• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

फर्जी TRP केसः रिपब्लिक टीवी ने मुंबई पुलिस से जांच स्थगित करने का अनुरोध किया, जानिए क्यों?

|

नई दिल्ली। रिपब्लिक टीवी के मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) शिवा सुंदरम ने मुंबई पुलिस को लिखे एक पत्र में कथित फर्जी टीआरपी रेटिंग घोटाले में मुंबई पुलिस से सुप्रीम कोर्ट याचिका का हवाला लेकर जांच आगे नहीं बढ़ाने का अनुरोध किया है। हालांकि सीएफओ सुंदर ने पत्र में कहा है कि वो 14-15 अक्टूबर को जांच में शामिल होने के लिए पुलिस कार्यालय में उपलब्ध होंगे।

arnab

नॉर्थ कोरिया में विदेशी टीवी शो देखने की सजा सुन रूह कांप जाएगी, पूर्व कैदी ने किया खुलासा

FSO सुंदरम ने कहा, मैं उक्त जांच में सहयोग करने के लिए प्रतिबद्ध हूं

FSO सुंदरम ने कहा, मैं उक्त जांच में सहयोग करने के लिए प्रतिबद्ध हूं

बकौल FSO शिवा सुंदरम, मैं आपके द्वारा गत 9 अक्टूबर, 2020 को जारी किए गए उपरोक्त समन का उल्लेख करता हूं, जिसमें प्रथम सूचना रिपोर्ट में जांच के उद्देश्य से मुझे 10 अक्टूबर, 2020 को रात 11 बजे आपके कार्यालय में उपस्थित रहने के लिए कहा गया है। मुंबई पुलिस को लिखे पत्र में सुंदरम ने कहा कि मैं उक्त जांच में सहयोग करने के लिए प्रतिबद्ध हूं। पत्र में सुप्रीम कोर्ट के समक्ष दायर याचिका की सुनवाई तक मुंबई पुलिस को जांच रोकने का अनुरोध किया गया है।

अनुच्छेद 32 के तहत एक रिट याचिका SC में समक्ष दायर की गई हैः FSO

अनुच्छेद 32 के तहत एक रिट याचिका SC में समक्ष दायर की गई हैः FSO

पत्र में आगे कहा गया है, "मैं आपके ध्यान में लाना चाहता हूं कि अनुच्छेद 32 के तहत एक रिट याचिका भारत सरकार के माननीय सर्वोच्च न्यायालय (उपर्युक्त मामले के संबंध में अनंतिम आवेदन संख्या 7848/2020) के समक्ष दायर की गई है और हमने जल्द सुनवाई के लिए अनुरोध किया है और इसके अगले सप्ताह तक सूचीबद्ध होने की संभावना है। यह देखते हुए कि इस मामले को माननीय सर्वोच्च न्यायालय के समक्ष जल्द ही सूचीबद्ध किया जाना है, मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि रिपब्लिक टीवी और उसके कर्मचारी की चिंता देखते हुए मुंबई पुलिस को तब तक मामले की जांच को निलंबति करना चाहिए और हम भारत के माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों के अधीन जांच में शामिल होंगे।

संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध शाखा) ने पत्र प्राप्त होने की पुष्टि की

संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध शाखा) ने पत्र प्राप्त होने की पुष्टि की

पत्र में आगे लिखा गया है, "मैं आपको यह भी बताना चाहूंगा कि कुछ व्यक्तिगत प्रतिबद्धताओं के कारण मैं अगले कुछ दिनों के लिए मुंबई से बाहर यात्रा करने वाला हूं और तदनुसार केवल 14-15 अक्टूबर, 2020 तक मुंबई में उपलब्ध होगा। संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध शाखा) मिलिंद भारामबे ने पत्र प्राप्त होने की पुष्टि की। साथ ही, भारम्बे ने बताया कि रिपब्लिक टीवी के सीएफओ एस सुंदरम ने पुलिस को गत 9 अक्टूबर को जारी समन को फिर से जारी करने के लिए एक पत्र दिया था।

BARC कंप्लेन पर मुंबई पुलिस ने कथित फर्जी TRP रैकेट का भंडाफोड़ किया

BARC कंप्लेन पर मुंबई पुलिस ने कथित फर्जी TRP रैकेट का भंडाफोड़ किया

इस बीच, मैडिसन वर्ल्ड के संस्थापक और प्रबंध निदेशक सैम बलसारा जांच की सहायता के लिए मुंबई पुलिस मुख्यालय पहुंच गए हैं। कथित तौर पर फर्जी टीआरपी का मामला दर्ज होने के बाद मुंबई पुलिस ने टीवी दर्शकों की मापक एजेंसी ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (BARC) की शिकायत के बाद एक TRP हेरफेर रैकेट का भंडाफोड़ किया। पुलिस ने कहा कि रिपब्लिक टीवी और दो अन्य स्थानीय मुंबई चैनल महत्वपूर्ण डेटा में हेरफेर करने में शामिल थे, जो इंगित करता है कि कौन से टीवी कार्यक्रम सबसे अधिक देखे जाते हैं। आमतौर पर यही डेटा विज्ञापनदाताओं द्वारा विज्ञापन खर्च से संबंधित फैसलों के लिए उपयोग किया जाता है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In a letter to the Mumbai Police, Chief Financial Officer (CFO) of Republic TV, Shiva Sundaram, has requested the Mumbai Police not to pursue an investigation in the alleged fake TRP rating scam, citing a Supreme Court petition. However, CFO Sundar has said in the letter that he will be available at the police office to join the investigation on October 14-15.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X