• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कांवड़ यात्रा के चलते 5 दिन बंद रहेंगे गाजियाबाद के स्कूल-कॉलेज

|
Google Oneindia News

गाजियाबाद: सावन के महीने में होने वाली कांवड़ यात्रा के चलते उत्तरप्रदेश के गाजियाबाद में अगले 5 दिन के लिए सभी स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए हैं। जिला प्रशासन की तरफ से भेजे आदेश में कहा गया है कि 26 जुलाई से 30 जुलाई तक जनपद के सभी स्कूल और कॉलेज बंद रहेंगे। जिला प्रशासन के मुताबिक इन दिनों में कांवड़ियों की अत्यधिक संख्या को देखते हुए ये निर्देश दिए गए हैं।

गाजियाबाद के स्कूल 5 दिन रहेंगे बंद

गाजियाबाद के स्कूल 5 दिन रहेंगे बंद

जिला प्रशासन के मुताबिक कांवड़ के चलते जनपद के सभी प्राथमिक विद्यालय, माध्यमिक विद्यालय, सीबीएसई बोर्ड, आईसीएसई बोर्ड से मान्यता प्राप्त विद्यालय, डिग्री, इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट और मेडिकल शिक्षण संस्थान तथा अन्य शिक्षण संस्थान 26 जुलाई से 30 जुलाई तक बंद रहने का आदेश है। गौरतलब है कि 30 जुलाई को शिवरात्रि का महापर्व है।

एहतियात के तौर पर लिया फैसला

एहतियात के तौर पर लिया फैसला

30 जुलाई को शिवरात्रि होने की वजह से गाजियाबाद के रास्ते कांवड़ियों की भीड़ काफी ज्यादा बढ़ जाती है। ऐसे में एहतियात के तौर पर जिला प्रशासन ने 5 दिन के लिए स्कूल और कॉलेज बंद रखने का फैसला लिया है। गौरतलब है कि हर साल सावन के महीने में कांवड़ यात्रा में भीड़ से होने वाली परेशानी से बचने के लिए प्रशासन एहतियात के तौर पर इस तरह के कदम उठाता है।

मेरठ में आज सें बंद स्कूल-कॉलेज

मेरठ में आज सें बंद स्कूल-कॉलेज

वहीं मेरठ के जिला प्रशासन ने भी 25 जुलाई से 30 अगस्त तक स्कूल बंद रखने का फैसला लिया है। मेरठ में इस दौरान सभी शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे। मेरठ में कांवड़ियों की भारी भीड़ को देखते हुए फैसला लिया गया है। इस दौरान गंगा जल लेने के लिए कांवड़िए उत्तराखंड के हरिद्वार जाते हैं। इस दौरान कई सड़क मार्ग बंद रहेंगे। बच्चों की सुरक्षा और कानून -व्यवस्था को बनाए रखने के लिए ये फैसला लिया गया है।

शिव के भक्तों का वार्षिक तीर्थ कांवड़

शिव के भक्तों का वार्षिक तीर्थ कांवड़

गौरतलब है कि कांवड़ यात्रा शिव के भक्तों के लिए वार्षिक तीर्थ है। कांवड़िए उत्तराखंड के हरिद्वार, गौमुख और गंगोत्री गंगा जल लाने के लिए जाते हैं। बिहार के सुल्तानगंज में भी कांवड़िए पवित्र गंगा जल को लाने के लिए जाते हैं। यह यात्रा काफी कठिन होती है क्योंकि इस दौरान जो गंगा जल होता है उसे जमीन पर नहीं रखना होता है। इसके अलावा खान-पान और बहुत छोटी-छोटी चीजों का ध्यान रखना पड़ता है।

17 जुलाई से शुरू हुई है कांवड़ यात्रा

17 जुलाई से शुरू हुई है कांवड़ यात्रा

सावन का महीना शुरू होने के बाद 17 जुलाई से कांवड़ यात्रा शुरू हो गई है जो कि 15 अगस्त तक चलेगी। इस यात्रा में कांवड़िये गंगा नदी से जल लेकर आते हैं और देश भर के अलग-अलग शिव मंदिरों में इसे चढ़ाते हैं। सावन के महीने में कांवड़ियों की सबसे ज्यादा भीड़ बनारस और में देखने को मिलता है। इसके अलावा बिहार के बैजनाथ धाम भी जल चढ़ाने के लिए कांवड़ियों की भीड़ लगी रहती है।

 पढ़ें- साध्वी प्राची का विवादित बयान, मुस्लिमों द्वारा बनाई कांवड़ न खरीदें कांवड़िए,भाला लेकर चलें साथ पढ़ें- साध्वी प्राची का विवादित बयान, मुस्लिमों द्वारा बनाई कांवड़ न खरीदें कांवड़िए,भाला लेकर चलें साथ

Comments
English summary
Kanwar Yatra: Schools colleges to remain closed from July 25 to 30 in Ghaziabad
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X