• search
मिर्जापुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

पहली बार मिर्जापुर आए बिग बास फेम इमाम सिद्दीकी ने वेब सीरीज में मिर्जापुर नाम पर जताई आपत्ति

|

Mirzapur news, मिर्जापुर। वेब सीरीज में एतिहासिक शहर मिर्जापुर के नाम से बनाया जाना गलत है। वेब सीरीज से शहर की गलत छवि लोगों के पास जा रही है। मिर्जापुर जिला सांस्कृतिक विरासतो का जिला है, पर जब से मिर्जापुर वेब सीरीज बनी है। इंटरनेट पर सर्च करने पर मिर्जापुर की विरासत, यहां के पर्यटन और धार्मिक स्थलो के बजाए वेब सीरीज के बारे में ही आता है। मिर्जापुर वेब सीरीज में जो दिखाया गया है। मिर्जापुर वैसा नहीं है, पर सीरीज बनने से लोग उसी नजरिए से शहर को देख रहे है। मिर्जापुर की जनता को इसका विरोध करना चाहिए। यह बाते बिग बास सीजन छह से चर्चा में आए कास्टिंग डायरेक्टर इमाम सिद्दीकी पहली बार गृह जनपद पहुंचने पर पत्रकार वार्ता के दौरान कही।

Imam A Siddique gave statement on mirzapur web series

वेब सीरीज के लिए भी हो सेंसर बोर्ड

इमाम सिद्दीकी ने कहाकि इंटरनेट की अधिकता के चलते इस समय वेब सीरीज का जमाना आ गया है, पर इस पर परोसी जाने वाली सामग्री के लिए फिल्मो के सेंसर बोर्ड की तरह रेगुलेटिंग सिस्टम बनना चाहिए। जिससे उस पर हिसंक और अश्लीलता पर कंट्रोल किया जा सके।

इन बड़े कलाकारो को ऐड फिल्मो में किया है कास्ट

बताया कि उनके पिता अमीरुद्दीन सिद्दीकी का जन्म मिर्जापुर में हुआ था। वे हाकी के स्तरीय खिलाड़ी थे। उन्हें डेंजरेस्ट स्टेट फारवर्ड का खिलाब मिला। वे मुझे हाकी खिलाड़ी बनना चाहते थे, पर कुछ अलग कर गुजरने की तमन्ना ने कास्टिंग डायरेक्टर बना दिया। उसके फिल्मो में एक्टिंग करते थे। बताया कि ऐड फिल्मो के लिए उन्होंने ऐश्वर्या राय, मनीष मेहरोत्रा, अमीशा पटेल, अमृता राव, मल्लिका शेहरावत, जेनिलिया, कैरम मारिया, प्रियंका चोपड़ा आदि को कास्ट किया है। पिता ने वसुधैव कुटूंबकम की की तालिम दी है।

रिसर्च के लिए शुरु हुआ था बिग बास

बिग बास के बारे में बताया कि 20 साल पहले विदेशो में इसकी शुरुआत एक रिसर्च के रुप में हुई। जिससे पता लगे अलग-अलग क्षेत्र से आने वाले अनजान लोग कैसे एक स्थान पर रहकर बिना बाहरी दुनिया के संपर्क में आए जीवन व्यतीत करते है। शो को पापुलर करने के लिए इसमें सेलिब्रेटिज को शामिल किया जाने लगा। जिससे लोग उनके बारे में जाने। मोदी सरकार के स्वच्छता मिशन की तारीफ करते हुए कहाकि समय है कि महात्मा गांधी के तीन बंदरो के संदेश के बाद चौथा बुरा मत सोचने का है। मिर्जापुर पहली बार आना हुआ, आगे आते रहेंगे। संशाधनो के चलते छोटे शहर से प्रतिभाओं को आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता।

10 साल से पाकिस्तान की जेल में बंद है मिर्जापुर का युवक, परिवार की तलाश में गृह मंत्रालय

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Imam A Siddique gave statement on mirzapur web series
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X