• search
इंदौर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

शहीद की पत्नी को युवाओं ने गिफ्ट किया 10 लाख का मकान, हथेली पर पैर रख करवाया गृह प्रवेश, VIDEO

|

इंदौर। 'शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले, वतन पर मरने वालों का यही बाकी निशा होगा...।' एक कविता की ये पंक्तियां तो आपने कई बार सुनी होगी, लेकिन मध्य प्रदेश के इंदौर जिले के देपालपुर के पास के गांव पीरपीपलिया में ये पंक्तियां साकार हो उठीं।

हाथों तिरंगा लेकर पहुंचे 15 गांवों के युवा

हाथों तिरंगा लेकर पहुंचे 15 गांवों के युवा

स्वतंत्रता दिवस व रक्षाबंधन 2019 के दिन शहीद मोहनलाल सुनेर के घर जो देखने को मिला वह किसी मेले से कम नहीं लग रहा था। आसपास के 15 गांवों के युवाओं की टोली हाथों में तिरंगा लेकर देशभक्ति के गीत गाते हुए शहीद के घर राखी बंधवाने पहुंचे और अपना दिया वचन पूरा किया।

शहीद की प्रति​मा भी बनवाई

शहीद की प्रति​मा भी बनवाई

शहीद सुरेर सिंह की वीरांगना से युवाओं ने राखी बंधवाई और फिर उसे तोहफे में 10 लाख रुपए का मकान भेंट किया। साथ ही एक लाख रुपए एकत्रित कर शहीद की प्रतिमा भी बनवाई। खास बात यह रही कि शहीद वीरांगना राजूबाई को युवाओं ने अनूठे ढंग से गृह प्रवेश करवाया, जिसकी तस्वीरें व वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहे हैं। युवाओं ने जमीन पर हथेलियां रखी जिन पर पांव रखकर वीरांगना ने नए घर में प्रवेश किया।

कौन थे शहीद मोहनलाल सुनेर

कौन थे शहीद मोहनलाल सुनेर

वन चेक फॉर शहीद अभियान के संयोजक विशाल राठी ने बताया कि बेटमा के पास पीरपीपलिया निवासी मोहनलाल सुनेर दिसंबर 1992 में त्रिपुरा में उग्रवादियों से लड़ते हुए शहीद हो गए थे। तब उनके परिवार को सरकार से कोई मदद नहीं मिलने के कारण परिवार के सामने आर्थिक संकट पैदा हो गया था। सुनेर की पत्नी को अपने दो बेटों को पालना मुश्किल हो रहा था। ऐसे में शहीद परिजनों की मदद के लिए मोहन नारायण गिरी की प्रेरणा से वन चेक फॉर शहीद अभियान चलाया गया। अभियान के तहत जुटाए रुपयों से मकान व शहीद की प्रतिभा बनवाई गई।

शहीद का बेटा बीएसएफ में

सुनेर का बड़ा बेटा राजेश बीएसएफ में कार्यरत है। छोटा बेटा राकेश मां के साथ बेटमा में रहता है। पत्नी राजूबाई ने बताया कि पति सुनेर जब शहीद उस वक्त उनका बड़ा बेटा तीन साल का था। वे चार माह की गर्भवती थीं। पति की शहादत के बाद दोनों बच्चों को पालने के लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की और टूटे झोपड़े में रहते हुए मजदूरी कर बच्चों को बड़ा किया। राठी के मुताबिक मोहन सिंह की प्रतिमा भी लगभग तैयार है। इसे पीर पीपल्या मुख्य मार्ग पर लगाएंगे।

स्वतंत्रता दिवस से पहले NIA को बड़ी कामयाबी, इंदौर से पकड़ा खतरनाक आंतकवादी जहीरुल शेखस्वतंत्रता दिवस से पहले NIA को बड़ी कामयाबी, इंदौर से पकड़ा खतरनाक आंतकवादी जहीरुल शेख

English summary
Youth gifted new house to the wife of martyr soldier Mohanlal suner indore MP
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X