• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अब बेरोजगारों के मसीहा बने सोनू सूद, इन राज्यों के लोगों को फ्री में बांट रहे ई-रिक्शा

|

Sonu Sood Distribute E-Rickshaws: पिछले साल फरवरी में कोरोना महामारी देश में फैली और सरकार को मार्च के अंत में लॉकडाउन लागू करना पड़ा। इस दौरान बड़ी संख्या में मजदूर आर्थिक राजधानी मुंबई में फंस गए। फैक्ट्रियां बंद होने से दिहाड़ी मजदूरों के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया। साथ ही ट्रेन, बस बंद होने की वजह से वो अपने घर भी नहीं जा सकते थे। ऐसे में सोनू सूद गरीबों के मसीहा बनकर सामने आए और मजदूरों को घर भेजा। लॉकडाउन तो खत्म हो गया है, लेकिन अभी भी सोनू सूद कमजोर तबके की मदद करते रहते हैं।

    Sonu Sood: आत्मनिर्भर बनने के लिए जरूरतमंदों को Sonu Sood ने दिए E Rickshaw । वनइंडिया हिंदी
    मोगा में बांटे ई-रिक्शा

    मोगा में बांटे ई-रिक्शा

    लॉकडाउन के बाद से लोगों को रोजगार मिलने में दिक्कत आ रही है। ऐसे में सोनू सूद ने एक बड़ा फैसला लिया है। जिसके तहत वो देश के अलग-अलग हिस्सों में जरूरतमंद लोगों को इलेक्ट्ऱॉनिक रिक्शा वितरित करेंगे। इसकी शुरुआत उन्होंने अपने गृहनगर मोगा (पंजाब) से की और 100 ई-रिक्शे बांटे। सोनू का मकसद आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को ई-रिक्शे के जरिए रोजी-रोटी का जरिया देना का है।

    इन राज्यों में करेंगे पहल

    इन राज्यों में करेंगे पहल

    सोनू के मुताबिक को चाहते हैं कि लोग खाली ना बैठें। वो आत्मनिर्भर हों और उन्हें रोजगार मिले। इसके लिए सबसे पहले उन्होंने ई-रिक्शा बांटने का फैसला किया। मोगा के बाद उनकी योजना अब उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, ओडिशा समेत कई राज्यों में इस योजना को शुरू करने की है। सोनू के मुताबिक ई-रिक्शा रोजगार के लिए एक बेहतरीन जरिया है। कोई शख्स अगर ई-रिक्शा चलाता है, तो वो आराम से घर का खर्च चला लेगा। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि अगर आपके पास पैसा है, तो उसे किसी फालतू चीज में बर्बाद ना करें, बल्कि उससे किसी जरूरतमंद की मदद कर दें।

    इंदौर के बुजुर्गों की मदद

    इंदौर के बुजुर्गों की मदद

    इंदौर नगर निगम ने हाल ही में भिखारियों से शहर को मुक्त कराने का अभियान चलाया था। इसके लिए उन्होंने सभी बुजुर्ग भिखारियों को ट्रक में जानवरों की तरह भर दिया, जिसका वीडियो तेजी से वायरल हुआ। इस पर सोनू सूद ने दुख जाहिर किया था। उन्होंने खुद उन बुजुर्गों की मदद करने का फैसला लिया। साथ ही इंदौर के लोगों से अपील करते हुए कहा कि मैं इन बुजुर्गों को छत दिलाने की कोशिश करूंगा। इसके अलावा उनके खाने-पीने का भी प्रबंध होगा, लेकिन ये सब इंदौरवासियों के बिना मुश्किल है। ऐसे में सक्षम लोग इसमें मदद करें।

    सोनू सूद से लगाई थी बंदर पकड़ने की गुहार, एक्टर ने Video शेयर कर कहा- 'लो पकड़ लिया, अब बोलो'

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Sonu Sood Distribute E-Rickshaws Uttar Pradesh, Bihar, Jharkhand, Odisha
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X