तालिबान ने मेरी बेटी को मारा, पत्नी का रेप किया- जोशुआ बोयल

Posted By: BBC Hindi
Subscribe to Oneindia Hindi
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    तालिबान के क़ब्ज़े से छुड़ाए गए कनाडाई नागरिक जोशुआ बोयल ने अपने देश पहुंचकर कहा है कि उनकी बेटी का क़त्ल कर दिया गया और उनकी पत्नी के साथ बलात्कार किया गया.

    पांच साल तालिबान की क़ैद में रहे जोशुआ बोयल ने पत्रकारों से बात करते हुए तालिबान के "पागलपन और बुराइयों" के बारे में बताया.

    तालिबान के चंगुल में फंसे परिवार को पाक सेना ने छुड़ाया

    साल 2012 में तालिबान समर्थक हक्कानी नेटवर्क ने अफ़ग़ानिस्तान आए जोशुआ और उनकी पत्नी का अपहरण कर लिया था.

    माना जा रहा था कि जोशुआ अपनी पत्नी के साथ अफ़ग़ानिस्तान घूमने गए थे. हालांकि जोशुआ और कोलमैन के माता-पिता उनके अफ़ग़ानिस्तान जाने को लेकर पहले से ही सवाल करते रहे हैं.

    कोलमैन के पिता जिम कोलमैन ने एबीसी न्यूज़ को बताया "एक ख़तरनाक देश जाने का जोशुआ का फ़ैसला समझदारी भरा नहीं था और वो साथ में अपनी गर्भवती पत्नी को भी ले कर गए थे, ये ठीक नहीं था."

    लेकिन कनाडा पहुंचकर जोशुआ ने पत्रकारों से कहा है कि जिस समय उन्हें अग़वा किया गया वो और उनकी पत्नी अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान के कब्ज़े वाले एक ऐसे इलाक़े में राहत सामग्री पहुंचा रहे थे, "जहां तक कोई एनजीओ, सरकार या राहतकर्मी नहीं पहुंच पाए थे."

    अपहरण किए जाने के वक़्त कोलमैन अपने पहले बच्चे से गर्भवती थीं.

    इस सप्ताह जब वो लौटी हैं तो उनके साथ उनके तीन बच्चे हैं जिनका जन्म क़ैद के दौरान हुआ है. सबसे छोटे बच्चे की सेहत ख़राब बताई जा रही है.

    जोशुआ बोयल
    REUTERS/Mark Blinch
    जोशुआ बोयल

    अपने बयान में जोशुआ बोयल ने इशारा किया है कि उनका एक चौथा बच्चा भी था, जो एक लड़की थी. इस बच्ची का अपहरणकर्ताओं ने क़त्ल कर दिया था. उन्होंने ये भी कहा है कि तालिबान समर्थक हक्कानी नेटवर्क के लड़ाकों ने उनकी पत्नी का बलात्कार भी किया.

    जोशुआ का कहना है, "हक्कानी नेटवर्क का हमें अगवा करना पागलपन भरा था... उन्होंने मेरी बेटी की हत्या भी की. उन्होंने मेरी पत्नी का बलात्कार किया और ये किसी अकेले सैनिक का काम नहीं था, सैनिकों का कप्तान भी इसमें शामिल था और कमान्डेंट भी वहीं था."

    पाकिस्तानी सेना ने अफ़गानिस्तान सीमा पर एक अभियान के दौरान कनाडा के जोशुआ, उनकी अमरीकी पत्नी कैटलन कोलमैन और उनके तीन बच्चों को छुड़ाया था.

    जोशुआ बोयल
    REUTERS/Mark Blinch
    जोशुआ बोयल

    शुरुआती रिपोर्टों के मुताबिक जोशुआ बोयल ने पाकिस्तान से बाहर जाने वाले अमरीकी सैन्य विमान में बैठने से मना किया था.

    कैटलन से पहले बोयल की शादी एक कट्टर मुसलमान महिला से हुई जो ग्वांतानामो बे में कैदी रह चुके, ओमर ख़द्र की बहन थीं. समाचार चैनल सीएनएन के अनुसार जोशुआ को डर था कि अमरीका में उन पर मुकदमा चलाया जा सकता है.

    हालांकि बोयल ने इन ख़बरों को सिरे से खारिज कर दिया है.

    जोशुआ का कहना है "वो अब बुरे दिनों को भूल जाना चाहते हैं" और अपने तीन बच्चों और पत्नी के साथ "एक सुरक्षित घर बनाना चाहते हैं". 

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    BBC Hindi
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Freed Canadian hostage says Taliban murdered his baby, raped wife

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    X