• search
नोएडा न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

'बिल बढ़ाने के लिए महिला को वेंटीलेटर पर रखा, 6 लाख लेने के बाद ही सौंपी बॉडी', फोर्टिस अस्पताल का मामला

|

Noida news, नोएडा। नोएडा के सेक्टर 62 स्थित फोर्टिस अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती एक व्यापारी की पत्नी की मौत हो गई। परिजनों ने आरोप लगाया कि अस्पताल प्रबंधन और डॉक्टरों की लापरवाही से उनके मरीज की मौत हुई। परिजनों ने आरोप लगाते हुए कहा कि अस्पताल प्रबंधन ने बिल बनाने के लिए महिला को वेंटीलेटर पर रखा। महिला की मौत के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा किया। महिला के पति की ओर से कोतवाली सेक्टर-58 में लिखित शिकायत की है।

महिला को हुआ था स्वाइन फ्लू

महिला को हुआ था स्वाइन फ्लू

जानकारी के अनुसार, मेरठ के दवा व्यापारी और कंकरखेड़ा की शिवलोक कालोनी निवासी रजनीश कौशल की पत्नी विनिता कौशल को 2 फरवरी को सेक्टर 62 के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें स्वाइन फ्लू बताया गया था। हालत में सुधार न होने पर अस्पताल में डॉक्टर ने उनकी पत्नी को वेंटीलेटर पर रख दिया।

महिला की हालत में नहीं हुआ कोई सुधार

महिला की हालत में नहीं हुआ कोई सुधार

रजनीश कौशल का कहना है कि पत्नी की हालत में सुधार न होता देख उन्होंने रविवार को अस्पताल प्रबंधन से डिस्चार्ज करने को कहा। उनका कहना है कि वह अपनी पत्नी को इलाज के लिए एम्स लेकर जाना चाहते थे। अस्पताल प्रबंधन ने उनसे कहा कि डॉक्टर की विजिट के बाद उनकी पत्नी को डिस्चार्ज कर दिया जाएगा।

डॉक्टर पर भी गंभीर आरोप

डॉक्टर पर भी गंभीर आरोप

रजनीश कौशल का आरोप है कि उन्होंने कई बार डॉक्टर को विजिट करने के लिए फोन मिलाया, लेकिन न तो उनका फोन रिसीव हुआ और न ही अस्पताल प्रबंधन ने डॉक्टर को बुलाकर विजिट करायी। इसके बाद अस्पताल स्टॉफ ने उनकी पत्नी को वेंटीलेटर से हटा दिया। इसके कुछ ही देर बाद अस्पताल स्टॉफ ने उन्हें बताया कि उनकी पत्नी की मौत हो चुकी है।

अस्पताल प्रबंधन ने लापरवाही से किया इनकार

अस्पताल प्रबंधन ने लापरवाही से किया इनकार

विनिता की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा किया। हंगामे की सूचना पर पुलिस भी वहां पहुंच गई। काफी देर तक चले हंगामे के बाद अस्पताल प्रबंधन और डॉक्टर ने बताया कि मरीज की मौत बीमारी की वजह से हुई है। उनकी ओर से किसी तरह की लापरवाही नहीं बरती गई।

6 लाख रुपए लेकर शव सौंपा

6 लाख रुपए लेकर शव सौंपा

आरोप है कि अस्पताल प्रबंधन ने 6 लाख रुपए लेकर उन्हें शव सौंपा। इस मामले में फोर्टिस अस्पताल प्रबंधन का कहना कि मरीज को स्वाइन फ्लू था। उपचार के दौरान उनका बीपी बढ़ गया था, जिसके कारण उनकी किडनी फेल हो गई। उपचार के दौरान मरीज की मौत हुई। मृतका के परिजनों के आरोप गलत है, इलाज में किसी तरह की लापरवाही नहीं बरती गई। एसएचओ पंकज राय ने बताया कि मृतका के पति ने तहरीर दी है। पुलिस पूरे मामले की जांच पड़ताल कर उचित कार्रवाई करेगी।

ये भी पढ़ें: यूपी कैबिनेट मंत्री की बहू से हीरे के हार की लूट, गिरफ्त में कैसे आया लुटेरा?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
woman dead in fortis hospital kins alleges medical negligence
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X