• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

गजब: सेना के जवानों के लिए जल्दी पहुंचानी थी ट्रेन, रेलवे ने फूल स्पीड में दौड़ा दी राजधानी एक्सप्रेस

|

Indian Railway Latest News: देश की लाइफलाइन कही जाने वाली भारतीय रेल सेना के लिए भी काफी अहम है। कई बार जब जवानों की संख्या ज्यादा रहती है, तो सैन्य वाहनों की जगह ट्रेनों का इस्तेमाल मूवमेंट के लिए किया जाता है। जिस वजह से भारतीय सेना (Indian Army) भी देश की शान कहे जाने वाले जवानों का पूरा ध्यान रखती है। इससे जुड़ा एक वाक्या झारखंड से सामने आया है, जहां रेलवे ने जवानों के लिए अधिकतम गति से राजधानी (Rajdhani Express) को दौड़ा दिया।

    Indian Railway: जब Army के लिए Rajdhani Express Full Speed में दौड़ी, तो फिर हुआ ये | वनइंडिया हिंदी
    जवानों के लिए रांची आना था मुश्किल

    जवानों के लिए रांची आना था मुश्किल

    दरअसल रामगढ़ से 100 जवानों को दिल्ली जाना था। रामगढ़ से रांची की दूरी काफी ज्यादा है, ऐसे में वहां पर आकर फिर ट्रेन पकड़ना काफी मुश्किल था। ऊपर से जवानों के साथ सामान भी ज्यादा रहता है। जब सेना के अधिकारियों ने राजधानी ट्रेन का रूट देखा तो उनको बरकाकाना स्टेशन पास लगा, लेकिन वहां से भी जवानों की मूवमेंट मुश्किल थी। इसका कारण राजधानी का वहां पर सिर्फ 5 मिनट रुकना था। 5 मिनट में 100 जवान अपने सामान के साथ ट्रेन में नहीं चढ़ सकते थे। इसके लिए उन्होंने रांची रेल डिविजन से संपर्क किया और उनको अपनी समस्या बताई।

    रेलवे ने बनाया ये प्लान

    रेलवे ने बनाया ये प्लान

    मामला सेना से जुड़ा था इसलिए बरकाकाना में ट्रेन को ज्यादा देर तक रोकना जरूरी था, लेकिन अगर 5 मिनट से ज्यादा राजधानी रुकती तो रेलवे के ऑपरेशन में दिक्कत होती। इस पर रेलवे अधिकारियों के मन में ख्याला आया कि वो ट्रेन को तो ज्यादा देर नहीं रोक सकते, लेकिन उसे जल्दी पहुंचा सकते हैं। उन्होंने प्लान बनाया कि राजधानी ट्रेन की स्पीड को बढ़ाया जाए और उसे 10 मिनट पहले बरकाकाना स्टेशन पर पहुंचा दिया जाए, ताकी जवान आसानी से चढ़ सकें।

    लोको इंस्पेक्टर किया गया तैनात

    लोको इंस्पेक्टर किया गया तैनात

    इसके बाद रेलवे ने रविवार को राजधानी को मैक्सिमम स्पीड पर चलाया। उसके बरकाकाना पहुंचने का टाइम 7.25 बजे था, लेकिन रेलवे ने अपनी काबिलियत की बदौलत ट्रेन को 17 मिनट पहले 7.08 बजे ही पहुंचा दिया। इसके बाद जवान आसानी से अपने सामान के साथ ट्रेन में चढ़े। फिर ट्रेन अपने निर्धारित वक्त पर वहां से रवाना हो गई। मैक्सिमम स्पीड के दौरान लोको पायलट को कोई दिक्कत ना हो, इसके लिए एक लोको इंस्पेक्टर को भी तैनात किया गया था।

     ये थी ट्रेन की स्पीड

    ये थी ट्रेन की स्पीड

    रेलवे अधिकारियों के मुताबिक रविवार को राजधानी 110 किलोमीटर की रफ्तार से 90 किलोमीटर तक चली, ये उसकी मैक्सिमम स्पीड कही जाती है। इस वाक्ये पर रेलवे ने ट्वीट कर लिखा कि भारतीय रेल ने सेना के अनुरोध पर राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन को अपनी अधिकतम गति से चला कर 17 मिनट पहले पहुंचाया, जिससे जवानों और उनके सामान को चढ़ाने के लिए अतिरिक्त समय मिल सके। हम अपने सैन्य बलों की आवश्यकताओं को समझते हैं और उनको पूरा करने के लिए हमेशा प्रतिबद्ध हैं।

    (तस्वीरें-प्रतीकात्मक)

    बुलेट ट्रेन: फाइनेंशियल बिड खुली, 4 कंपनियां बाहर, परियोजना में लागू होगा जॉइंट सिटी कनेक्टिविटी सिस्टमबुलेट ट्रेन: फाइनेंशियल बिड खुली, 4 कंपनियां बाहर, परियोजना में लागू होगा जॉइंट सिटी कनेक्टिविटी सिस्टम

    English summary
    railway rajdhani express train at full speed for army
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X