• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

'मेरा वजन 117 किलोग्राम था', चेन्नई के स्पिनर ने संघर्ष भरे दिनों को किया याद

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) आईपीएल 2022 में वैसा प्रदर्शन नहीं कर पाई, जिसके लिए वह जानी जाती है। हालांकि, कुछ खिलाड़ियों ने दम दिखाते हुए जरूर प्रशंसा बटोरी। मिस्ट्री स्पिनर महेश थीक्षाना को शुरूआती मैचों में माैके नहीं मिले थे, लेकिन जब प्लेइंग इलेवन में मौका मिला तो उन्होंने इस मौके का पूरा फायदा उठाया। थीक्षाना ने सीएसके को बीच के ओवरों में महत्वपूर्ण विकेट लेने में मदद की है और उन्होंने अब तक आठ में से 12 विकेट लिए हैं।

Maheesh Theekshana

कुछ साल पहले थीक्षाना के लिए सब कुछ सही नहीं था और सफलता को अर्जित करने के लिए उन्हें कड़ी मेहनत करनी पड़ी थी। 21 साल के थीक्षाना को 2022 की मेगा नीलामी में 70 लाख में चुना गया था। उन्होंने बताया कि कैसे अपने लिए 117 किलोग्राम के वजन के साथ एक नाम बनाने और सफलता हासिल करने के लिए अपने फिटनेस संघर्षों को पार किया। उन्होंने यह भी कहा कि सीएसके के लिए खेलना उनके लिए एक सपने के सच होने जैसा था।

यह भी पढ़ें- वसीम जाफर बोले- सिर्फ सम्मान के कारण उसे चुनते हैं, अब गेंदबाज उससे डरते नहीं

थीक्षाना ने सीएसके के ट्विटर हैंडल पर अपलोड किए गए एक वीडियो में कहा, "मैं उस समय (अंडर-19 दिन) 117 किलोग्राम का था। मेरा शरीरा भारी था तो इसलिए यो-यो टेस्ट में अपना वजन और त्वचा में कसाव लाने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ी। 2022 तक मैंने खुद को फिट किया, फिर सही स्तर पर फिटनेस टेस्ट पास किया। मैंने अपने शरीर पर और अधिक मेहनत करना शुरू कर दिया।"

उन्होंने आगे कहा, "मैंने 2022 में अजंता मेंडिस के साथ बातचीत की और 2022 में मैंने धोनी भाई से भी बात की। मैं पिछले साल सीएसके के साथ नेट बॉलर के तौर पर जुड़ा हुआ था। मैंने कभी नहीं सोचा था कि वे इस साल मेरे लिए बोली लगाएंगे या मुझे चुनेंगे।" थीक्षाना ने यह भी खुलासा किया कि अंडर -19 दिनों के दौरान उन्हें अधिक वजन के कारण प्लेइंग इलेवन से बाहर रहना पड़ा था। हालांकि, उन्होंने अपने आत्मविश्वास को बरकरार रखा।

थीक्षाना ने कहा, "2017-18 में, मैं अंडर -19 टीम में था, लेकिन मुझे खेलने का मौका नहीं मिलता था क्योंकि मैं कई बार फिटनेस टेस्ट में फेल हो गया था। 2019 में मुझे तीन दिवसीय मैचों में वाटर बॉय के रूप में काम करना पड़ा था। इसलिए मैं जानता था कि अगर मैं फेल हो गया तो मुझे फिर से पानी की बोतलें लेकर जाना पड़ेगा। लेकिन मैं खुद पर विश्वास करता रहा और कभी न हार मानने वाला रवैया रखता था। इसलिए आज मैं यहां 2022 में हूं।''

Comments
English summary
I got everything down and brought my fitness to the level says Maheesh Theekshana
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X