लंबी दाढ़ी रखने वाले शख्स को एयर फोर्स से निकाला जाना ठीक: SC

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने लंबी दाढ़ी की वजह से एक मुस्लिम युवक को वायुसेना से निकाले जाने के फैसले को सही करार दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सेना में अनुशासन और एकरुपता सुनिश्चित करने के लिहाज से ये जरूरी है।

SC

वायुसेना में रहते हुए दाढ़ी रखने की मुस्लिम युवक की अपील पर अहम फैसला देते हुए चीफ जस्टिस टी एस ठाकुर की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने आज कहा कि किसी व्यक्ति के धार्मिक अधिकारों में हस्तक्षेप नहीं होना चाहिए लेकिन सेना में अनुशासन से ऊपर कुछ नहीं है। उच्चतम न्यायालय ने कहा है कि वायुसेना स्टाफ का कोई शख्स जब तक सर्विस में हैं, दाढ़ी नहीं बढ़ा सकता है।

बुलंदशहर गैंगरेप केस: आजम खान का SC में माफीनामा मंजूर

सुप्रीम कोर्ट ने आठ साल पुराने मामले में ये फैसला सुनाया है। 2008 में ड्यूटी पर रहते हुए दाढ़ी बढ़ाने के कारण आफताब अहमद को इंडियन एयरफोर्स से निकाल दिया गया था। जिसको लेकर आफताब ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।

दारुल उलूम ने जारी किया फतवा- नकली दाढ़ी और विग पहनकर न अदा करें नमाज

आफताब ने मांगा था सिक्खों की तरह दाढ़ी रखने का हक

आफताब अहमद ने पहले कर्नाटक हाई कोर्ट में अपील की और फिर इसके बाद सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। आफताब ने अपनी अपील में सिक्खों की तरह उसे भी दाढ़ी रखने का अधिकार दिए जाने की मांग की थी। जिसे सुप्रीम कोर्ट ने नकार दिया है।

सुप्रीम कोर्ट का आदेश, हाईवे से 500 मीटर तक नहीं होंगी शराब की दुकानें

वायुसेना ने कोर्ट में अपना पक्ष रखते हुए कहा कि सभी मुसलमान दाढ़ी नहीं रखते और इस्लाम में दाढ़ी वैक्लपिक है ना कि जरूरी। इसलिए वायुसेना दाढ़ी बढ़ाने की इजाजत नहीं देती है। कोर्ट ने वायुसेना के पक्ष में फैसला दिया।

हाईवे पर शराब की दुकानों से जुड़े सुप्रीम कोर्ट के आदेश की 8 मुख्य बातें

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
muslim man can not keep long beard in air force
Please Wait while comments are loading...