आरुषि-हेमराज हत्याकांड: बेटी की हत्या से बरी होने के बाद जेल में कैसे बीती तलवार दंपत्ति की आखिरी रात

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi
Aarushi Murder Case: How Talwars spent their last night in jail | वनइंडिया हिंदी

नई दिल्ली। अपनी बेटी आरुषि की हत्या के आरोप से बरी होने के बाद आखिरकार आज तलवार दंपति गाजियाबाद की डासना जेल से बाहर आएंगे। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने गुरुवार को तलवार दंपति को आरूषि की हत्या के आरोप से बरी कर दिया था। तलवार दंपत्ति  पिछले तीन साल दस महीने से जेल की सलाखों के पीछे थे, दोनों को सीबीआई की विशेष अदालत ने दोषी करार देते हुए उन्हें उम्रकैद की सजा सुनाई थी, जिसे इलाहाबाद हाई कोर्ट ने पलट दिया और दोनों को इस आरोप से बरी कर दिया। हालांकि डासना जेल में अभी तक कोर्ट के फैसले की कॉपी नहीं पहुंची है, जिसके चलते तलवार  दंपति की रिहाई की प्रक्रिया अभी तक शुरू नहीं हो सकी है। लेकिन माना  जा रहा है कि आज कभी भी यह फैसला जेल पहुंच सकता है और इसके बाद दोनों को रिहा  कर दिया जाएगा। 

आज आएंगे जेल से बाहर

आज आएंगे जेल से बाहर

तलवार दंपत्ति के जेल से रिहा होने का उनके परिजन बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं, परिवार के लोग उन्हें जेल से लाने के लिए पहुंचेंगे। कोर्ट ने जब तलवार दंपत्ति को रिहा करने का फैसला सुनाया तो दंपत्ति भावुक हो गए, जेल के भीतर उनका आखिरी दिन भी काफी अच्छा बीता और दोनों ही अच्छे मूड में दिखे। दोनों ने जेल में आखिरी दिन शाम को सात बजे खाना खाया। आखिरी रात को जेल जाने से पहले दोनों ने रूटीन मेडिकल चेकअप कराया, जिसमें दोनों स्वस्थ्य पाए गए।

बेटी के हत्यारों की करेंगी तलाश

बेटी के हत्यारों की करेंगी तलाश

जेल के भीतर महिला कांस्टेबल ने बताया कि जेल के भीतर आखिरी शाम को नूपुर तलवार ने अालू की सब्जी खाई और आज सुबह उन्होंने दलिया खाई व चाय पिया। नूपुर तलवार ने एक महिला कॉस्टेबल से जेल के भीतर कहा कि वह जेल से बाहर जाने के बाद अपनी बेटी आरुषि के हत्यारों को तलाशेंगी। उन्होंने महिला कॉस्टेबल को गले लगाया और उनका शुक्रिया अदा करते हुए भावुक हो गई। जेल के भीतर आखिरी दिन नूपुर काफी भावुक थीं।

फैसले से पहले कुछ नहीं खाया

फैसले से पहले कुछ नहीं खाया

जेल के भीतर आखिरी रात में तलवार दंपति तकरीबन 8.30 बजे सोने के लिए चले गए। जेल के भीतर सूत्रों की मानें तो दंपत्ति देर रात तक सो नहीं सके। वहीं कोर्ट के फैसले से पहले दोनो पति पत्नी काफी तनाव में थे और वह लगातार गुरुबाणी का पाठ कर रहे हैं। राजेश तलवार अपने क्लीनिक में बैठे रहे, यही नहीं दोनों ने सुबह से गुमसुम बैठे थे और दोनों ने सुबह कुछ भी नहीं खाया। लेकिन जब कोर्ट ने फैसला सुनाया तो तलवार दंपति काफी खुश दिखे।

जेल के भीतर टीवी पर देखा था फैसला

जेल के भीतर टीवी पर देखा था फैसला

आपको बता दें कि नूपुर तलवार और राजेश तलवार डासना की जेल में अलग-अलग बंद हैं। दोनों की सेल में टीवी लगा है, यहीं पर दोनों ने अपनी रिहाई की खबर टीवी पर देखी थी, जिसके बाद दोनों की आंख में आंसू आ गए थे। राजेश और नूपुर तलवार डासना जेल में अलग-अलग सेल में बंद हैं। दोनों की सेल में टीवी लगा है उसी टीवी पर दोनों ने गुरुवार को अपनी रिहाई के फैसले की खबर देखी और दोनों की आंखों में आंसू आ गये और तीन साल दस महीने बाद आज आरुषि के मम्मी-पापा को जेल से बाहर की हवा नसीब होगी।

इसे भी पढ़ें- Aarushi Hemraj Murder Case LIVE: बेटी की हत्या से बरी होने के बाद आज जेल से रिहा होंगे तलवार दंपत्ति

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Aarushi-Hemraj Murder Case - After getting acquitted of the murder of his daughter Aarushi, the Talwars will finally come out of Dasna prison in Ghaziabad.
Please Wait while comments are loading...