इसरो का यह अभियान ला देगा बड़ी क्रांति, चुनिंदा देशों में होगा शुमार

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। इसरो अपने नए और अनोखे आविष्कारों की वजह से अक्सर सुर्खियों में रहता है। लेकिन इस बार इसरो कुछ ऐसा करने जा रहा है जिसे दुनिया के कुछ गिने चुने देश ही करने की सोच सकते हैं। इसरो कुछ ऐसे उपग्रह बना के तैयार करने जा रहा है जिनसे पृथ्वी की तमाम वस्तुओं में अंतरिक्ष से ही देखकर उनमें भेद किया जा सकता है।

तैयारी में जुटा है इसरो

तैयारी में जुटा है इसरो

भारतीय स्पेस रिसर्च आर्गेनाईजेशन (इसरो) ने बताया है कि वह विशिष्ट प्रकार के अर्थ ऑब्जरवेशन सेटेलाईट (ईओ) बनाने की तयारियों में लगा हुआ है। इन उपग्रहों को हाइपरस्पेक्ट्रल इमेजिंग सेटेलाईट या फिर हिस्पेक्स भी कहते हैं। इन्हें एक विशेष चिप की मदद से तैयार किया जाता है। इसरो के प्रवक्ता ने कहा है कि यह चिप जिसको तकनीकी भाषा में 'ऑप्टिकल इमेजिंग डिटेक्टर ऐरे' कहते हैं, को बनाने के लिए ज़रूरी प्रशिक्षण चल रहे हैं लेकिन वह कब तक तैयार हो पाएगी यह बता पाना मुश्किल है।

 आसान हो जाएगा चप्पे चप्पे पर नजर रखना

आसान हो जाएगा चप्पे चप्पे पर नजर रखना

उन्होंने आगे बताया की इसरो के सामने इन उपग्रहों को बना पाना एक बड़ी चुनौती होगी क्योंकि इस तरह के उपग्रह पृथ्वी से लगभग 630 किलोमीटर की दूरी से भी यहां मौजूद वस्तुओं के 55 विभिन्न रंगों की आसानी से पहचान कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि इसरो ने इसमें इस्तेमाल होने वाले सारे ज़रूरी उपकरणों को इकठा कर लिया है।

 कृषि क्षेत्र व सेना को मिलेगा लाभ

कृषि क्षेत्र व सेना को मिलेगा लाभ

हाइपरस्पेक्ट्रल इमेजिंग के क्षेत्र में विश्व भर में परीक्षण किए जा रहे हैं। इन उपग्रहों से पृथ्वी के दैनिक इस्तेमाल में आने वाले विभिन्न कार्यों को बेहतर अंजाम दिया जा सकता है। इससे पर्यावरण का सर्वेक्षण, फसलों के लिए उपयोगी जमीन का आकलन, तेल और खनिज पदार्थो की खानों की खोज और तो और भारत की सीमाओं की निगरानी भी आसानी से की जा सकती है।

 सुरक्षा के लिए काफी अहम

सुरक्षा के लिए काफी अहम

हिस्पेक्स टेक्नोलॉजी से अंतरिक्ष में स्थित उपग्रह द्वारा पृथ्वी के विभिन्न पदार्थों की पहचान आसानी से की जा सकती है। करीब 10 साल पहले इसरो ने माइक्रोवेव और राडार इमेजिंग सेटेलाईट रीसेट-1 और 2 को बनाया था जिनसे घने बादलों में भी पृथ्वी की निगरानी की सकती है जो भारत की सुरक्षा के लिए बहुत कारगर साबित हुआ है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
ISRO to develop full-fledged earth observation satellite. It can distinguish more than 50 colors on earth from the space.
Please Wait while comments are loading...