भारतीय सेना ने चीनी सीमा पर तैनात किए और अधिक सैनिक, 1962 के बाद पहली बार हो रहा है ऐसा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है। सिक्किम से सटी चीन की सीमा पर भारत और चीन के बीच काफी समय से तनाव चल रहा है। इसी बीच भारत ने डोका ला इलाके में और अधिक सैनिकों की तैनाती की है। यहां यह जानना काफी अहम है कि 1962 के बाद ऐसा पहली बार हो रहा है, जब किसी इलाके को लेकर भारत और चीन के बीच इतना लंबा गतिरोध बना हुआ है।

भारतीय सेना ने चीनी सीमा पर तैनात किए और अधिक सैनिक, 1962 के बाद पहली बार हो रहा है ऐसा

पिछले लगभग महीने भर से डोका ला इलाके में दोनों देशों के सैनिक आमने-सामने हैं। भारत की तरफ से इस इलाके में और अधिक सैनिकों को तैनात किया गया है। हालांकि, इन सैनिकों को नॉन-कॉम्बैटिव मोड में तैनात किया गया है। आपको बता दें कि नॉन कॉम्बैटिव मोड को गैर लड़ाकू स्थिति भी कहते हैं, जिसमें सैनिक अपनी बंदूकों की नाल को जमीन की ओर रखते हैं।

ये भी पढ़ें- चीन को लगा करारा झटका, दूसरे सबसे बड़े रॉकेट का लॉन्च हुआ असफल

बताया जा रहा है कि भारत ने और अधिक सैनिकों को भेजने का फैसला तब किया है, जब चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी द्वारा भारतीय सेना के 2 बंकरों को नष्ट कर दिया गया है। 1 जून को पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने भारत से डोका ला में 2012 से बने अपने दो बंकरों को हटाने के लिए कहा। आपको बताते चलें कि डोका ला भारत, भूटान और तिब्बत से सटने वाली चुम्बी घाटी के पास में है।

ये भी पढ़ें- नासा ने जारी की बृहस्पति ग्रह की चौंकाने वाली तस्वीर

डोका ला इलाके में भारत की सेना कई सालों से गश्त कर रही है। 2012 में सेना ने यहां पर दो बंकर बनाने का फैसला किया था। 1 जून को चीन की सेना की तरफ से इन बंकरों को हटाने की चेतावनी दिए जाने के बाद 6 जून की रात को चीन के 2 बुल्डोजरों ने इन बंकरों को नष्ट कर दिया। चीन का दावा है कि वह उनका इलाका है, जिस पर भारत या भूटान का कोई हक नहीं है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
India Pushes More Troops In Doka La, Longest Impasse Since 1962
Please Wait while comments are loading...