• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

चीन ने COVID-19 प्रेरित खराब अर्थव्यवस्था के लिए नहीं निर्धारित किया कोई जीडीपी लक्ष्य

|

बीजिंग। चीन ने शुक्रवार 22 मई को शुरू हुए संसद सत्र हुआ, लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है जब चीन ने अपना वार्षिक विकास लक्ष्य का कोई निर्धारित नहीं किया है और दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था को Covid-19 महामारी के प्रहार से सुरक्षा के तहत अधिक सरकारी खर्च का वादा किया है।

china

चीन के प्रधानमंत्री ली केकियांग ने एनपीसी को सौंपी रिपोर्ट में कहा, यह पहली बार है जब चीन द्वारा सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के लिए लक्ष्य निर्धारित नहीं किया गया है। मालूम हो, चीनी सरकार ने ऐसे लक्ष्यों को वर्ष 1990 से प्रकाशित करना शुरू किया था।

china

दक्षिणी चीन सागर पर चीन चाहता है अपना एकछत्र राज, विवादित सागर पर जबरन चला रहा है चीनी कानून

रिपोर्ट कहती है कि पहली तिमाही में चीनी अर्थव्यवस्था में 6.8 फीसदी सिकुड़ गई थी, जो पिछले एक दशक में पहला संकुचन था। चीनी अर्थव्यवस्था मध्य चीनी शहर वुहान में शुरू हुए नए कोरोनोवायरस के प्रकोप से प्रभावित हुआ था।

china

नेशनल पीपुल्स कांग्रेस के उद्घाटन पर ली ने कहा कि Covid​​-19 महामारी के कारण होने वाली "बड़ी अनिश्चितता" को देखते हुए बीजिंग रोजगार को स्थिर करने और जीवन स्तर को सुनिश्चित करने को पहले प्राथमिकता देगा। ली ने आगे कहा, हमने वर्ष के लिए आर्थिक वृद्धि के लिए कोई विशेष लक्ष्य निर्धारित नहीं किया है।

china

महामारी के बाद अब चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग के सामने बेरोजगारी सबसे बड़ी चुनौती

उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी की स्थिति और आर्थिक और व्यापार की स्थिति बहुत अनिश्चित है, क्योंकि चीन का विकास कुछ अप्रत्याशित कारकों का सामना कर रहा है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा आगे कहा कि चीनी अर्थव्यवस्था में घरेलू खपत, निवेश और निर्यात सब गिर रहे हैं और रोजगार पर दबाव काफी बढ़ रहा है जबकि वित्तीय जोखिम तेजी से बढ़ रहे हैं।

china

कोरोना वायरस को लेकर फिर चीन पर भड़के ट्रंप, बोले- महामारी को रोक सकता था बीजिंग

बीझिंग के मुताबिक चीन ने इस साल 90 लाख से अधिक शहरी रोजगार पैदा करने का लक्ष्य रखा है। ली की रिपोर्ट के अनुसार उक्त लक्ष्य वर्ष 2019 के 1.1 करोड़ लक्ष्य से कम और वर्ष 2013 के बाद से सबसे कम है। ली ने कहा कि COVID-19 महामारी ने विश्व अर्थव्यवस्था को मंदी में ढकेल दिया है, जो देश को सामना करना पड़ा है, इन कठिनाइयों और समस्याओं से बीझिंग पहले से ही अवगत था।

china

सीमा विवाद पर भारत को मिला अमेरिकी समर्थन, चीन ने US राजनयिक की टिप्पणी को बताया बकवास

बीजिंग के ग्रेट हॉल में मास्क पहने प्रतिनिधियों को ली ने कहा, हमने COVID -19 के जवाब में बड़ी रणनीतिक उपलब्धियां हासिल की हैं। वर्तमान में महामारी अभी तक समाप्त नहीं हुई है, जबकि विकास को बढ़ावा देने में हम जिन कार्यों का सामना कर रहे हैं, वे बहुत अधिक हैं। उन्होंने कहा कि चीन की सरकार को "वायरस से होने वाले नुकसान को कम करने के प्रयासों को दोगुना करना चाहिए।

कोरोना संकट ने अमेरिका को किया भारत के नजदीक, सीमा पर मुंहतोड़ जवाब से बौखलाया चीन

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
China's Prime Minister Li Keqiang said in a report submitted to the NPC, this is the first time that China has not set a target for gross domestic product (GDP). You know, the Chinese government started publishing such targets from the year 1990. The Chinese economy shrank 6.8 percent in the first quarter, the first contraction in the past decade. The Chinese economy was affected by the outbreak of new coronovirus that began in the central Chinese city of Wuhan.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more