• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जेबरा को गधे से हुआ प्यार तो पैदा हुआ अद्भुत 'बच्चा','जॉन्की', देखें कुदरत का ये करिश्‍मा

|

बेंगलुरु। दुनिया जहां कोरोना से जूझ रही हैं वहीं एक ऐसी खबर सामने आई जिसने सबको चौंका दिया। यह कुदरत का एक करिश्मा ही हैं ये सच हैं कि भगवान और उनके चमत्कार को समझना नामुमकिन ही है। ऐसा ही कुछ चमत्कार पिछले दिनों हुआ जिसे अब तक किसी ने कभी देखा ही नहीं था।

जेब्रा और डॉन्‍की के मेल से पैदा हुआ 'जॉन्की'

जेब्रा और डॉन्‍की के मेल से पैदा हुआ 'जॉन्की'

दरअसल, एक ऐसा ही चमत्कार पूर्वी अफ्रीका के केन्या में स्थित त्सावो नेशनल पार्क में दिखा है, जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही हैं। यहां जेब्रा और गधे के मेल से एक अद्भुत 'बच्चा' पैदा हुआ है, जिसका नाम 'जॉन्की' रखा गया हैं। यानी जेब्रा और डॉन्‍की का बच्‍चा। यह जेब्रा और गधे का मिलाजुला रूप है। सोशल मीडिया पर जो तस्‍वीर वायरल हो रही उसमें जेबरा और उसके साथ घूम रहे बच्चे की है। इस तस्वीर में जेबरा के बच्चे के सिर्फ पैरों पर ही स्ट्राइप्स हैं। जबकि उसकी शक्ल और बाकी कद काठी डॉन्की यानी गधे जैसी है। जेबरा के बच्चे की शक्ल गधे जैसी है।

फेसबुक पर पोस्‍ट की 'जॉन्की' की तस्वीरें

शेल्ड्रिक वाइल्डलाइफ ट्रस्ट ने अपने फेसबुक पेज पर 'जॉन्की' की तस्वीरें शेयर की हैं और उसके बारे में बताया है। इन तस्वीरों में दिख रहे इस छोटे से 'जॉन्की' को मादा जेब्रा ने पैदा किया है। आप देख सकते हैं कि बच्चे के सिर्फ पैरों पर जेब्रा की तरह धारियां हैं जबकि बाकी का शरीर बिल्कुल किसी गधे की तरह है।

ऐसे हुआ जेब्रा और डॉन्‍की के बीच में प्‍यार

ऐसे हुआ जेब्रा और डॉन्‍की के बीच में प्‍यार

शेल्ड्रिक वाइल्डलाइफ ट्रस्ट ने लिखा है, 'यह 'जॉन्की' है। तस्वीर को शेयर करते हुए ट्रस्ट ने लिखा, 'यह एक जॉन्की (Zonkey) है, जो जेबरा और डॉन्‍की की हायब्रिड है। पिछले साल मई में शावो मोबाइल वेटनरी यूनिट को केडब्ल्यूएस कम्युनिटी वॉडर्न की ओर से फोन आया था कि वहां से एक मादा जेबरा कम्युनिटी बोर्डिंग पार्क में चला गया है। उन्होंने देखा तो यहां मादा जेबरा स्थानीय महिला के मवेशियों के झुंड में रहने लगी और इसे ही अपना घर समझने लगी. हफ्तों तक जेबरा वहीं रही.'वहां एक जेब्रा जो त्सावो नेशनल पार्क से बाहर निकल आया था और पार्क की सीमा से लगे एक समुदाय में रह रहा था और इसे ही अपना घर समझने लगी। हफ्तों तक जेबरा वहीं रही। 'उसने मवेशियों के झुंड के साथ ही अपना घर बना लिया था।

मादा जेबरा उसे ही अपना घर समझने लगी

मादा जेबरा उसे ही अपना घर समझने लगी

ट्रस्ट ने कहा, 'फिर कुछ समय बाद स्थानीय मीडिया में कुदरत की अनोखे करिश्‍में को प्रकाशित किया। इसके बाद ट्रस्ट की टीम ने जेबरा को संरक्षित क्षेत्र में पहुंचाया। हालांकि, तब तक मादा जेबरा उसे ही अपना घर समझने लगी और इस वजह से टीम ने इस बात का ख्याल रखते हुए उसके लिए ऐसा ही एक सुरक्षित स्थान ढूंढा। उन्होंने कहा, 'हमने जेबरा को च्यूलू नेशनल पार्क के केन्जे एंटी पोचिंग टीम बेस छोड़ दिया ताकि उस पर नजर भी रखी जा सके।

पहले लगा मिट्टी लगने की वजह से जेब्रा के बच्‍चे की धारियां नहीं दिख रही

पहले लगा मिट्टी लगने की वजह से जेब्रा के बच्‍चे की धारियां नहीं दिख रही

इसी साल की शुरुआत में हमने जेब्रा के एक बच्चे को देखा, जो गधा और जेब्रा का मिश्रित रूप लग रहा था। पहले तो हमें लगा कि शायद कीचड़ और मिट्टी लगने की वजह से जेब्रा के बच्‍चे की धारियां नहीं दिख रही हैं, लेकिन बाद में पास जाकर देखा तो हमें पता चला कि यह तो अनोखा है। कुदरत के इस अद्भुत करिश्‍में को हमने 'जॉन्की' नाम दिया। यह जेबरा और डॉन्की का हायब्रिड है. सोशल मीडिया पर यह तस्वीर खूब शेयर की जा रही है।

जानिए, दुनिया भर में लॉकडाउन से धरती को क्या हो रहा बड़ा फायदा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
For the first time in the world, an amazing 'baby' born of zebra and donkey combination, pictures viral
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X