूरत की एक लड़की ने बलात्कार की शिकायत दर्ज कराई थी। हालांकि, लड़की ने बाद में हाईकोर्ट में बयान देकर केस वापस ले लिया था। वहीं, जयंती की हत्या के बाद पुलिस ने मनीषा और भाजपा के पूर्व विधायक छबील पटेल के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

मनीषा ने 10 करोड़ मांगे थे?

मनीषा ने 10 करोड़ मांगे थे?

बताया जा रहा है कि पांच दिन पूर्व मनीषा अपने घर से कच्छ जाने के लिए रवाना गुई थी। अभी उसका फोन स्विच ऑफ हो गया है। जबकि, छबील पटेल के अमेरिका में होने की खबरें आई हैं। इन दो के अलावा पुलिस ने सिध्दार्थ पटेल, जयंती ठक्कर और उमेश परमार की भी तलाश शुरू कर दी है। इन सभी की जयंती भानुशाली से रंजिश बताई जा रही है। इनके बीच संघर्ष की शुरुआत भानुशाली के भतीजे की वीडियो क्लिप से शुरू हुई थी। आरोप हैं कि मनीषा ने भानुशाली के भतीजे की वीडियो क्लिप को वायरल करने की धमकी देकर 10 करोड़ मांगे थे।

जयंती का भतीजा सुनील मनीषा को 5 साल से जानता था

जयंती का भतीजा सुनील मनीषा को 5 साल से जानता था

इस मामले में अहमदाबाद के नरोदा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज की गई थी। पुलिस के अनुसार, जयंती का भतीजा सुनील मनीषा गोस्वामी को पांच साल से जानता था। कुछ माह पहले मनीषा ने सुनील को अहमदाबाद के एक फार्महाउस पर बुलाया था। आरोप है कि वहां सुनील को स्प्रे के माध्यम से बेहोश कर दिया गया था। जिसके बाद सुनील ने शिकायत दर्ज कराई थी कि एक लड़की के साथ उसका अश्लील वीडियो बनाया गया है।

फसल बर्बाद हुई तो गुजरात में किसान ने जहर खाकर दी जान, बिलखती रह गईं 6 संतानें

भानुशाली मनीषा को पैसे देने के लिए राजी हो गए

भानुशाली मनीषा को पैसे देने के लिए राजी हो गए

इस घटना से गुस्साई मनीषा ने सुनील के वीडियो को वल्गर कहा और 10 करोड़ रुपए मांगे। मनीषा ने कहा कि या तो वो इतने पैसे दे नहीं तो वीडियो वायरल कर दिया जाएगा। इस बारे में सुनील ने अपने चाचा जयंती भानुशाली से बात की। भानुशाली ने सुनील की बात सुनी और मनीषा से मिलने को राजी हो गए। बीती फरवरी तक मनीषा और सुनील के बीच कहानी चलती रही। मार्च में इस केस में भानुशाली को लेकर भी चर्चे शुरू हो गए। जिसके बाद कहा जाता है कि भानुशाली मनीषा को पैसे देने के लिए राजी हो गए।

25 लाख रुपये के टोकन मनी का भुगतान किया

25 लाख रुपये के टोकन मनी का भुगतान किया

मनीषा ने पूरे 10 करोड़ की मांग की और टोकन मनी के रूप में 25 लाख रुपये भी देने को कहा। भानुशाली ने 25 लाख रुपये के टोकन मनी का भुगतान किया। जिसके बाद दोनों अहमदाबाद के एसजी हाईवे पर भी मिले। वहां दोनों के बीच क्या हुआ, पुलिस ये जानने में भी जुट गई है।

गांव वालों ने पशुओं को घेरकर विधायक के अहाते में भेजा, शिकायत में बोले- सरसों को खा गए थे

मनीषा की छबील पटेल से बातें होती थीं?

मनीषा की छबील पटेल से बातें होती थीं?

पुलिस ने सोमवार को हुई भानुशाली की हत्या में मनीषा की भूमिका को लेकर भी जगह-जगह साक्ष्य जुटाने शुरू कर दिए हैं। वहीं, पता चला है कि मनीषा की छबील पटेल से बातें होती थीं। अब पुलिस दोनों को खोज रही है। इसके बाद ही मामले का खुलासा हो सकेगा।

जीते-जागते मदरसा टीचर को लेखपाल और सेक्रेटरी ने कागजों में मार दिया, सगे-संबंधियों ने जमीन-जायदाद हड़प ली

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Who Is Manisha Goswami, Gujrat police registered Her Name in Case of BJP leader Jayanti Bhanushali murder?
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X